जौनपुर में कीर्ति कुंज ज्वेलर्स पर सुबह CBI की छापेमारी, प्रतिष्‍ठान में टीम जांच में जुटी

कीर्ति कुंज ग्रुप के अधिष्ठाता शहर के बड़े कारोबारी नन्हें लाल वर्मा कटौना वाले पर सरकारी शिकंजा कसने लगा है। शुक्रवार की सुबह आठ बजे लखनऊ से आइ स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम उनके चहारसू चौराहा स्थित सराफा प्रतिष्ठान कीर्ति कुंज ज्वेलर्स पर धमक पड़ी।

Abhishek SharmaFri, 30 Jul 2021 11:21 AM (IST)
नन्हें लाल वर्मा 'कटौना वाले' पर सरकारी शिकंजा कसने लगा है।

जौनपुर, जागरण संवाददाता। कीर्ति कुंज ग्रुप के अधिष्ठाता शहर के बड़े कारोबारी नन्हें लाल वर्मा 'कटौना वाले' पर सरकारी शिकंजा कसने लगा है। शुक्रवार की सुबह आठ बजे लखनऊ से आइ स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम उनके चहारसू चौराहा स्थित सराफा प्रतिष्ठान 'कीर्ति कुंज ज्वेलर्स' पर धमक पड़ी। इसी भवन में वह सपरिवार रहते भी हैं। काफी देर बाद दरवाजा खोले जाने पर टीम ने कड़ी फटकार लगाई। शहर के व्यस्ततम इलाके में स्थित प्रतिष्ठान के बाहर तमाशबीनों की भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिसकर्मियों को खासी जूझना पड़ रहा है। टीम तलाशी में जुटी हुई है। फिलहाल टीम में शामिल अधिकारी कोई ब्यौरा नहीं दे रहे हैं।

कीर्ति कुंज ग्रुप आफ कंपनीज के अधिष्ठाता सराफा कारोबारी नन्हें लाल वर्मा सीबीआइ के निशाने पर आ गए हैं। लखनऊ से आई सीबीआइ टीम ने शुक्रवार को उनके दोनों आवासों पर छापेमारी कर करीब आठ घंटे तक गहन तलाशी ली। कुछ कागजात कब्जे में लेकर शाम को टीम चली गई। मामला रेलवे में डायरेक्टर के पद पर कार्यरत उनके दामाद की आय से अधिक संपत्ति से जुड़़ा बताया जा रहा है। इसी के साथ ही लखनऊ व मऊ में भी छापेमारी की गई।सुबह करीब आठ बजे सीबीआइ टीम सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार मिश्र के साथ मय फोर्स नन्हें लाल वर्मा के चहारसू चौराहा स्थित सराफा प्रतिष्ठान कीर्ति कुंज ज्वेलर्स पर धमकी। इसी भवन में उनका आवास भी है। स्थानीय पुलिस को बाहर रोककर टीम ने करीब एक घंटे तक आवास व प्रतिष्ठान की गहन तलाशी ली। इसके बाद नन्हें लाल वर्मा को साथ लेकर उनके पुराने मखदूम शाह अढ़न स्थित घर पर गई। दोनों घरों की तलाशी के दौरान कंप्यूटर, लैपटाप सहित सभी कागजातों की बारीकी से करीब आठ घंटे तक छानबीन की। शाम चार बजे टीम वापस लौट गई। टीम के सदस्यों ने मीडियाकर्मियों को कोई भी ब्यौरा देने से साफ मना कर दिया। बताया गया कि नन्हें लाल वर्मा के लखनऊ में रेलवे में डायरेक्टर पद पर कार्यरत दामाद नवनीत वर्मा की आय से अधिक संपत्ति के मामले की जांच कर रही सीबीआइ टीम साथ में सर्च वारंट लेकर आई थी। नवनीत की पत्नी गुंजन नन्हे लाल की छोटी पुत्री है। छापेमारी को लेकर शहर में तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।

बोले कारोबारी : मेरे दामाद नवनीत वर्मा से संबंधित किसी मामले की जांच कर रही सीबीआइ टीम सर्च वारंट लेकर आई थी। दोनों घरों की तलाशी के दौरान टीम ने जो भी कागजात मांगे, उन्हें दिखाया गया। टीम मेरे यहां से छापेमारी में सभी कागजात देखने के बाद पूरी तरह संतुष्ट होकर चली गई। -नन्हें लाल वर्मा, सराफा कारोबारी।

दरवाजा खुलने में देरी पर मारा थप्पड़ : सदर कोतवाली क्षेत्र के चहारसू चौराहे पर स्थित कीर्ति कुंज पहुंची सीबीआइ टीम को काफी देर तक गेट न खुलने पर इंतजार करना पड़ा। सूत्रों के अनुसार उनके भतीजे की मदद से गेट खुला तो देरी का खामियाजा कारोबारी के बेटे को उठाना पड़ा। गेट खुलते ही अंदर पहुंची सीबीआइ अफसर ने कारोबारी के बेटे को थप्पड़ जड़ा। सीबीआइ अफसर का रौद्र रूप देख कारोबारी परिवार के अन्य सदस्य सहम गए। बताया गया छापेमारी डिप्टी एसपी के नेतृत्व में हुई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.