युवाओं को पूरी सहायता देगी राज्य सरकार, राज्यमंत्री ने किया अटल इन्क्यूबेशन केंद्र बीएचयू का दौरा

केंद्र पहुंचने पर एमएसएमई मंत्री ने महामना मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं उसके समक्ष दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की। प्रबंध शास्त्र संस्थान एवं अटल इन्क्यूबेशन केंद्र के निदेशक प्राचार्य सुजीत कुमार दुबे ने उनका स्वागत किया

Abhishek SharmaSat, 18 Sep 2021 05:03 PM (IST)
तीन वर्ष पूर्व इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

वाराणसी, जागरण संवाददाता। राज्य सरकार स्टार्टअप करने वाले नए उद्यमियों की सहायता के लिए पूरी तरह कृत संकल्पित है। अपने उद्यम से समाज को कुछ नई सुविधाएं प्रदान करने वालों को धन की कमी नहीं होने दी जाएगी। यह बातें प्रदेश सरकार के राज्य सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राज्यमंत्री भानु प्रताप सिंह ने कही। वह शनिवार को बीएचयू स्थित अटल इन्क्यूबेशन केंद्र की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर वहां पहुंचे थे।

केंद्र का निरीक्षण करने के बाद एमएसएमई मंत्री वहां उपस्थित स्टार्टअप उद्यमियों से मिले, उनसे बातचीत की, उनके उत्पादों के बारे में जाना और उन्हें सराहा। साथ ही उनकी समस्याओं को भी सुना और आश्वासन दिया कि उन्हें अपना उद्याेग स्थापित करने में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने सभी इन्क्यूबी को भरपूर सीड मनी देने में कोताही न होने देने का भरोसा दिलाया। बीएचयू के सेंट्रल डिस्कवरी सेंटर के पांचवें तल पर स्थित अटल इन्क्यूबेशन केंद्र की स्थापना विश्वविद्यालय के प्रबंध शास्त्र विभाग द्वारा की गई है। तीन वर्ष पूर्व इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

केंद्र पहुंचने पर एमएसएमई मंत्री ने महामना मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं उसके समक्ष दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की। प्रबंध शास्त्र संस्थान एवं अटल इन्क्यूबेशन केंद्र के निदेशक प्राचार्य सुजीत कुमार दुबे ने उनका स्वागत किया। केंद्र के प्रभारी प्राचार्य पीवी राजीव ने मंत्री एवं अन्य अतिथियों को केंद्र के बारे में जानकारी प्रदान की। साथ ही केंद्र में चल रही विभिन्न गतिविधियों के बारे में अवगत कराया।

एमएसएमई विकास संस्थान इलाहाबाद के संयुक्त निदेशक आइबी सिंह, एमएसएमई विकास संस्थान वाराणसी शाखा के संयुक्त निदेशक एलबीएस यादव भी उपस्थित रहे। संस्थान के निदेशक प्राचार्य सुजीत कुमार दुबे अंग वस्त्रभेंट तो प्रबंध शास्त्र संस्थान के विभागाध्यक्ष एवं अधिष्ठाता प्राचार्य हिमेंदु प्रकाश माथुर ने स्मृति चिन्ह भेंट कर मंत्री का स्वागत किया। केंद्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पारितोष त्रिपाठी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन प्रबंधक प्रशांत रंजन के सहयोग से मेनका तिवारी, करन पाल चौहान एवं विशाल विश्वकर्मा ने किया।

उद्यमियों से जाने उनके स्टार्टअप : एमएसएमई मंत्री ने वहां उपस्थित कुछ उद्यमियों एवं उनके स्टार्टअप के बारे में जानकारी भी प्राप्त की। क्षितिज पांडेय ने अपने आइडिया निरोल उपकरण के बारे में बताया तो एक्यूपेस कंपनी के निदेशक सुमित कुमार ने अपने उपकरण एक्यूक्लीन के बारे में जानकारी दी। सागर आनंद ने अपनी कंपनी द्वारा डाक मशीन के उपकरण के बारे में बताया। आलोक पटेल ने अपने साइबर लाक तकनीक के बारे में बताया तो नेक्सराइज़ के निदेशक ज़ुबैर अहमद ने बनारसी साड़ियों एवं बुनकरों के उत्थान के लिए बनाए गए आनलाइन ई-कामर्स प्लेटफार्म की जानकारी दी। दृष्टिबाधित सत्यप्रकाश मालवीय ने दिव्यांग जनों एवं ग्रामीण महिलाओं के उत्थान के लिए किए जा रहे कार्यों एवं संस्था द्वारा उत्पादित विभिन्न वस्तुओं की जानकारी दी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.