Top 5 Varanasi News Of The Day 17 june 2021 : बादलों की मेहरबानी से शहर पानी-पानी, दो दर्जन से अधिक ठेकेदारों को नोटिस, अमानवीय तरीके से सीवर और गटर की सफाई को विवश

बनारस शहर की कई खबरों ने गुरुवार यानी 17 जून को सुर्खियां बटोरीं जानिए तीन बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें जो दिन भर चर्चा में बनी रहीं और लोगों की नजरें भी उन खबरों पर रही।

Abhishek SharmaThu, 17 Jun 2021 02:42 PM (IST)
बनारस शहर की कई खबरों ने 17 जून 2021 गुरुवार को सुर्खियां बटोरीं।

वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने गुरुवार को चर्चा बटोरी जिनमें बादलों की मेहरबानी से शहर पानी-पानी, दो दर्जन से अधिक ठेकेदारों को नोटिस, अमानवीय तरीके से सीवर और गटर की सफाई को विवश, मानसून की सक्रियता ने गिराया पारा, तीसरी लहर के लिए 10 पीकू समेत 40 बेड की तैयारी, आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम तीन बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

 
वाराणसी में बादलों की मेहरबानी से शहर पानी-पानी, झूमकर बरसे बादलों ने खोली व्‍यवस्‍था की पोल

मानसून आगमन के बाद से ही शहर पानी पानी हो गया है, बारिश होने के बाद शहर में सड़क से लेकर गली और मोहल्‍लों के अलावा नौबत घरों में पानी भरने तक की हो जा रही है। गुरुवार की अल सुबह से ही जारी झमाझम बरसात के बाद गली मोहल्‍ले और सड़क के साथ घरों तक पानी जाने से लोगों को काफी दुश्‍वारी झेलनी पड़ी। दोपहर तक पानी निकला तो लोगों ने कुछ राहत की सांस ली। हालांकि, मौसम विज्ञान विभाग ने आगे भी पानी बरसने की संभावना जताई है। गुरुवार को शहर के निचले इलाके मानो पूरी तरह जलमग्‍न हो गए। गोलगड्डा स्थित रोडवेज काशी डिपो में बारिश से निपटने की तैयारियों की कलई खुल गई वाटर ड्रेनेज चोक होने से परिसर में नरकीय स्थिति उत्पन्न हो गई। लोगों का आना जाना तक मुहाल हो गया। हर तरफ वाटर लॉगिंग की समस्या से पैदल चलना तक दुश्वार हो गया। वहीं नई सड़क, कोदई चौकी सहित कई निचले इलाके में लोगों के घर और दुकानों तक पानी पहुंच गया।
 
वाराणसी में जिला पंचायत में अधूरे 55 कार्यों को पूरा न कराने वाले दो दर्जन से अधिक ठेकेदारों को नोटिस
जिला पंचायत से प्रस्तावित 55 अधूरे कार्यो को पूरा करने के लिए जिलाधिकारी ने 19 जून डेटलाइन तय की थी। इसी क्रम में अपर मुख्य अधिकारी की ओर से दो दर्जन से अधिक ठेकेदारों को नोटिस जारी किया गया है। साथ ही हिदायत दी गई है कि तय अवधि में कार्य पूरा न होने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। फर्म को काली सूची में डालते हुए लाइसेंस तक निलंबित किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि वित्तीय वर्ष 2016-17 के 90 कार्यों में से 28 डीएम के निर्देश के क्रम में पूरे कराए जा चुके हैं। हालांकि इसमें से कई का भुगतान जिला पंचायत की ओर से नहीं किया गया है। डीएम ने इस बाबत भी निर्देशित किया था कि कार्य अगर पूर्ण है। जांच में सही है तो तत्काल भुगतान किया जाए । ठेकेदारों का आरोप है कि इस पर अमल नहीं किया जा रहा है। इसी क्रम में वित्तीय वर्ष 2018-19 के 203 कार्यों में सिर्फ 35 का भुगतान किया गया है।
 
