बसपा सरकार में ही सुरक्षा और तरक्की संभव, वाराणसी में बोलीं बसपा की कल्‍पना मिश्रा

संविधान दिवस के मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र की पत्नी मुख्य अतिथि कल्पना मिश्रा ने कहा कि केंद्र एवं उत्तर प्रदेश सरकार की नीतियों से प्रदेश की महिलाओं बच्चियों व्यापारियों कामगारों नौजवानों किसानों और मजदूरों पर निरंतर अत्याचार बढ़े हैं।

Saurabh ChakravartyFri, 26 Nov 2021 08:26 PM (IST)
पराड़कर भवन में एक दिवसीय महिला सम्मेलन में मुख्य अतिथि कल्पना मिश्रा

जागरण संवाददाता, वाराणसी : उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव 2022 में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनाने का संकल्प शुक्रवार को पराड़कर भवन में एक दिवसीय महिला सम्मेलन में लिया गया। संविधान दिवस के मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र की पत्नी मुख्य अतिथि कल्पना मिश्रा ने कहा कि केंद्र एवं उत्तर प्रदेश सरकार की नीतियों से प्रदेश की महिलाओं, बच्चियों, व्यापारियों, कामगारों, नौजवानों, किसानों और मजदूरों पर निरंतर अत्याचार बढ़े हैं। उन्होंने बसपा कार्यकाल की उपलब्धियां बताते हुए कहा कि तब प्रदेश की महिलाओं, बच्चियों और नौजवानों के साथ स्वास्थ्य, शिक्षा, सुरक्षा के प्रति सरकार संवेदनशील थी, आम नागरिकों के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध एवं सभी क्षेत्रों में रोजगार, शिक्षण संस्थाओं आदि में उत्कृष्ट कार्य किया। आयोजक मनोरमा पांडेय ने महिलाओं का आह्वान करते हुए 2022 में बसपा की सरकार बनाने का संकल्प दिलाया। पूर्व कैबिनेट मंत्री नकुल दुबे, ममता दुबे, रचना त्रिपाठी, अर्चना पटेल, शहनाज, सुधा चौरसिया, पुष्पा चौबे, सावित्री सेठ, वंदना सोनकर, आरती झा, बेबी, प्रियंका भारती, मंजू भारती, सबीर खान, सुरेश ओझा, रुचि गुप्ता आदि थीं।

उमाशंकर के बहाने बसपा में बलिया का दबदबा, सभी प्रमुख दलों ने किया जिले के नेताओं का सम्मान

प्रदेश के अंतिम छोर पर स्थित बलिया में सभी दल के शीर्ष नेताओं की विशेष नजर है। विधान सभा चुनाव को देखते हुए कई बदलाव भी इस जिले में दिख रहे हैं। खास बात यह कि सभी प्रमुख दलों में जनपद के नेताओं का दबदबा कायम है। पिछले विधान सभा चुनाव के बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बांसडीह विधान सभा से आठवीं बार विधायक बने रामगोविंद चौधरी को नेता प्रतिपक्ष बनाया तो जनपद के लोगों के खुशी का ठिकाना नहीं रहा। अब बहुजन समाज पार्टी ने रसड़ा के विधायक उमाशंकर सिंह को बसपा विधानमंडल दल का नेता चुना है, इससे एक बार फिर जनपद के लोग गदगद हैं। इस कड़ी में भाजपा भी पीछे नहीं है। पार्टी ने फेफना के विधायक उपेंद्र तिवारी और सदर के विधायक आनंद स्वरूप शुक्ल को सरकार में मंत्री बनाया है। जनपद में सात विधान सभा है। पिछले चुनाव में बैरिया, सदर, फेफना, सिकंदरपुर और बिल्थरारोड सहित कुल पांच सीटों पर भाजपा ने विजय हासिल किया है वहीं रसड़ा सीट को बसपा के उमाशंकर सिंह बचाने में सफल रहे। बांसडीह में सपा के रामगोविंद चौधरी सफल रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.