वाराणसी में सनबीम स्कूल की छात्रा के साथ दुष्कर्म मामले की जांच करेगी एसआइटी

एसआइटी ने आरोपित और छात्रा का मंडलीय अस्पताल में मेडिकल कराने के साथ अन्य साक्ष्य जुटाएं। एसआइटी स्कूल प्रबंधन को भी बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस जारी करेगी। वहीं आरोपित के खिलाफ एनएसए लगाने को लेकर एसआइटी साक्ष्‍य जुटा रही है।

Abhishek SharmaSun, 28 Nov 2021 10:21 AM (IST)
एसआइटी ने आरोपित और छात्रा का मंडलीय अस्पताल में मेडिकल कराने के साथ अन्य साक्ष्य जुटाएं।

वाराणसी, जागरण संवाददाता। लहरतारा स्थित सनबीम स्कूल में कक्षा तीन की छात्रा के साथ दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने विशेष जांच दल (एसआइटी) का गठन करते हुए जांच करने का निर्देश दिया है। एसआइटी में अपर पुलिस उपायुक्त वरुणा जोन प्रबल प्रताप सिंह, सहायक पुलिस आयुक्त चेतगंज अनिरूद्ध सिंह, सिगरा प्रभारी निरीक्षक बैजनाथ सिंह, महिला थाना प्रभारी सुमित्रा देवी और महिला थाना की उप निरीक्षक अनिता चौहान है। शनिवार को एसआइटी ने आरोपित और छात्रा का मंडलीय अस्पताल में मेडिकल कराने के साथ अन्य साक्ष्य जुटाएं। एसआइटी स्कूल प्रबंधन को भी बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस जारी करेगी। वहीं, आरोपित के खिलाफ एनएसए लगाने को लेकर एसआइटी साक्ष्‍य जुटा रही है।

सनबीम स्कूल में कक्षा तीन की छात्रा के साथ दुष्कर्म होने का मामला सामने आने पर लोग स्तब्ध रह गए। पहले स्कूल प्रबंधन इस मामले को छिपाने की पूरी कोशिश की। परिवारीजनों के विरोध करने और वीडियो वायरल होने पर कमिश्नरेट पुलिस सक्रिय हो गई। मौके पर तत्काल पुलिस उपायुक्त वरुणा जोन विक्रांत वीर और सिगरा थाना प्रभारी पहुंच गए। परिवारीजनों की तहरीर पर सिगरा पुलिस ने जांच शुरू कर दी। पुलिस आयुक्त ने आठ टीमें गठित करते हुए आरोपितों की तलाश में जुट गई। आरोपित सफाई कर्मी अजय कुमार उर्फ सिंकू को सीसीटीवी फुटेज के सहारे उसके आवास मानस नगर स्थित पसियाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया।

अधिवक्ताओं ने आरोपित की कचहरी में की पिटाई : आरोपित सफाई कर्मी अजय कुमार उर्फ सिंकू को सिगरा पुलिस शनिवार को शाम चार बजे कोर्ट पेश करने गई तो अवकाश के दिन मौजूद कुछ अधिवक्ता उसे देख आक्रोशित हो गए। उसे पुलिस अभिरक्षा से खींचते हुए पिटाई करने लगे। अधिवक्ताओं के गुस्से से आरोपित को पुलिस बचाती रही लेकिन वह सुनने को तैयार नहीं थे। आरोपित को बचाने के चक्कर में एक सिपाही जमीन पर गिर गया। अधिवक्ताओं के विरोध की सूचना मिलते ही कचहरी पुलिस चौकी पर तैनात पुलिस कर्मी पहुंच गए। किसी तरह अधिवक्ताओं से बचाकर कोर्ट में पेश किया। रिमांड मजिस्ट्रेट की अदालत से न्यायिक रिमांड मंजूर होने के बाद उसे 14 दिन की हिरासत में जेल भेज दिया गया।

बोले अधिकारी : जांच शुरू करने के साथ आरोपित सफाई कर्मी और छात्रा का मंडलीय अस्पताल में मेडिकल मुआयना कराया गया। आरोपित का कपड़ा बरामद कर लिया गया है। उसके नाखुन के निशान लेने के साथ डीएनए जांच कराई जाएगी। साथ ही एनएसए लगाने की तैयारी है। -प्रबल प्रताप सिंह, एडीसीपी वरुणा पार जोन

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.