आजमगढ़ जिला अस्पताल में इलाज के दौरान बंदी की मौत, खाद्यान्न घोटाले के आरोप में रहा जेल में

आजमगढ़ जिला अस्पताल में इलाज के दौरान बंदी की मौत हो गई।

आजमगढ़ जिला कारागार में निरुद्ध बंदी की सोमवार की देर रात जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। उसे चार दिन पूर्व तबीयत खराब होने पर जेल प्रशासन ने अस्पताल में भर्ती कराया था। बलिया कमल (70) आजमगढ़में खाद्यान्न विभाग में मार्केटिंग इंस्पेक्टर के पद पर तैनात थे।

Publish Date:Wed, 27 Jan 2021 10:26 AM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

आजमगढ़, जेएनएन। जिला कारागार में निरुद्ध बंदी की सोमवार की देर रात जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। उसे चार दिन पूर्व तबीयत खराब होने पर जेल प्रशासन ने अस्पताल में भर्ती कराया था।

बलिया जिला के ऊभांव थाना क्षेत्र के बेल्थरा रोड स्थित बासपार बहुरहवा गांव निवासी कमल (70) वर्ष 2005-2006 आजमगढ़ के लालगंज में खाद्यान्न विभाग में मार्केटिंग इंस्पेक्टर के पद पर तैनात थे। उसी दौरान उनके ऊपर खाद्यान्न घोटाले का आरोप लगा था। जांच के दौरान वे  रिटायर होने के बाद अपने घर चले गए थे। 3 वर्ष पूर्व ही लगभग 2017 में विभागीय जांच में खाद्यान्न घोटाला साबित हो जाने पर उन्हें जेल भेज दिया गया था।  तभी से वे जिला कारागार में निरुद्ध थे। बंदी को क्या परेशानी थी, यह स्पष्ट नहीं हो सका है। हालांकि कोर्ट से उसे दोषी नहीं ठहराया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.