Technex : जन्‍म दिन मनाने वाराणसी पहुंची ह्यूमनॉयड रोबोट सोफिया, IIT BHU में होगी असेंबल

दुनिया की पहली नागरिकता प्राप्त ह्यूमनॉयड रोबोट सोफिया से मिलने को बेताब आइआइटी-बीएचयू के छात्रों संग काशीवासियों को गुरुवार को मायूस होना पड़ा।

Saurabh ChakravartyThu, 13 Feb 2020 06:56 PM (IST)
Technex : जन्‍म दिन मनाने वाराणसी पहुंची ह्यूमनॉयड रोबोट सोफिया, IIT BHU में होगी असेंबल

वाराणसी, जेएनएन। दुनिया की पहली नागरिकता प्राप्त ह्यूमनॉयड रोबोट सोफिया आइआइटी-बीएचयू के छात्रों संग अपना चौथा जन्‍म दिन मनाने के लिए टीम के साथ शुक्रवार को पहुंच गई है। यूनाइटेड स्टेट से वह गुरुवार की सुबह ही मुंबई पहुंच गई थी, लेकिन मुंबई से वाराणसी फ्लाइट कतिपय कारणों से रद हो गई, जिस वजह से वह बनारस नहीं पहुंच सकी थी। अब वह शुक्रवार की सुबह बनारस पहुंच गई और शाम को टेक्नेक्स के तहत बीएचयू के स्वतंत्रता भवन सभागार में आयोजित टॉक शो में शिरकत करेगी।

यूनाइटेड स्टेट से सोफिया को भारत में कई हिस्सों में अलग-अलग बाक्स में रखकर लाया जा रहा है। ऐसा सुरक्षा कारणों के चलते किया जा रहा है, ताकि दुनियाभर के खुराफाती हैकर सोफिया का वास्तविक लोकेशन ट्रेस न कर पाएं। सूत्रों के मुताबिक बनारस के लिए सोफिया की फ्लाइट मंगलवार देर रात है। वह सुबह यहां पहुंच जाएगी। साथ में सोफिया का निर्माण करने वाले डेविड हैनसन व उनकी टीम भी होगी। सभी छावनी क्षेत्र स्थित एक होटल में दोपहर तक विश्राम करेंगे। इसके बाद बाक्स में ही सोफिया को लेकर आइआइटी-बीएचयू पहुंचेंगे, जहां उसे असेंबल-एक्टिवेट किया जाएगा। इसके बाद वह आइटियंस से रूबरू होगी और उनके सवालों के जवाब भी देगी। यह सोफिया की दूसरी भारत यात्रा है। इससे पहले वह अक्टूबर 2019 में इंदौर में आयोजित 51वीं राउंड स्क्वेयर कांफ्रेंस में शामिल हुई थीं।

14 को है सोफिया का जन्मदिन

ह्यूमनॉयड रोबोट सोफिया का निर्माण हांगकांग की कंपनी हैनसन रोबोटिक्स के डेविड हैनसन ने किया था। सोफिया को हॉलीवुड अभिनेत्री आड्री हेपबर्न से मिलता- जुलता लुक दिया गया है। चूंकि सोफ‍िया को 14 फरवरी 2016 को एक्टिव किया गया था लिहाजा जन्‍मदिन 14 फरवरी को ही मनाया जाता है। इस बार सोफ‍िया बनारस में अपना चौथा जन्‍मदिन मनाएगी। सोफ‍िया 50 से अधिक तरीके से चेहरे के हाव-भाव प्रदर्शित करने में सक्षम है। 

ये भी हैं ह्यूमनॉयड रोबोट

ह्यूमनॉयड रोबोट का इस्तेमाल पहले केवल शोध के लिए किया जाता था, लेकिन पिछले कुछ समय से इन्हें इंसानों के सहायक के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। सोफिया पहली ह्यूमनॉयड रोबोट है, जिसे किसी देश की नागरिकता मिली है। सोफिया के अलावा जापान की कोडोमोरॉयड और चीन की जिया-जिया भी लोकप्रिय ह्यूमनॉयड रोबोट हैं। कई भाषाएं बोलने वाली कोडोमोरॉयड टेलीविजन पर प्रस्तुति देती है। वहीं जिया-जिया बातचीत तो कर सकती है, लेकिन इसका मूवमेंट व भावनाएं सीमित है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.