पीएम-सीएम आवासीय योजना : वाराणसी में अबकी 5187 गरीबों को मुहैया होगी छत, पिछले वित्तीय वर्ष से कम हुआ लक्ष्य

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास का लक्ष्य इस वित्तीय वर्ष का आवंटित कर दिया गया है। हालांकि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष आवास के लक्ष्य को काफी कम किया गया है। इसके पीछे कोविड-19 संक्रमण वजह बताई जा रही है।

Saurabh ChakravartySun, 20 Jun 2021 09:57 PM (IST)
प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास का लक्ष्य इस वित्तीय वर्ष का आवंटित कर दिया गया है।

वाराणसी, जेएनएन। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास का लक्ष्य इस वित्तीय वर्ष का आवंटित कर दिया गया है। हालांकि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष आवास के लक्ष्य को काफी कम किया गया है। इसके पीछे कोविड-19 संक्रमण वजह बताई जा रही है। हालांकि बाद में इसे रिवाइज करने की उम्मीद भी जताई जा रही है। पिछले वित्तीय वर्ष में भी आवास के लक्ष्य में कई बार बदलाव किया गया था।

फिलहाल प्रधानमंत्री आवास के लक्ष्य के मुताबिक जिले में इस बार 5037 आवास बनेंगे। पिछले वर्ष 7783 आवास बनाने का लक्ष्य आवंटित हुआ था। इसमें लगभग सभी को तीसरी किस्त की धनराशि भी जारी की जा चुकी है। मतलब आवास का लक्ष्य लगभग शत-प्रतिशत पूरा हो चुका है। इस वित्तीय वर्ष के आवंटित लक्ष्य में 1325 आवास इस बार चोलापुर ब्लाक में बनेगा।

सबसे कम यानी 105 आवास ब्लाक विद्यापीठ में बनेंगे। आराजीलाइन में 629 आवास का निर्माण होगा। बड़ागांव में 928, ब्लाक चिरईगांव में 411, हरहुआ ब्लाक में 434, ङ्क्षपडरा में 748 व सेवापुरी ब्लाक में 457 आवास का निर्माण होगा। ब्लाक काशी विद्यापीठ में कम आवास के लक्ष्य आवंटन की वजह ज्यादा गांवों का शहर में शामिल होना बताया जा रहा है।

इसी प्रकार मुख्यमंत्री आवास का भी लक्ष्य शासन से आवंटित कर दिया गया है। इस बार 150 आवास निर्माण का ही लक्ष्य रखा गया है जबकि पिछले वित्तीय वर्ष में 613 आवास का टारगेट वाराणसी को दिया गया था। आवास कम आवंटन की वजह अफसरों को भी समझ में नहीं आ रहा है लेकिन इतना जरूर बताया जा रहा है कि इसमें आगे जाकर बदलाव संभव है।

मुख्यमंत्री आवास का आवंटित लक्ष्य

आराजीलाइन - 06

बड़ागांव -00

चिरईगांव -01

चोलापुर -01

हरहुआ - 29

काशी विद्यापीठ - 00

पिंडरा -65

सेवापुरी -48

पीएम, सीएम आवासीय योजना

-आवास निर्माण को मिलता है 1.20 लाख

-तीन किस्तों में जारी होती है धनराशि

-शौचालय निर्माण को अलग से 12,000

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.