top menutop menutop menu

काशी विद्यापीठ : 500 छात्रों का आवेदन समाज कल्याण विभाग ने किया निरस्त, 8742 छात्रों किया है ऑनलाइन आवेदन

वाराणसी, जेएनएन। शुल्क प्रतिपूर्ति व छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने वाले करीब 500 छात्रों का फार्म समाज कल्याण विभाग ने निरस्त कर दिया है। किसी ने बैंक खाता नंबर तो किसी ने अन्य विवरण गलत अपलोड किया है। हालांकि संशोधन कराने के लिए समाज कल्याण विभाग ने छात्रों को मौका भी दिया था। इसके बावजूद तमाम छात्रों ने विवरण अपडेट नहीं किया। इसे देखते हुए समाज कल्याण विभाग ने ऐसे छात्रों का आवेदन निरस्त कर दिया है। अब उन्हें वर्तमान सत्र में शुल्क प्रतिपूर्ति व छात्रवृत्ति मिलना संभव नहीं है।

काशी विद्यापीठ व इससे संबद्ध कालेजों के 8742 स्नातक के विभिन्न पाठ्यक्रमों के छात्रों ने शुल्क प्रतिपूर्ति व छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। सत्यापन के दौरान सैकड़ों छात्रों के आवेदन में विभिन्न प्रकार त्रुटियां मिली। तमाम छात्रों ने बैंक एकाउंट नंबर, आय-जाति प्रमाणपत्र का सीरियल नंबर, पंजीकरण संख्या सहित अन्य विवरण गलत अपलोड कर दिया है। इसे देखते हुए समाज कल्याण विभाग ने ऐसे छात्रों का आवेदन संदिग्ध की श्रेणी में शामिल कर लिया है। संदिग्ध आवेदनों के संशोधन के लिए छात्रों को मौका भी दिया गया। यही नहीं समाज कल्याण विभाग ने इस संबंध पिछले दिन विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों की बैठक भी बुलाई थी ताकि छात्रों में सूचना प्रसारित हो सके। इसके बावजूद विवरण संशोधित न करने वाले छात्रों का आवेदन निरस्त कर दिया गया है।

आवेदन करने वाले छात्रों की संख्या वर्गवार इस प्रकार है

2049 सामान्य वर्ग 

1512 अनुसूचित जाति

66 अनुसूचित जन जाति

4129 पिछड़ा वर्ग

986 अल्पसंख्यक

8742 कुल आवेदन

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.