top menutop menutop menu

तटबंधों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता, बलिया में मंत्री अनिल राजभर ने लिया बाढ़ व कटानग्रस्त इलाकों का जायजा

तटबंधों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता, बलिया में मंत्री अनिल राजभर ने लिया बाढ़ व कटानग्रस्त इलाकों का जायजा
Publish Date:Wed, 12 Aug 2020 01:10 PM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

बलिया, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के निर्देश पर मंगलवार को पहुंचे कैबिनेट मंत्री व जिले के प्रभारी अनिल राजभर ने बाढग्रस्त इलाकों का बारीकी से जायजा लिया। प्रभारी मंत्री ने द्वाबा क्षेत्र के विभिन्न गांवों का भ्रमण कर जहां वस्तुस्थिति को परखा, वहीं क्षेत्र में चल रहे कटानरोधी कार्यों का भी निरीक्षण किया। इस दौरान बाढ़ विभाग के अधिकारियों की जमकर क्लास ली। बीएसटी बंधा व अठगांवा के टी-स्पर टूटने पर अधिशासी अधिकारी से सवाल-जवाब किया। अफसरों को दो टूक चेतावनी दी कि राहत व बचाव कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यह भी कहा कि सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता तटबंधों की सुरक्षा है। इसलिए हर हाल में तटबंधों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाय।

सरकार की प्रत्येक योजना का लाभ पीडि़तों को मिले   

बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लेने के बाद प्रभारी मंत्री अनिल राजभर ने देर शाम जिला मुख्यालय पर अधिकारियों संग बैठक कर हालात की समीक्षा की। इस दौरान अफसरों से कहा कि बाढ़ व कटान पीडि़तों को मुआवजा, मुफ्त अनाज, चिकित्सा सुविधा, पशुओं का टीकाकरण, त्रिपाल वितरण, बुजुर्ग व वृद्धावस्था पेंशन सहित सरकार की समस्त कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मुहैया कराई जाय। सर्प दंश से मौत की बढ़ती घटनाओं पर ङ्क्षचता व्यक्त करते हुए समस्त सीएचसी, पीएचसी व सरकारी अस्पतालों में बचाव के लिए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन व इंजेक्शन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। यह भी कहा कि गांव-गिरांव व दूर-दराज के इलाकों के लोगों को सर्प दंश के बाद सीधे अस्पताल जाने के लिए प्रेरित किया जाय। बोले, यह बात प्रकाश में आई है कि सर्प दंश के बाद कई पीडि़तों की मौत सिर्फ इसलिए हो जाती है कि वे बचाव के लिए इंजेक्शन लगवाने के बजाय झाड़-फूंक का सहारा लेने लगते हैं।

कटान स्थलों का निरीक्षण

बैरिया प्रतिनिधि के अनुसार प्रभारी मंत्री अनिल राजभर ने राज्यमंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल व बैरिया विधायक सुरेन्द्र सिंह के साथ गंगा व घाघरा के कटान स्थलों का निरीक्षण किया व कटानरोधी कार्यों को देखा। मौके पर मौजूद अधिकारियों को हर हाल में कटानरोधी कार्य पूरा करने को कहा। कहा कि बीएसटी बन्धा व एनएच-31 की सुरक्षा सुनिश्चित होनी चाहिए। इसके बाद घाघरा के कटान स्थल अटगांवा पहुचे मंत्री द्वय ने टूटे टी-स्पर को लेकर अधिशासी अभियंता संजय मिश्र से सवाल जवाब किये। 

दुबेछपरा पहुंचे दोनों मंत्रियो ने चल रहे कटानरोधी कार्य का निरीक्षण किया। निरीक्षणोपरांत पीएम इन्टर कालेज में बाढ़ खण्ड के अधिकारियों के साथ बैठक की। कहा कि डेंजर प्वाइंट पर विशेष नजर रखी जाए। इस मौके पर जिलाधिकारी श्रीहरिप्रताप शाही व भाजपा जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू भी मौजूद थे।

मझौंवा प्रतिनिधि के अनुसार गंगा नदी के हुकुम छपरा घाट पहुंचे प्रभारी मंत्री ने बैराज खंड के अधिकारियों से कार्य के प्रगति की जानकारी ली। एक पखवारे में कार्य पूरा समाप्त करने का निर्देश दिया। कहा कि कटानरोधी कार्य में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान गंगापुर डगरा के समीप पिछले एक माह से बंद पड़े कार्य पर नाराजगी जताई और ठेकेदार के विरुद्ध कार्रवाई का आश्वासन दिया। वहीं मौके पर मौजूद एसडीओ कमलेश कुमार से ठेकेदार पर कार्रवाई न किये जाने को लेकर नाराजगी जताई। क्षेत्रीय विधायक सुरेंद्र ङ्क्षसह ने भी लापरवाह ठेकेदारों के खिलाफ तत्काल करवाई करने को कहा। उधर मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने कहा कि इस बाबत क्षेत्रीय विधायक व राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला से कई बार शिकायत की गई है लेकिन ठेकेदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.