गेहूं विक्रय के लिए कराना होगा ऑनलाइन पंजीयन, ओटीपी आधारित होगा किसानों का पंजीकरण

इस बार गेहूं विक्रय के लिए किसानों को अपना ऑनलाइन पंजीयन एक अप्रैल से पहले कराना होगा।

इस बार गेहूं विक्रय के लिए किसानों को अपना ऑनलाइन पंजीयन एक अप्रैल से पहले कराना होगा। ऑलाइन पंजीयन के बिना किसान अपना गेंहू क्रय केंद्रों पर नहीं बेच पाएंगे। जिन किसानों का पंजीयन धान खरीद के समय कराया था उन्हें अपना नया पंजीयन कराने की आवश्यकता नहीं है।

Saurabh ChakravartyTue, 02 Mar 2021 04:38 PM (IST)

गाजीपुर, जेएनएन। इस बार गेहूं विक्रय के लिए किसानों को अपना ऑनलाइन पंजीयन एक अप्रैल से पहले कराना होगा। आनलाइन पंजीयन के बिना किसान अपना गेंहू क्रय केंद्रों पर नहीं बेच पाएंगे। जिन किसानों का पंजीयन धान खरीद के समय कराया था, उन्हें अपना नया पंजीयन कराने की आवश्यकता नहीं है।

इस वर्ष ओटीपी आधारित पंजीकरण की व्यवस्था की गई है। नए किसानों को पंजीयन कराने के लिए छह चरणों का पालन करना होगा। किसान अपने पंजीकरण के समय वर्तमान का ही मोबाइल नंबर डालें। जिन किसानों को अपने गेंहू की फसल को बेचना है उन्हें आनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया से गुजरना होगा। इसके लिए किसान को अपने सबसे पहले प्रारूप को डाउनलोड करके उसका प्रिंट निकाल कर विवरण भरना होगा। संभावना जताई जा रही है कि इस बार किसानों से खरीद ईपीओएएस मशीन (इलेक्ट्रानिक प्वाइंट आफ सेल) के माध्यम से की जाएगी।

भूमि और गेहूं के रकबे को देना होगा  

किसानों को अपने खसरा संख्या, खतौनी नंबर के साथ पूरी भूमि के रकबे का विवरण देना होगा। इस पूरी भूमि में गेहूं का रकबा कितना है इसे भी बताना होगा। किसान अपना पंजीकरण कराने के लिए सहज जनसेवा केंद्र पर अपना आधार, खसरा, बैंक पासबुक व मोबाइल नंबर लेकर जाना होगा। पंजीकरण जब तक लाक न हो जाए तब तक इसे पूरा नहीं माना जाएगा। जिन किसानों को 100 क्विंटल से अधिक गेंहू का विक्रय करना है उनका सत्यापन आनलाइन क्षेत्रीय एसडीएम से कराया जाएगा। जिन गांवों में चंकबंदी की गई है वहां का सत्यापन शतप्रतिशत कराया जाएगा।

किसानों को अपना ऑनलाइन पंजीयन एक अप्रैल से पहले कराना होगा

गेहूं विक्रय के समय किसान अपनी खतौनी, फोटो युक्त पहचान पत्र, बैंक पासबुक, पंजीकरण संख्या व आधार की छाया प्रति क्रय केंद्रों पर अवश्य लेकर आएं। इस बार गेहूं विक्रय के लिए किसानों को अपना ऑनलाइन पंजीयन एक अप्रैल से पहले कराना होगा।

-रतन शुक्ला, जिला विपणन अधिकारी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.