वाराणसी में दिन में धूप और रात में ओस का दौर, गलन ने तबीयत से पांव पसारना शुरू किया

अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री कम रहा। न्‍यूनतम तापमान 15.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री कम दर्ज किया गया। आर्द्रता अधिकतम 61 फीसद दर्ज किया गया न्‍यूनतम आर्द्रता 53 फीसद दर्ज की गई।

Abhishek SharmaPublish:Sun, 07 Nov 2021 09:17 AM (IST) Updated:Sun, 07 Nov 2021 09:17 AM (IST)
वाराणसी में दिन में धूप और रात में ओस का दौर, गलन ने तबीयत से पांव पसारना शुरू किया
वाराणसी में दिन में धूप और रात में ओस का दौर, गलन ने तबीयत से पांव पसारना शुरू किया

वाराणसी, जागरण संवाददाता। पूर्वांचल में मौसम का रुख बदला हुआ है, सुबह सर्दी का अहसास मौसमी बदलाव को बता रहा है तो दिन में धूप भी अब राहत देने लगी है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि अब वातावरण में ठंडक का असर पर्याप्‍त होने लगा है। जल्‍द ही पारा अधिकतम तीस से कम और न्‍यूनतम दस डिग्री के करीब पहुंच जाएगा। मौसम का रुख बदलने के साथ ही पछुआ हवाओं का जोर पूर्वांचल को कंपाने लगेगा। हालांकि, ठंडी हवाएं अभी उत्‍तर में नेपाल और पश्चिम में राजस्‍थान तक ही असर कर रही हैं। माना जा रहा है कि जल्‍द ही हवाओं का रुख और तल्‍खी भरा हो जाएगा। 

रविवार की सुबह आसमान में बादलों की सक्रियता शून्‍य रही। रात को ओस के बाद सुबह ठंडक भरी हवाओं का अहसास लोगों को कंपाता भी रहा। लोग अब गर्म कपड़ों में नजर आने लगे हैं। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में जल्‍द ही कोहरे का असर शुरू होगा और वातावरण में नमी की कमी के बीच पछुआ हवाएं लोगों को कंपाने लगेंगी। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि आने वाले सप्‍ताह के बाद कोहरा भी बनने लगेगा जो अभी अंचलों तक ही सीमित है। इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ गलन भी ले आएगा। 

बीते चौबीस घंटोंं में अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री कम रहा। न्‍यूनतम तापमान 15.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री कम दर्ज किया गया। आर्द्रता अधिकतम 61 फीसद दर्ज किया गया, न्‍यूनतम आर्द्रता 53 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों के अनुसार पूर्वांचल में आसमान पूरी तरह साफ बना हुआ है। वातावरण का रुख बदलने के संभावनाओं के बीच फ‍िलहाल वातावरण में गुलाबी ठंड का असर अब सर्दी में बदलने लगा है। माना जा रहा है कि पखवारे भर में कोहरा भी सघन स्‍वरूप ले लेगा।