मध्‍य प्रदेश के चोरों को यूपी में ट्रैक करेगी पुलिस, मप्र में अपराधियों के पक्ष में ग्रामीण करते हैं पत्थरबाजी

मध्यप्रदेश में राजगढ़ जिले के कड़ियासांसी गांव के चोरों को पकड़ने के लिए मीरजापुर की पुलिस टीम फिलहाल वहां नहीं जाएगी। इसे लेकर नई रणनीति अपनाते हुए अब पुलिस उन्हें पूर्वांचल के जनपदों में ही ट्रैक कर गिरफ्तार करेगी।

Abhishek SharmaWed, 16 Jun 2021 01:37 PM (IST)
पुलिस उन्हें पूर्वांचल के जनपदों में ही ट्रैक कर गिरफ्तार करेगी।

मीरजापुर, जेनएन। मध्यप्रदेश में राजगढ़ जिले के कड़ियासांसी गांव के चोरों को पकड़ने के लिए मीरजापुर की पुलिस टीम फिलहाल वहां नहीं जाएगी। इसे लेकर नई रणनीति अपनाते हुए अब पुलिस उन्हें पूर्वांचल के जनपदों में ही ट्रैक कर गिरफ्तार करेगी। इसके लिए विभिन्न जनपदों की पुलिस को सीसीटीवी फुटेज व मोबाइल नंबर भेजे गए हैं। साथ ही बैंक व बरातों में नजर रखने के लिए कहा गया है।

बीते आठ जून को एक्सिस बैंक के अंदर से 50 लाख रुपये से भरा बैग लेकर युवक फरार हो गए थे। इनकी शिनाख्त कर पुलिस ने मध्यप्रदेश में राजगढ़ जिले स्थित बोडा थाना क्षेत्र के कड़ियासांसी गांव में दबिश देकर 35 लाख रुपये तो बरामद कर लिए, लेकिन आरोपितों को गिरफ्तार करना उनके लिए काफी मुश्किलभरा है। पुलिस के मुताबिक आरोपितों को गांव से पकड़ने पर वहां बड़ी संख्या में लोग लामबंद होकर विरोध में पत्थरबाजी करने लगते हैं। इस मामले में स्थानीय पुलिस भी बेबस है। ऐसे में वहां की पुलिस का अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा है। साथ ही स्थानीय लोग मुखबिरी भी कर रहे हैं।इसके कारण अपराधियों की गिरफ्तारी कड़ियासांसी गांव से करना संभव नहीं है। इसके कारण अधिकारियों ने फिलहाल कुछ दिनों के लिए पुलिस टीम को मध्यप्रदेश भेजने का निर्णय टाल दिया है। अब अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए नई रणनीति अपनाई गई है। इसके लिए चंदौली, भदोही, सोनभद्र, प्रयागराज, जौनपुर, आजमगढ़ समेत पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों को अपराधियों के सीसीटीवी फुटेज, मोबाइल नंबर व अन्य जानकारियां उपलब्ध कराई गई है।

कड़ियासांसी गांव के अधिकांश लोग करते अपराध

मीरजापुर : 2500 आबादी वाले कड़ियासांसी गांव में अधिकांश लोग चोरी करने के साथ ही विभिन्न अपराधों में लिप्त हैं। इसके चलते वहां किसी को पकड़ा नहीं जा सकता है। एक आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस जाती है तो पूरा गांव लामबंद होकर विरोध में पत्थरबाजी करने लगता है। इसके कारण अपराधी बच निकलते हैं। उनके आगे वहां की पुलिस भी बेबस है। कड़ियासासी गांव के लोग देश के विभिन्न प्रदेशों में जाकर बैंक, शादी- विवाह कार्यक्रम व सेठों के यहां चोरी करने का काम करते हैं जिससे उनको मोटी रकम मिल सके।

बोले अधिकारी - "अपराधियों की गिरफ्तारी मध्यप्रदेश के कड़ियासासी गांव से करना मुश्किल है। ऐसे में अब उन्हें पूर्वांचल के जनपदों में ही ट्रैक किया जाएगा। इसके लिए विभिन्न जनपदों को सीसीटीवी फुटेज समेत अन्य जानकारियां उपलब्ध कराई जा रही है। - संजय कुमार वर्मा, अपर पुलिस अधीक्षक नगर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.