त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव : नए मतदाता न छूटें और न पुराने का नाम कटे, BLO को दिया जाएगा प्रशिक्षण

मऊ जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि बीएलओ को प्रशिक्षण देने हेतु समीक्षा कर लें।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 07:47 AM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

मऊ, जेएनएन। जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण की बैठक में कई दिशा-निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि अपने तहसील स्तर पर ही बीएलओ को प्रशिक्षण देने हेतु समीक्षा कर लें। उन्होंने कहा कि किसी भी दशा में किसी नए मतदाता का नाम छूटने न पाए तथा जिनके नाम पहले से हैं, उनका नाम कटने न पाए। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक अवकाश में भी निर्वाचन के कार्य किए जाएंगे। कहा कि मतदान केंद्र पर एक बीएलओ की नियुक्ति होगी। ध्यान रखें कि उस मतदान केंद्र पर तीन हजार से अधिक मतदाता न हों। एक मतदान केंद्र पर तीन हजार से अधिक मतदाता होने पर एक से अधिक बीएलओ की नियुक्ति की जाए एवं सभी नियुक्त किए जाने वाले बीएलओ को यथासंभव बराबर-बराबर मतदान स्थल आवंटित किए जाएं।

जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी दशा में एक बीएलओ को एक से अधिक मतदान केंद्र आवंटित न हो। प्रत्येक मतदान केंद्र पर एक बीएलओ नियुक्त किए जाएं, भले ही उस मतदान केंद्र पर मतदाताओं की संख्या मानक से कम हो। कहा कि प्रत्येक न्याय पंचायत स्तर पर एक पर्यवेक्षक नियुक्त किया जाएगा। यदि कोई न्याय पंचायत अधिक बड़ी है तो और उसमें मतदान स्थलों की संख्या 20 से अधिक है तो उस न्याय पंचायत में अधिकतम 20 मतदान स्थल तक एक पर्यवेक्षक एवं 20 से अधिक मतदान स्थल होने की स्थित में एक से अधिक पर्यवेक्षक नियुक्त किए जा सकते हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि समय सीमा के अंतर्गत सभी कार्य संपन्न कराए जाएंगे। इस अवसर पर मुख्य राजस्व अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त खंड विकास अधिकारी एवं निर्वाचन अधिकारी उपस्थित थे।

मऊ में पंचायत एक नजर में

09 - विकास खंड

675 - ग्राम पंचायत

92 - न्याय पंचायत

8481 - ग्राम पंचायत सदस्यों की संख्या

675 - ग्राम प्रधानों की संख्या

838 - क्षेत्र पंचायत सदस्यों की संख्या

34 - जिला पंचायत सदस्यों की संख्या

12,22,288 - त्रि-स्तरीय पंचायत मतदाताओं की संख्या

निर्वाचन से पूर्व की तैयारियां

- 01 अक्टूबर 2020 से 12 नवंबर बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर गणना और सर्वेक्षण।

- 01 अक्टूबर से 05 नवंबर ऑनलाइन आवेदन करने की तिथि।

- 06 नवंबर से 12 नवंबर तक ऑनलाइन प्राप्त आवेदन पत्रों की घर-घर जाकर जांच।

- 13 नवंबर से 05 दिसंबर तक ड्राफ्ट नामावलियों की कम्प्यूटरीकृत पांडुलिपि तैयार करना।

- 06 दिसंबर ड्राफ्ट मतदाता सूची का प्रकाशन।

- 06 दिसंबर से 12 दिसंबर तक ड्राफ्ट के रूप में प्रकाशित निर्वाचक नामावली का निरीक्षण।

- 06 दिसंबर से 12 दिसंबर तक दावे/आपत्तियां प्राप्त करने की तिथि।

- 13 दिसंबर से 19 दिसंबर तक दावे/आपत्तियों का निस्तारण।

- निर्धारित समय के बाद किसी भी आपत्तियों या किसी अन्य कार्य का निस्तारण नहीं किया जाएगा।।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.