रेलवे में विकास की गाड़ी की न हो जाए चेन पुलिंग, मंथन करने के लिए सिर्फ छह सांसद पहुंचे Varanasi news

वाराणसी, जेएनएन। रेलवे की मंडलीय मीटिंग में सांसदों की अनुपस्थिति ने महत्वपूर्ण तैयारियों पर पानी फेर दिया। 38 में सिर्फ छह सांसद पहुंचे, वहीं 10 ने प्रतिनिधि भेजे। जबकि रेल प्रशासन ने इस मीटिंग को ऐतिहासिक बनाने की मुकम्मल तैयारियां की थीं। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में हुई महत्वपूर्ण मीटिंग में माननीयों का न पहुंचना लोगों में चर्चा का विषय भी बना रहा। पूर्वोत्तर रेल के महाप्रबंधक राजीव अग्रवाल ने बैठक में पहुंचे सांसदों का स्वागत करते हुए जोन में जारी विकास कार्यों की जानकारी संग प्रस्तावित रोडमैप की प्रस्तुति दी। सांसदों से सुझाव मांगते हुए संज्ञान लेने का भरोसा दिया। फिर सांसद, उनके प्रतिनिधियों ने अपने-अपने इलाके की जरूरतों, ट्रेनों के ठहराव, नई ट्रेनों के संचालन को लेकर प्रस्ताव दिए। महराजगंज (बिहार) के सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने रेलवे को धन्यवाद देते हुए दरौंदा-सीवान सवारी गाड़ी का समय बदलने, महाराजगंज-दरौंदा-छपरा पर नई ट्रेन चलाने समेत कई मांगें रखीं।
सांसद विजय दूबे ने कुशीनगर को पर्यटन स्थल बताते हुए रेलवे से सुविधाएं बढ़ाने की मांग उठाई। ट्रेन संख्या 55055/55056 को पडऱौना तक चलाने का प्रस्ताव दिया। सीवान की सांसद कविता सिंह ने सीवान जंक्शन पर बुनियादी सुविधाएं बढ़ाने एवं स्वचालित सीढिय़ों के अमूमन बंद रहने की बात कही। भदोही के रमेश चंद बिंद ने माधोसिंह स्टेशन पर बुनियादी सुविधाएं बढ़ाने, ज्ञानपुर रोड स्टेशन के सुंदरीकरण, लखनऊ के लिए ट्रेन चलाने, स्वचालित सीढिय़ां लगाने एवं ज्ञानपुर रोड स्टेशन का नाम डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी करने की मांग की। लालगंज की सांसद संगीता आजाद ने वाराणसी-आजमगढ़ वाया लालगंज नई रेल लाइन बिछाने, आजमगढ़ से राजधानी एक्सप्रेस चलाने, कैफिय़त एक्सप्रेस में पैंट्रीकार लगाने एवं आजमगढ़ से दिल्ली एवं मुबई के लिए प्रतिदिन ट्रेन चलाने का प्रस्ताव दिया। गाजीपुर के सांसद अफजाल अंसारी ने कहाकि विकास कार्य की जो भी रिपोर्ट दें, उसमें कार्य योजना, स्वीकृत धनराशि, लक्ष्यावधि और कार्य की क्रमबद्ध प्रगति अंकित रहे। ट्रेनों में सुरक्षा को चाक-चौबंद करने की पुख्ता रणनीति बनाने की मांग उठाई।
चंदौली सांसद के प्रतिनिधि उमेश दत्त पाठक ने रेलवे क्रॉसिंग संख्या 12-बी पर बने अंडरपास को बिना प्रयोजन का बताया। मिर्जापुर सांसद के प्रतिनिधि आनंद कुमार सिंह ने कटका, कछवां रोड एवं निगतपुर स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं संग शौचालय निर्माण का सुझाव दिया।
गोपालगंज के सांसद के प्रतिनिधि अरविंद कुमार ने गोपालगंज से लंबी दूरी की ट्रेन किसी भी महानगर को चलाने तथा थावे से गोपालगंज होते हुए पटना के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस चलाने का सुझाव दिया। महाराजगंज सांसद के प्रतिनिधि अजय श्रीवास्तव ने सिसवां बाजार स्टेशन पर रेलवे की कीमती जमीनों को साफ- सुथरा कर संरक्षित करने व अतिक्रमण से बचाकर व्यापरियों को किराये पर देने का प्रस्ताव दिया। गोरखपुर के समरेन्द्र विक्रम सिंह ने अपने छह बिंदु लिखित में दिए। गोरखपुर के राज्यसभा सांसद के प्रतिनिधि सुधीर जायसवाल ने गोरखपुर के प्लेटफार्म संख्या 9 को सड़क मार्ग से जोडऩे  का सुझाव दिया। बलिया के राज्यसभा सांसद प्रतिनिधि दीपक वर्मा ने बेल्थरा रोड एवं लाररोड स्टेशनों पर बापूधाम एवं शालीमार एक्सप्रेस को ठहराव देने का प्रस्ताव रखा। देवरिया सांसद के प्रतिनिधि रवींद्र प्रताप मल्ल ने देवरिया सदर में विगत वर्ष शुरू विभिन्न परियोजनाओं को पूरा कराने की बात कही। छपरा सांसद के प्रतिनिधि राजन ने गोरखपुर से चलने वाली हमसफर एक्सप्रेस को छपरा तक विस्तारित करने की मांग रखी। सलेमपुर के प्रतिनिधि देवेंद्र कुमार गुप्ता ने सलेमपुर में पुणे एवं दुर्ग एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की। बैठक से पूर्व महाप्रबंधक ने नवनिर्मित भारतेंदु सभागार का उद्घाटन किया गया। डीआरएम वीके पंजियार ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.