बलिया में बीएसटी बांध की सड़क पर बालू तस्करों का कब्जा, हर दिन लग रहा जाम

अवैध लाल बालू लदे ट्रकों से सिताबदियारा जाने वाली सड़क पर लगभग चार किमी में दिन भर जाम लगा रहा। इस जाम में पटना जाने के क्रम में राज्य सभा के उप सभापति हरिवंश भी काफी देर तक फंसे रहे। बाद में पुलिस ने किसी तरह उन्हें आगे निकाला।

Abhishek SharmaMon, 27 Sep 2021 05:30 PM (IST)
राज्यसभा के उप सभापति भी घर से पटना जाते समय किए जाम का सामना।

बलिया, जागरण संवाददाता। अवैध लाल बालू लदे ट्रकों से सिताबदियारा जाने वाली सड़क पर लगभग चार किमी में दिन भर जाम लगा रहा। इस जाम में घर से पटना जाने के क्रम में राज्य सभा के उप सभापति हरिवंश भी काफी देर तक फंसे रहे। बाद में पुलिस ने किसी तरह उन्हें आगे निकाला। ऐसी स्थिति का सामना वह चार दिन पहले भी घर आते समय किए थे। इसके बावजूद भी पुलिस व्यवस्था को ठीक नहीं कर सकी। बालू तस्करों ने सिताबदियारा जाने वाली पूरी सड़क पर बालू के जरिए कब्जा कर लिया है।

चांददियर पुलिस चौकी से 100 मीटर की दूरी से सिताबदियारा तक लगभग नौ किमी में बालू तस्कर दिन भर इस सड़क पर ही बालू गिरा रहे हैं और उसे ट्रकों से बिक्री कर रहे हैं। इसके चलते हर दिन जाम लग रहा है। बालू तस्करों की मनमानी से इस क्षेत्र की जनता आजिज आ चुकी है। सिताबदियारा से बैरिया, बलिया या छपरा के लिए चलने वाले लगभग 150 वाहनों को भी कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। एनएच-31 के निर्माण में भी बाधा पहुंच रहा है। किसी की शिकायत पर भी पुलिस या खनन विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। किसी की तबीयत खराब होने पर स्वजन जब मरीज को लेकर इस मार्ग से छपरा या बलिया के लिए निकलते हैं तो यहां से निकलने में उन्हें घंटों लग जा रहा है।

तस्कर काट रहे मजा, आमजन को मिल रही सजा : बालू के अवैध कारोबार से तस्कर मजा काट रहे हैं और आमजन सजा भुगतने को विवश है। बैरिया विधान सभा की सभी सड़कें इस अवैध कारोबार के चलते ही उखड़ गई हैं। इसके बाद भी स्थानीय जनप्रतिनिधि जनता की पीड़ा समझने के बजाय, बालू तस्करों को शह दे रहे हैं। लोगों का कहना है कि बालू की जरूरत सभी को है, लेकिन जिस तरीके से यहां यह कारोबार हो रहा है, वह सभी को परेशान करने वाला है। तस्कर खुद की कमाई के चक्कर में आम लोगों की नींद छीन लिए हैं।

छापेमारी का भी नहीं कोई असर : बालू के इस अवैध कारोबार से बिहार को हर दिन लगभग दो करोड़ की क्षति हो रही है। बिहार के डोरीगंज और काेइलवर से लगभग 300 नाविक नदी से बालू चोरी कर यूपी के नदी घाटों पर पहुंच रहे हैं। उसे यहां के तस्कर सस्ते रेट में खरीद कर ट्रकों से बिक्री कर रहे हैं। गत दिनों बिहार प्रशासन ने सिताबदियारा में छापेमारी भी किया। हजारों घन फीट डंप बालू देखा। यूपी प्रशासन से इस पर प्रतिबंध लगाने के लिए सहयोग मांगा, लेकिन इसका कोई हल नहीं निकल सका। आज यह कारोबार नदी तट से सड़क तक चरम पर है।

बोले अधिकारी : सड़क पर बालू रखने वालों पर कार्रवाई के लिए टीम बनाई गई है। बिहार के प्रशासन से भी बात हुई है। बीएसटी बांध वाली सड़क पर एक ट्रक के खराब होने के चलते जाम लगा था। आगे से हिदायत दी गई है कि कोई भी सड़क पर बालू न रखे। -आरके तिवारी, सीओ, बैरिया। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.