फर्जी नंबर प्लेट पर सड़कों पर दौड़ रही Overload Truck, जुर्माना और चालान से बचने की कोशिश

तीन दिन के अंदर मंडुआडीह और रामनगर पुलिस ने नौ ट्रकों को फर्जी नंबर प्लेट के साथ पकड़ा है।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 08:21 AM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

वाराणसी, जेएनएन। ओवरलोड ट्रकों पर जुर्मान बढऩे के साथ परिवहन विभाग ने शिकंजा कसना शुरू किया तो ट्रक मालिकों और चालकों ने दूसरा रास्ता निकाल लिया। जुर्माना और चालान से बचने के लिए फर्जी नंबर का सहारा लेना शुरू कर दिया जिससे चालान होने पर ओवरलोड ट्रकों पर कोई कार्रवाई नहीं हो। तीन दिन के अंदर मंडुआडीह और रामनगर पुलिस ने नौ ट्रकों को फर्जी नंबर प्लेट के साथ पकडऩे के साथ सीज कर दिया है। साथ में चालकों और परिचालकों को जेल भी भेज दिया है। सच्चाई यह है कि सड़कों पर ज्यादातर ओवरलोड ट्रकें फर्जी नंबर प्लेट लगाकर सड़कों पर दौड़ रही हैं। उनके खिलाफ पुलिस और परिवहन विभाग कार्रवाई करने में विफल है।

पिछले दो दशक में ओवरलोड ट्रकें तेजी से चलनी शुरू हुई तो पुलिस और परिवहन विभाग ने इसे अपने कमाई का जरिया बना लिया। ओवरलोड ट्रकों से महीना बांधकर अधिकारियों ने करोड़ों रुपये कमाए। वहीं, ओवरेलोड ट्रकों के चलने से सड़कें खराब होती रही। एनएचआई और लोकनिर्माण विभाग ओवरलोड ट्रकों से सड़कें खराब होने के साथ पत्राचार करता रहा लेकिन इन दोनों विभागों पर कोई फर्क नहीं पड़ा। सिर्फ कागजी घोड़ा दौड़ता रहा। ओवरलोड ट्रकों पर शिकंजा कसने के लिए भाजपा सरकार ने जुर्माना राशि कई गुना बढ़ाया तो उनके होश उड़ गए। चालान और जुर्माना से बचने के लिए ट्रक मालिकों और चालकों ने नंबर प्लेट पर कालीख पोतने के साथ फर्जी नंबर लिखने। अब तो उन्होंने हद कर दी। कई फर्जी नंबर प्लेट बनवाकर अपने पास रखने लगे।

हर जिले का रखते हैं नंबर प्लेट

परिवहन विभाग के भ्रष्ट अफसरों में एक ईमानदारी है। वे जिस जिले में तैनात होते हैं वहां की गाडिय़ों की चेकिंग कम करते हैं। वह इस लिए करते हैं कि लोकल गाड़ी रोकने पर बवाल होगा। गाड़ी मालिक तुरंत मौके पर आ जाएगा। इसका फायदा उठाते हुए ओवरलोड ट्रक मालिकों और चालकों ने जिस जिले से गुजरना हैं वहां का फर्जी नंबर प्लेट बनाकर रखने लगे। जिले में प्रवेश करते हैं वहां का नंबर प्लेट लगा लेते हैं जिससे उन्हें कोई रोके नहीं है।

टोल प्लाजा पर लगाते हैं फर्जी नंबर

ओवरलोड ट्रकों पर शिकंजा कसने के लिए शासन ने परिवहन विभाग को निर्देश दिया कि टोल प्लाजा से गुजरने वाले ट्रकों के नंबर की सूची लेकर उनका चालान करें। सूची के आधार पर परिवहन विभाग ने चालान करना शुरू किया तो मालूम चला कि बाइक, आटो रिक्शा, कार का नंबर है। पहले तो अधिकारियों ने बाइक और कार पर 20 से 30 टन तक ओवरलोड का चालान कर जुर्माना कर दिया। अब वे गाडिय़ों के नंबर की जांच करने के बाद चालान करते हैं तो उसमें कई नंबर फर्जी मिलते हैं। 

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट से ओवरलोड ट्रकों को रोकने की तैयारी है

टोल प्लाजा से पास होने वाले ज्यादातर ओवरलोड ट्रकों के नंबर फर्जी होते हैं जिससे कार्रवाई करने में दिक्कत होती है। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट से ओवरलोड ट्रकों को रोकने की तैयारी है। विभाग ट्रक नंबर के आधार पर चालान और जुर्माना कर सकता है लेकिन फर्जी नंबर यानि धोखाधड़ी का मुकदमा पुलिस ही दर्ज करेगा।

-यूबी सिंह, आरटीओ (प्रवर्तन)

ओवरलोड ट्रकों व फर्जी नंबर प्लेट लगाकर चलने वाले ट्रक मालिकों और चालकों को बख्शा नहीं जाएगा

ओवरलोड ट्रकों व फर्जी नंबर प्लेट लगाकर चलने वाले ट्रक मालिकों और चालकों को बख्शा नहीं जाएगा। टीम गठित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। टीम ने मंडुआडीह में फर्जी नंबर लिखकर चलने वालों के खिलाफ कार्रवाई की है। 

-अमित पाठक, एसएसपी

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.