वाराणसी जिले में लगी कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज, आधे घंटे तक निगरानी में रखे गए लोग

कोरोना वैक्‍सीन के वाराणसी पहुंचने के बाद अब लोगों को वैक्‍सीन लगनी भी शुरू हो गई है।

लंबे इंतजार के बाद कोरोना वैक्‍सीन के वाराणसी पहुंचने के बाद अब लोगों को वैक्‍सीन लगनी भी शुरू हो गई है। वाराणसी जिले में जिला महिला अस्पताल-कबीरचौरा आइएमएस-बीएचयू पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय हेरिटेज मेडिकल कालेज सीएचसी काशी विद्यापीठ सीएचसी सेवापुरी पर चयनित लोगों को लगाई जा रही है।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 10:10 AM (IST) Author: Abhishek sharma

वाराणसी, जेएनएन। साल भर के इंतजार के बाद कोरोना वैक्‍सीन के वाराणसी पहुंचने के बाद अब लोगों को वैक्‍सीन लगनी भी शुरू हो गई है। वाराणसी जिले में जिला महिला अस्पताल-कबीरचौरा, आइएमएस-बीएचयू, पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय, हेरिटेज मेडिकल कालेज, सीएचसी काशी विद्यापीठ, सीएचसी सेवापुरी पर चयनित लोगों को लगाई जा रही है। सीएमएस डॉ वी के शुक्ला, दीनदयाल अस्पताल पांडेयपुर ने कोरोना का टीका सबसे पहले लगवाया। महिला अस्पताल में टीकाकरण सूची में पहला नंबर अजीत कुमार मिश्रा का रहा, अजीत महिला अस्पताल के एसएनसीयू में डीईओ पद पर तैनात हैं। कोविन एप में आनलाइन जानकारी दर्ज करने के बाद टीकाकरण के रिकार्ड कार्ड पर भी जानकारी दर्ज की गई। 

इससे पूर्व महिला अस्पताल कोल्ड चेन पॉइंट की इंचार्ज डॉ. बिंदु देवी पूरी सुरक्षा के साथ टीकाकरण केंद्र पर वैक्सीन लेकर पहुंचीं। वैक्सिनेटर रानी कुमारी और सहायक दीपा श्रीवास्तव को डब्‍ल्‍यूएचओ प्रतिनिधि ने हिदायत दी। वहीं सीएचसी मिसिरपुर (काशी विद्यापीठ) में वैक्सीन कक्ष में टीकाकरण के लिए मौजूद एएनएम पूनम व राना ने तैयारियां परखीं। सीएचसी मिसिरपुर (काशी विद्यापीठ) में टीकाकरण के बाद लाभार्थियों के लिए बने एईएफआइ मैनेजमेंट रूम व आब्जर्वेशन रूम की भी तैयारियां अंतिम रूप से परखी गईं। वहीं बीएचयू स्थित सर सुंदर लाल अस्पताल के डॉक्टर लॉन्ज में मीडिया को जाने से रोक दिया गया। 

सीएचसी मिसिरपुर (काशी विद्यापीठ) पर पहुंचे स्टैटिक मजिस्ट्रेट मणि मोहन ओझा ने नोडल अधिकारी डा. नवीन सिंह से लेतैयारियों की जानकारी ली। हाथी स्‍वास्‍‍‍‍थ्‍य केंद्र पर सुबह आठ बजे ही वैक्सीन पहुंच गए, इस बाबत डॉक्टर यतीश पाठक ने तैयारी पूरी होने की जानकारी दी।सीएचसी हाथीपुर पर सेवापुरी ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर सुधाकर सिंह पहुंचे और सुरक्षा का जायजा लिया। वहीं जिन लोगोंं को वैक्‍सीन का टीका लगना है जिलाधिकारी वाराणसी ने उनसे बात की।

रखी जाएगी सेहत की निगरानी 

पं. दीनदयाल उपाध्‍‍‍‍‍याय के डॉक्टरों ने बताया कि वैक्सीन लगाने के बाद एक दो दिन तक बुखार और दर्द की समस्या हो सकती है। हालांकि, इससे घबराने की जरूरत नहीं है। यदि किसी मरीज को घबराहट और बेचैनी हो तब उसे होस्पिटलाइज करने की आवश्यकता होगी। फिलहाल कोरोना का टीका लगाने के बाद सभी लोगों को 30 मिनट तक निगरानी में रखा जाएगा और उसके बाद घर भेज दिया जाएगा। हालांकि, घर भेजे जाने के बाद भी सभी के सेहत पर निगरानी बनी रहेगी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.