साॅल्वर गिरोह के सदस्य ओसामा को एमबीबीएस की परीक्षा देने से रोका, जेल में बंद है आरोपित

नीट में धांधली का प्रयास करने के मामले में जेल में बंद साल्वर गिरोह के सक्रिय सदस्य व किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के एमबीबीएस अंतिम वर्ष के छात्र ओसामा शाहिद को परीक्षा देने रोक दिया गया है। इसके अलावा यूनिवर्सिटी प्रशासन ने हास्टल से भी निष्कासित किया गया है।

Saurabh ChakravartyFri, 26 Nov 2021 10:14 PM (IST)
साॅल्वर गिरोह के सदस्य ओसामा को एमबीबीएस की परीक्षा देने से रोका

जागरण संवाददाता, वाराणसी : नीट में धांधली का प्रयास करने के मामले में जेल में बंद साल्वर गिरोह के सक्रिय सदस्य व किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के एमबीबीएस अंतिम वर्ष के छात्र ओसामा शाहिद को परीक्षा देने रोक दिया गया है। इसके अलावा यूनिवर्सिटी प्रशासन ने हास्टल से भी निष्कासित किया गया है। इस मामले में उसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने युनिवर्सिटी को इस बाबत रिपोर्ट प्रेषित की थी। जांच के बाद यह कार्रवाई की गई है। इससे उसके डाक्टर बनने के मंसूबे पर पानी फिर गया है।

बता दें कि सारनाथ स्थित एक केंद्र में गत 12 सितंबर को त्रिपुरा की अभ्यर्थी हिना विश्वास की जगह परीक्षा दे रही बीएचयू की बीडीएस की छात्रा जूली कुमार व उसकी मां बबिता देवी को गिरफ्तार किया गया था। जांच-पड़ताल की कड़ी में छात्रा ने साल्वर गिरोह के बारे में पुलिस को जानकारी दी। इसके आधार पर पुलिस ने साल्वर गिरोह के सक्रिय सदस्यों में से मऊ के मोहम्मदाबाद, गोहाना थाना क्षेत्र के शेखवाड़ा गांव निवासी ओसामा शाहिद को गिरफ्तार किया था। आरोप था कि शाहिद असल परीक्षार्थियों के कूटरचित प्रवेश पत्र तैयार करवाने व साल्वर की व्यवस्था कराकर फर्जी अभ्यर्थी को परीक्षा में बैठाता था। फिलहाल आरोपित ओसामा शाहिद जिला जेल में बंद है।

पीके जेल में दाखिल, रडार पर गिरोह के चार सदस्य

साल्वर गिरोह के सरगना नीलेश सिंह उर्फ पीके से सात दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर हुई पूछताछ के बाद उसे शुक्रवार को जिला जेल में दाखिल करा दिया गया। पूछताछ में उसने कई सनसनीखेज राज उगले हैं। इस आधार पर गिरोह के चार अन्य सदस्य पुलिस के रडार पर हैं। बता दें कि नीट धांधली मामले में साल्वर गिरोह के सरगना पीके को पुलिस ने गत 18 नवंबर को गिरफ्तार किया था। कोर्ट ने उसे 20 नवंबर से सात दिन के लिए पुलिस कस्टडी में देने का आदेश दिया था। उधर, एक अन्य साल्वर गिरोह के सरगना लघु सिंचाई विभाग के टेक्नीशियान कन्हैया लाल सिंह को भी पुलिस कस्टडी में लेकर पूछताछ की जा रही है। उससे भी पुलिस को अहम जानकारियां हासिल हुई हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.