top menutop menutop menu

मऊ में मुख्तार अंसारी गिरोह के कंस्ट्रक्शन मालिक का असलहा जब्त, कारतूसों का हिसाब नहीं दे पाए

मऊ, जेएनएन। मुख्तार अंसारी गिरोह के विरुद्ध योगी सरकार की भृकुटी तनी हुई है। शासन के निर्देश पर जनपद सहित अगल-बगल के जनपदों में गिरोह के विरुद्ध जबरदस्त अभियान चलाया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य के नेतृत्व में बुधवार को पुलिस ने मुख्तार गिरोह से जुड़े त्रिदेव कंस्ट्रक्शन मालिक का असलहा जब्त कर लिया गया। पुलिस प्रशासन द्वारा कंस्ट्रक्शन मालिक के विरुद्ध की गई कार्रवाई से गिरोह से जुड़े सफेदपोशों व ठेकेदारों में हडकंप मच गया है। 

कारतूसों का हिसाब देने में असमर्थ रहे फर्म मालिक

अवैध व फर्जी लाइसेंसी असलहों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत सरायलखंसी पुलिस को अहम सफलता हाथ लगी। बुधवार को त्रिदेव कंस्ट्रक्शन फर्म के मालिक पंकज सिंह निवासी भीटी-भुजौटी के लाइसेंसी रायफल व कारतूसों के बारे में जांच की गई। तो फर्म मालिक कारतूसों का हिसाब देने में असमर्थ रहे। इस पर असलहे व तीन जिंदा कारतूस को जब्त कर लिया गया।

पंकज सिंह व रामपरिख सिंह त्रिदेव कंस्ट्रक्शन फर्म के 50-50 फीसदी के मालिक

इस संबंध में फर्म मालिक के विरुद्ध आयुद्ध अधिनियम का अभियोग पंजीकृत कर शस्त्र निरस्तीकरण की रिपोर्ट भेजी जा रही है। त्रिदेव कंस्ट्रक्शन फर्म के पूर्व मालिक राजन सिंह व उमेश सिंह निवासी खरगजेपुर मुख्तार अंसारी गिरोह के सदस्य थे तथा थाना दक्षिणटोला क्षेत्र अंतर्गत हत्या के मामले में आरोपित होने के कारण फर्म से निष्कासित कर दिए गए। इसके बाद वर्तमान में पंकज सिंह व रामपरिख सिंह त्रिदेव कंस्ट्रक्शन फर्म के 50-50 फीसदी के मालिक हैं।

बुनकर कालोनी पर मुख्तार गिरोह का कब्जा

गरीबों, असहाय व हथकरघा बुनकरों के लिए बनाई गई बुनकर कालोनी में विधायक मुख्तार अंसारी गिरोह के लोगों द्वारा कब्जा किया गया है। बुधवार को श्री गंगा-तमसा सेवा समिति के महामंत्री व पूर्व सभासद छोटेलाल गांधी ने प्रशासन को पत्रक सौंपकर कार्रवाई की मांग किया है। बताया है कि गरीब, असहाय, हथकरघा बुनकरों का जीवन सुधारने के लिए केंद्र सरकार द्वारा बुनकर कालोनी बनाई गई थी। इसमें धन-बल से संपन्न दबंगों द्वारा अवैध कब्जा कर रह रहे हैं। लोगों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए शिकायत किए जाने पर सहायक आयुक्त हथकरघा एवं वस्त्राद्योग द्वारा जाचोपरांत अवैध कब्जाधारियों के विरूद्ध नोटिस जारी किया, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई। 23 अक्टूबर को जिलाधिकारी को गैर आंवटियों की सूची, समाचार पत्र की छायाप्रति के साथ दिया परंतु आदेश के बावजूद सहायक आयुक्त द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किया गया। इसके बावजूद हथकरघा बुनकरों की जगह विधायक से संबंधित धन-बल से संपन्न लोग कब्जा जमाए हुए हैं। मांग किया कि एंटी भू-माफिया एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.