Varanasi Smart City की सबसे दुखद तस्‍वीर, अमानवीय तरीके से सीवर और गटर की सफाई को विवश
बनारस शहर को स्मार्ट बनाने के लिए काफी कवायद की जा रही है, लेकिन सीवर लाइन और मैनहोल की सफाई के लिए अब भी पुराना तरीका अपनाया जा रहा है, उसमे भी सफाई कर्मचारी बिना सुरक्षा उपकरण के सफाई करते है। पूर्व में गोलगड्डा क्षेत्र में सफाई के लिए गटर में उतरे दो लोगों की जान जहरीली गैस के कारण चली गई थी। दो साल पहले पांडेयपुर स्थित काली जी के मंदिर के पास सीवर सफाई के दौरान दो लोगों को जान गवानी पड़ी थी। इसके बाद भी नगर निगम सबक नही सीख रहा है। पिछले साल कहा गया था कि अब गटर की सफाई रोबोट करेगा, मगर वह भी हवाहवाई साबित हुआ।
 
Varanasi City Weather Update : मानसून की सक्रियता ने गिराया पारा, बारिश ने दी उमस से राहत
पूर्वांचल में मौसम का बदला रुख लगातार बादलों की सक्रियता के साथ ही बारिश और बूंदाबांदी का रुख बनाए हुए है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि सक्रिय मानसून का दौर पूरे सत्र में बना रहेगा। वहीं मौसम विभाग ने इस पूरे सप्‍ताह बादलों की सक्रियता का अंदेशा जताया है जबकि मौसम विभाग ने इस सप्‍ताह के आखिर में बादलों की सक्रियता से राहत की उम्‍मीद जताई है। आने वाले दिनों में आसमान साफ होने के बाद उमस में भी इजाफा होगा। बारिश का दौर थमने के बाद तापमान में इजाफा होगा साथ ही उमस से लोग पसीना पसीना भी होंगे। हालांकि, उससे पूर्व मानसून सक्रिय रहेगा और लगातार नमी मिलने पर बारिश भी कराता रहेगा। बुधवार की रात से ही मौसम का रुख बदला रहा और आसमान में बादलों की आवाजाही का रुख बना रहा।बादलों की सक्रियता तड़के अधिक हुई और पूर्वांचल में वाराणसी के साथ ही अन्‍य जिलों में भी उमस का असर नदारद रहा। बारिश और बूंदाबांदी का क्रम शुरू हुआ तो दिन चढ़ने तक जारी रहा। मौसम विभाग ने इस पूरे सप्‍ता‍ह बादलों की आवाजाही के रुख का संकेत दिया है।
 
वाराणसी इएसआइसी अस्पताल में तीसरी लहर के लिए 10 पीकू समेत 40 बेड की तैयारी
कोरोना की संभावित तीसरी लहर से लड़ने के लिए काशी में तैयारी जाेरों पर चल रही है। एक ओर जहां बीएचयू के सुपर स्पेशियलिटी कांप्लेक्स में 100 बेड का बच्चा कोरोना वार्ड तैयार किया है वहीं दूसरी ओर कर्मचारी राज्य बीमा निगम के पांडेयपुर स्थित अस्पताल में भी 40 बेड तैयार किए जा रहे हैं। इसमें 10 से 15 बेड पीकू यानी पीडियाट्रिक आइसीयू बन सकता है। मालूम हो कि कोरोना की दूसरी लहर में मरीजों के उपचार के लिए यहां पर 40 बेड तैयार किए गए थे। प्रशासन ने अब इसे 50 बेड करने के निर्देश दिए हैं। वहीं अब कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद अब कोरोना बच्चा वार्ड के लिए तैयारी चल रही है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. अभिलाष वीबी ने बताया कि प्रशासन के निर्देश पर तीसरी लहर के लिए तैयारी चल रही है। अलग से बेड तैयार किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया के इसके साथ ही उनके यहां दो ऑक्सीजन प्लांट भी स्थापित हो चुके हैं। ऐसा होने से अब यहां पर ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.