top menutop menutop menu

कानपुर घटना के आरोपित विकास की खोज में दबिश, पुलिस ने वारणसी व कई जिलों में होटलों को खंगाला

वाराणसी, जेएनएन। यूपी के मोस्टवांटेड पांच लाख का इनामी व कानपुर घटना के मुख्‍य आरोपित विकास दुबे की तलाश में अब पूर्वांचल की पुलिस भी सक्रिय हो गई है। इसी क्रम में बुधवार को वाराणसी, चंदौली और गाजीपुर के विभिन्‍न होटलों की तलाशी ली गई। स्थानीय कोतवाली पुलिस ने  गैंगस्टर विकास दुबे की खोज में पीडीडीयू नगर के विभिन्न होटलों में दबिश दी। इस दौरान पुलिस ने नगर के होटल, लाज, गेस्टहाउस के सभी कमरों की तलाशी ली गई और होटलों में ठहरे हुए सभी लोगों की आइडी चेक की गई। पुलिस का कहना है कि नगर में लगभग 20 होटल, गेस्टहाउस व लॉज है। सभी में बाहर से आए हुए लगभग 50 लोगों की तलाशी ली गई है। हालांकि अभी तक विकास के बारे में कोई सूचना हाथ नहीं है।

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे की तलाश में बुधवार की देर शाम वाराणसी कैंट जीआरपी ने स्टेशन परिसर को खंगाला। दो टीमें बनाकर स्टेशन कोने-कोने की छानबीन की गई। कैंट स्टेशन से गुजरने वाली हर ट्रेनों की तलाशी ली गई। इतना ही नहीं, बीते दो दिनों का सीसीटीवी फुटेज भी जीआरपी के इंस्पेक्टर एके दुबे ने देखा।

हालांकि, पूरी कार्रवाई को जीआरपी ने सावन माह के मेले से जोड़ कर बताया। इंस्पेक्टर एके दुबे ने कहा कि प्रदेश में हुई अपराधिक घटनाओं के साथ ही सावन मेले के मद्देनजर कैंट स्टेशन परिसर में तलाशी अभियान चलाया गया था जिसके लिए दो टीमें बनाई गई थीं। एक टीम को वे खुद लीड कर रहे थे तो दूसरी को गीता राज कर रही थीं। हालांकि, खुफिया विभाग को सतर्क करने के साथ ही सादे वेश में भी जवानों की तैनाती कहानी के पीछे कई और राज को बयां कर रही थी। पुलिस को आशंका है कि विकास दुबे बिहार के रास्ते नेपाल भाग सकता है। ऐसे में कैंट स्टेशन तक किसी ट्रेन से आने की आशंका भी है जिसको लेकर जीआरपी भी सतर्क हो गई है।

एमपी सीमा सील, विंध्याचल, चुनार के होटलों, गेस्टहाउस में जांच अभियान

मीरजापुर में भी विकास दुबे की तलाश में पुलिस ने बड़ा अभियान छेड़ा है। पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह की अगुवाई में बुधवार को मध्य प्रदेश की सीमा पर सघन चेकिंग शुरू की गई। साथ ही यहां चौबीसों घंटे जांच के लिए सीओ स्तर के अधिकारी की रोटेशन प्रणाली पर ड्यूटी लगाई गई है। जनपद की मध्य प्रदेश सीमा से लगे जरखुर बार्डर व हनुमना बार्डर पर वाहनों की सघन वाहन चेकिंग की जा रही है। हर संभावित जगहों पर होटलों पर छापेमारी की जा रही है। चेकिंग व छापेमारी के लिए 24 घंटे के रोटेशन में क्षेत्राधिकारी स्तर के अधिकारी के नेतृत्व ड्यूटी लगाई गई है।

 

सीमाएं सील, जांच एजेंसियां सक्रिय

गैंगस्टर विकास को लेकर सीमाएं सील कर दी गई है। सभी आने-जाने वालों पर पैनी नजर रखी जा रही हैं। इसके लिए जांच एजेंसियों को भी लगाया गया है। जांच एजेंसियों से मिले इनपुट के आधार पर स्थानीय पुलिस कार्रवाई करेगी। पुलिस की पूरी टीम विकास को खोजने में लग गई है। आजमगढ़ में इस बदमाश को कहीं ठौर न मिले इसके लिए पुलिस जगह-जगह पोस्टर चस्पा कर रही है। इसी के साथ ही एसपी के निर्देश पर पुलिस ने जिले के सभी होटल, धर्मशाला आदि स्थानों पर छापेमारी कर तलाश शुरू कर दी है।

जंक्शन पर भी अलर्ट, हर गतिविधि पर पैनी नज़र

पीडीडीयू जंक्शन पर गैंगस्टर विकास दुबे को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। बिहार जाने वाली सभी ट्रेनों की निगरानी की जा रही है। आरपीएफ टीम ट्रेनों को लगातार चेक कर रही है। सीसीटीवी कंट्रोल रूम को भी अलर्ट कर दिया गया है। किसी भी व्यक्ति पर संदेह होने पर उसकी यात्रा तत्काल प्रभाव से रोक दी जायेगी। जांच होने के बाद ही उसे आगे की यात्रा की अनुमति मिलेगी।

गाजीपुर में आधा दर्जन से अधिक होटल में ताबड़ताेड़ छापेमारी

गाजीपुर की पुलिस ने नगर स्थित आधा दर्जन से अधिक होटल में ताबड़ताेड़ छापेमारी की। होटल का रजिस्टर खंगालने के साथ ही एक-एक कमरे की सघन तलाशी ली। पुलिस के इस औचक कार्रवाई से होटल संचालकों में खलबली मच गई। वहीं होटल में रुके लोग सहम गए। सभी को सचेत करते हुए पुलिस एक-एक कमरे सहित बाथरुम को भी चेक किया। वहीं होटल के मैनेजर को सख्त हिदायत दी कि अगर कोई अनजान व्यक्ति होटल में आता है तो इसकी तत्काल सूचना पुलिस को देने के साथ ही उसके आवश्यक कागजात भी लिए जाए। होटल के आसपास अगर कोई संदिग्ध नजर आए तो भी पुलिस को तुरंत सूचित करें। सभी होटल में विकास दुबे की फोटो भी सर्कुलेट की गई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.