Top 5 Varanasi News Of The Day 22 September 2020 : दो पक्षों में मारपीट में वृद्ध की मौत, संस्कृत विश्वविद्यालय में दिखी चहल-पहल, बाढ़ के बाद संक्रामक रोगों का प्रसार

बनारस शहर की कई खबरों ने सुर्खियां बटोरीं, जानिए शाम पांच बजे तक की बनारस की पांच प्रमुख खबर।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 04:53 PM (IST) Author: Abhishek Sharma

वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने मंगलवार वार यानी 22 सितंबर को सुर्खियां बटोरीं जिनमें दो पक्षों में मारपीट में वृद्ध की मौत, संस्कृत विश्वविद्यालय में दिखी चहल-पहल, बाढ़ के बाद संक्रामक रोगों का प्रसार, बादलों ने गुलाबी ठंड का किया स्वागत, गोविंदाचार्य ने दीनदयाल की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम पांच बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

वाराणसी के चोलापुर में जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों में चले लाठी डंडे, एक वृद्ध की मौत

चोलापुर में जमीन विवाद को लेकर चोलापुर के हाजीपुर में मंगलवार सुबह दो पक्ष आपस में भिड़ गए। जिसमें एक पक्ष के रामदुलार यादव (60) की मौत हो गई। वहीं दूसरे पक्ष के गुलाब यादव (50) और गीता देवी (40) गंभीर रूप घायल हो गए। दोनों घायलों को उपचार के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक दोनों पक्षों क्रमश: हीरा यादव और उमा यादव में कई दिनों से जमीन विवाद चल रहा था। चोलापुर पुलिस ने सोमवार को धारा 151 की कार्रवाई भी की थी। गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। चोलापुर पुलिस ने बताया कि गांव में स्थिति तनावपूर्ण है, लेकिन फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

मंगलवार को छह माह बाद संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में दिखी चहल-पहल

संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के शास्त्री (स्नातक) तृतीय खंड व आचार्य (स्नातकोत्तर) चतुर्थ सेमेस्टर, बीएड सहित अन्य व्यावसायिक पाठयक्रमों की परीक्षाएं मंगलवार से शुरू हो गई हैं। ऐसे में करीब छह माह बाद विश्वविद्यालय में छात्रों की चहल पहल मंगलवार को देखी गई। परीक्षार्थियोें की चहलकदम से परिसर सुबह से ही गुलजार रहा। कोविड-19 को देखते हुए इस बार केंद्रों के गेट पर परीक्षार्थियोें की कोई तलाशी नहीं ली गई। इसके स्थान पर परीक्षार्थियोें की थर्मल स्कैनिंग के बाद केंद्रों पर प्रवेश की अनुमति दे दी गई। परीक्षा को लेकर ज्यादातर परीक्षार्थी खुश थे। पहले दिन प्रथम पाली की परीक्षा में कोई नकलची पकड़े जाने की कोई सूचना नहीं हैं।

पूर्वांचल में बारिश ने दी नदियों के तटवर्ती इलाकों में दुश्‍वारी, बाढ़ के बाद संक्रामक रोगों का प्रसार

पूर्वांचल में सरयू नदी के जलस्‍तर में मामूली उतार चढ़ाव का दौर होने से तटवर्ती इलाकों में चिंता का माहौल है। शेष अन्‍य प्रमुख नदियों का जलस्‍तर या तो स्थिर है या तो घटाव की ओर है। हालांकि दो दिनों से जारी बरसात की वजह से तटवर्ती इलाकाें में निचले इलाकों में जलभराव दोबारा हो गया है। नमी के साथ ही जलभराव का दौर और जमे पानी के सड़ने से संक्रामक रोगों के प्रसार का भी दौर शुरु हो गया है। इसकी वजह से कई गांवों में डायरिया के रोगियों की संख्‍या भी बढ़ी है, वहीं निचले इलाकों में जमे बाढ के पानी से मच्‍छरों के पनपने से अब डेंगू और मलेरिया की शिकायतों में भी इजाफा होना तय है।

Varanasi City Weather Update : पूर्वांचल में बारिश और बादलों ने गुलाबी ठंड का किया स्वागत

पूर्वांचल में बीते दो दिनों से रह रहकर हो रही बरसात और ठंडी हवाओं का रुख हो गया है। इसकी वजह से उमस से कुछ राहत मिली है तो आसमान बादलों के कब्जे में होने से धूप नहीं निकली और गर्मी से भी ठंड हवाओं के थपेड़ों ने खूब राहत दी। देर रात भी बूंदाबांदी का रुख रहने से तापमान में कमी आई और लोगों को गुलाबी ठंड का भी अहसास हुआ। बीते दिनों चंदौली जिले में कोहरा भी सुबह बनने लगा है। ऐसे में माना जा रहा है कि पूर्वांचल में गुलाबी ठंड की दस्तक हो गई है।  मंगलवार की सुबह आसमान में बादलों की सक्रियता के बीच सामान्‍य तापमान में भी कई दिनों से जारी उछाल में कमी आई है। बादलों संग बूंदाबांदी के बीच तापमान अब सामान्‍य हो चला है। बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज

वाराणसी से चंदौली पहुंचे केएन गोविंदाचार्य ने पं. दीनदयाल उपाध्‍याय की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण

विचारक केएन गोविंदाचार्य मंगलवार की दोपहर नगर के परमार कटरा स्थित पं. दीनदयाल उपाध्‍याय की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुंचे। इससे पूर्व वह अपने तीन दिनी वाराणसी प्रवास पर थे और वाराणसी में गंगा और देश की संस्‍कृति को लेकर उन्‍होंने लोगों से जन संवाद भी किया। चंदौली जिले में अध्ययन संवाद प्रवास पर निकले प्रख्यात चिंतक व विचारक केएन गोविंदाचार्य मंगलवार को पड़ाव स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट ऊंची प्रतिमा पर पाल्‍यार्पण की सिर झुकाया। इसके बाद वो पीडीडीयू जंक्शन के यार्ड स्थित खंभा 1267 पर जहां पंडित दीनदयाल का शव मिला था वहां गए और उन्हें याद किया। गोविंदाचार्य नगर के परमार कटरा में पत्रकारों से रूबरू भी हुए थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.