प्रश्न-पहर : भ्रम में न रहें छात्र, करें तैयारी, कोविड के प्रोटोकॉल संग होगी परीक्षाएं

प्रश्‍न पहर में शामिल क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय के अपर सचिव सतीश सिंह

यूपी बोर्ड के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षार्थी भ्रम में न रहें। परीक्षाएं होंगी। वह भी कोविड-19 के प्रोटोकॉल के संग। परीक्षा की नई तिथि की घोषणा इसी माह में होने की संभावना है। शासन स्तर पर विचार-विमर्श किया जा रहा है।

Saurabh ChakravartyTue, 06 Apr 2021 08:26 PM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। यूपी बोर्ड के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षार्थी भ्रम में न रहें। परीक्षाएं होंगी। वह भी कोविड-19 के प्रोटोकॉल के संग। परीक्षा की नई तिथि की घोषणा इसी माह में होने की संभावना है। शासन स्तर पर विचार-विमर्श किया जा रहा है। परीक्षाएं पूरी शुचिता के साथ होगी। ऐसे में अब भी मौका है। परीक्षार्थी पूरी ईमानदारी के साथ तैयारी में जुट जाय।

यह बात क्षेत्रीय यूपी बोर्ड कार्यालय, वाराणसी परिक्षेत्र के अपर सचिव सतीश सिंह मंगलवार को दैनिक-जागरण के प्रश्न-पहर नामक कार्यक्रम में पाठकों के सवालों का जवाब के क्रम में कही। नदेसर स्थित जागरण कार्यालय में फोन से छात्र-छात्राओं, अभिभावकों व शिक्षकों के प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए बोर्ड ने हाईस्कूल व इंटर के पाठ्यक्रमों 30 फीसद की कटौती कर दी है। ऐसे में सिलेबस का आकार छोटा कर दिया गया है। महामारी का प्रकोप कम होते ही अक्टूबर 2020 विद्यालय खोल दिए गए थे। अक्टूबर से लगातार विद्यालयों में पढ़ाई हुई है। इसके अलावा छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन प्लेटफार्म भी उपलब्ध कराए गए हैं। विषय विशेषज्ञों का लेक्चर यू-ट्यूब पर ई-गंगा के नाम से अपलोड है। स्वयं प्रभा व डीडी चैनल पर वर्चुअल क्लास भी चलाए गए हैं। समय-समय पर विद्यालयों से सीधे फीड बैक भी लिया गया। ऐसे में पढ़ाई में कोई समझौता नहीं किया गया है। इसी प्रकार परीक्षा की शुचिता से भी कोई समझौता नहीं होगा। वायस रिकार्डरयुक्त सीसी टीवी कैमरा वाले विद्यालयों को ही परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इसके अलावा मुख्यालय व जनपद स्तर पर कंट्रोल रूम बनाए जाएंगे। जनपद, मंडल, परिक्षेत्र व राज्यस्तर पर सचल दस्ते गठित किए जाएंगे ताकि परीक्षा की पवित्रता बनी रहे।

-कोरोना महामारी तेजी से फैल रही है, इन परिस्थतियों में परीक्षा होगी या नहीं ?

- हर हाल में परीक्षाएं होंगी। परीक्षार्थियों को शारीरिक दूरी के मानक के अनुसार सीटिंग प्लान तैयार कराया जाएगा।

- यूपी बोर्ड में नकल की चर्चा भी खूब सुनाई देती है। इसे रोकने के लिए बोर्ड क्या कदम उठा रहा है। ?

- यह आपका भ्रम हैं। विद्यालयों में वायस रिकार्डरयुक्त सीसी टीवी कैमरा लग जाने के बाद अब परीक्षाओं में नकल पूरी तरह से रूक गई है। कुछ अपवाद को छोड़ दे। पूरे साल बोर्ड का पूरा ध्यान पठन-पाठन की गुणवत्ता को लेकर रहा है। परीक्षा के समय पूरा ध्यान नकल रोकने पर होगा। मैं विश्वास दिलाता हूं परीक्षाएं पूरी शुचिता के साथ होगी। गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ बोर्ड सख्त कार्रवाई करेगा।

- परीक्षाओं में कक्ष निरीक्षक की कमी देखी जाती है। इसके लिए आप क्या कर रहे हैं ?

- माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों की कमी काफी हद तक दूर हो गई है। अब कक्ष निरीक्षकों की कमी नहीं होगी। फिर भी कक्ष निरीक्षकों की नियुक्ति के लिए अभी से मंथन शुरू कर दिया गया है। सभी जिलों से शिक्षकों की सूची मांगी गई है। इसके बाद भी कक्ष निरीक्षक कम पड़े तो बेसिक शिक्षा विभाग से सहयोग लिया जाएगा।

- आवेदन करने वाले नए विद्यालयों को मान्यता कब तक मिलेगी ?

- नए विषयों व इंटर की मान्यता के लिए आवेदन करने वाले सभी विद्यालयों के फाइलों का निस्तारण हो चुका है। सत्र-2020-21 में वाराणसी परिक्षेत्र के 15 जिलों में 206 विद्यालयों को मान्यता दी गई है। वहीं बोर्ड से पहली बार हाईस्कूल स्तर की मान्यता के लिए आवेदन करने वाले 97 विद्यालयों की फाइलें अब भी लंबित है। उच्च न्यायालय में पीआइएल दाखिल होने के कारण हाईस्कूल स्तर पर मान्यता लंबित है। जल्द ही निस्तारित होने की संभावना है।

- मान्यता के लिए आवेदन कब से मिलेगा ?

- नए विषयों व विद्यालयों की मान्यता के आवेदन एक अप्रैल से ही ऑनलाइन है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 मई निर्धारित है। विलंब शुल्क के साथ 31 मई तक आवेदन किए जा सकते हैं। मान्यता की शर्ते यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड है।

- बलिया में एक विद्यालय तथ्यों को छिपाकर मान्यता ले लिया है। इस संबंध शिकायत की, फिर भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

- इस संबंध में आप क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय, वाराणसी में भी शिकायत दर्ज कराए। इसकी जांच कराई जाएंगी। यदि आरोप सत्य निकला तो संबंधित विद्यालय की मान्यता समाप्त कर दी जाएगी।

इन्होंने पूछे सवाल

आकांक्षा राय (आजमगढ़),  प्रियांशु दुबे (मीरजापुर), अंशुमाल मालवीय (महमूरगंज), मोहनी (गाजीपुर), रमेश दीक्षित (आजमगढ़), डा. पुष्पेंद्र सिंह (मीरजापुर), सुरभि पांडेय (मीरजापुर), सुनील दुबे (निराला नगर), रौनक कुशवाहा (अलईपुर), अभिषेक (चोलापुर), नीता गोस्वामी (शिवपुरवा), प्रिंस चौहान (धरौहरा), विनीता श्रीवास्तव (अशोक नगर) प्रिंस प्रजापति (बड़ागांव), प्रिंस कुमार (जौनपुर),हरिशंकर (आजमगढ़), प्रेम नारायण पाठक (मऊ), अमरेश पांडेय (मीरजापुर), अभिनव पांडेय (चंदौली), रोशन यादव (आजगमढ़), श्रेया राय (आजमगढ़), अनिल कुमार (गाजीपुर), चंदन कुमार गुप्ता (जौनपुर), आशीष यादव (आजमगढ़), लल्लन पांडेय (बलिया), योगेेश ङ्क्षसह (चंदौली), जय प्रकाश पांडेय (आजमगढ़), लल्लन पांडेय (बलिया)।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.