पिछली सरकारों ने प्रदेश को बनाया दंगा ग्रस्त और आर्थिक रूप से किया कमजोर, जौनपुर में बोले सीएम योगी आदित्‍यनाथ

2017 से पहले की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को दंगा ग्रस्त प्रदेश बनाने के साथ ही आर्थिक रूप से भी कमजोर कर दिया। 2017 के बाद भाजपा सरकार ने हर क्षेत्र में विकास करके और दंगा छेड़खानी जैसी घटनाओं पर अंकुश लगाकर यूपीको उत्तम प्रदेश बनाने का कार्य किया है।

Saurabh ChakravartyMon, 20 Sep 2021 06:02 PM (IST)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुंगराबादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के सार्वजनिक इंटर कॉलेज में सभा को संबोधित किया।

जागरण संवाददाता, जौनपुर। 2017 से पहले की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को दंगा ग्रस्त प्रदेश बनाने के साथ ही आर्थिक रूप से भी कमजोर कर दिया। 2017 के बाद भाजपा सरकार ने हर क्षेत्र में विकास करके और दंगा, छेड़खानी जैसी घटनाओं पर अंकुश लगाकर उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने का कार्य किया है। यह बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुंगराबादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के सार्वजनिक इंटर कॉलेज में ढाई सौ करोड़ की परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण समारोह के दौरान कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में मुगरा विधानसभा में चूक हुई, जिसका परिणाम है कि आज यहां की स्थिति बदतर है। दल-बदलू विधायक ने जनता पर ध्यान न देकर विधानसभा को विकास से रोक दिया। कहा कि राजनीत हर व्यक्ति की इच्छा शक्ति से होती है, लेकिन जनता के साथ खिलवाड़ करने वाला जनप्रतिनिधि ठीक नहीं। आज मुझे कहने में कोई संकोच नहीं है कि जौनपुर के भाजपा विधायकों ने मेहनत करके न सिर्फ अपने क्षेत्र की बल्कि पूरे जौनपुर की चिंता कर जिले को विकास के पथ पर आगे बढ़ाया। कहां कि आज केंद्र व प्रदेश सरकार योजनाओं का संचालन सभी के लिए कर रही है। न चेहरा देख रही है न जाति पूछी जा रही है। पिछली सरकारों ने हर जाति के लिए कार्य किया। कहा कि आज सभी को राशन दी जा रही है, लेकिन सपा सरकार में ऐसा नहीं हो रहा था। जनता का राशन हड़पने की कोशिश की गई। बहन जी की सरकार में हाथी का पेट ही इतना बड़ा था कि सभी योजनाएं उसकी पेट में ही समा जाती थीं। आज भाजपा सरकार बिना भेदभाव के कार्य कर रही है। 2017 से पहले बिजली मात्र 4 जनपदों में भरपूर मिलती थी, अन्य जनपदों में इसका कोई लाभ नहीं मिल पाता था। न सड़कें बनती थी न कानून व्यवस्था दुरुस्त था। कहा कि पहले छेड़खानी दंगा के रूप में उत्तर प्रदेश की पहचान थी, जबकि आज उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश हो गया है। कोरोना महामारी के काल में भी हमने सतर्क रहते हुए दुर्गापूजा व रामलीला के आयोजन की अनुमति दी है। पहले कोरोना जैसी बीमारी नहीं थी फिर भी न दुर्गापूजा के आयोजन होते थे न रामलीला होती थी। मूर्ति विसर्जन के दौरान हिंसा आम बात थी। स्थिति यह बनती थी कि भक्तों को मूर्तियां छोड़कर भागना पड़ता था, लेकिन आज ऐसा नहीं हो रहा है। कहा कि 2017 जौनपुर का मेडिकल कॉलेज 2017 के पहले का है, लेकिन यहां निर्माण नहीं हो सका।

आज हमें बताते हुए खुशी हो रही है कि जल्द ही उमानाथ सिंह राजकीय मेडिकल कॉलेज का शुभारंभ होगा। प्रधानमंत्री के कर कमलों द्वारा इसका उद्घाटन कराया जाएगा। सरकार सबका साथ सबका विकास के साथ काम कर रही है। प्रधानमंत्री तक जन-जन तक योजनाओं को पहुंचाने को लेकर गंभीर हैं। हर योजनाओं की समीक्षा खुद करते हैं। पहले डेंगू, बाढ़ सहित आदि बीमारियों या आपदा की स्थिति में सैफई परिवार सैफई में नाच गाना कराते हुए खुशी मनाते थे। उनको प्रदेश की चिंता नहीं रहती थी, लेकिन आज सरकार हर तरफ देख रही है। कांग्रेस के समय में चीन के हमले पर चुप रहने को कहा जाता था। आज चीन को हमारी सेना खदेड़ दे रही है। कहां थी जौनपुर कीमती इत्र की पहचान पूरे देश में बनाने को हमारी सरकार प्रतिबद्ध है। इसके पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, जिले के प्रभारी मंत्री उपेंद्र तिवारी, राज्य मंत्री गिरीश चंद यादव, राज्यसभा सांसद सीमा द्विवेदी ने भी जनसभा को संबोधित किया। साथ ही मुख्यमंत्री ने ढाई सौ करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.