वाराणसी में अगले एक माह में एक लाख आठ हजार लोगों के मोतियाबिंद का होगा आपरेशन

एमएलसी ने कहा कि लोगों के अंधकारमय जीवन को रोशनी देना सबसे बड़ा पुण्य कार्य है। उन्होंने सभी लोगों को कुछ न कुछ सामाजिक कार्य करने के लिए प्रेरित किया। कहा कि आंखें ईश्वर का दिया अनमोल तोहफा है। जिसकी मदद से हम खूबसूरत दुनिया देख पाते हैं।

Abhishek SharmaSat, 04 Dec 2021 02:56 PM (IST)
एमएलसी ने कहा कि लोगों के अंधकारमय जीवन को रोशनी देना सबसे बड़ा पुण्य कार्य है।

वाराणसी, जागरण संवाददाता। श्री रणछोड़दास जी बापू चैरिटेबल आई हास्पिटल की ओर से शनिवार को रामनगर स्थित पीएसी कमांड हाउस के पास नेत्र शिविर का शुभारंभ किया गया। मार्च माह तक चलने वाले शिविर में एक लाख आठ हजार लोगों के मोतियाबिंद का आपरेशन करने का लक्ष्य रखा गया है। शिविर का शुभारंभ प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा व एमएलसी लक्ष्मण आचार्य व क्षेत्रीय विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस मौके पर एमएलसी ने कहा कि लोगों के अंधकारमय जीवन को रोशनी देना सबसे बड़ा पुण्य कार्य है। उन्होंने सभी लोगों को कुछ न कुछ सामाजिक कार्य करने के लिए प्रेरित किया। कहा कि आंखें ईश्वर का दिया अनमोल तोहफा है। जिसकी मदद से हम खूबसूरत दुनिया देख पाते हैं।

कई कारणों से लोग आंखों की बीमारी के शिकार होते हैं, परंतु इससे निराश होने की आवश्यकता नहीं है। लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि संस्था लोगों को मोतियाबिंद आपरेशन कर लाभ प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि गरीबों को नेत्र ज्योति प्रदान करना सराहनीय प्रयास है। कैंट विधायक सौरभ ने कहा कि मोतियाबिंद की परेशानी से काफी लोग परेशान रहते हैं। आज के समय में फेको विधि से आंख का आपरेशन काफी महंगा पड़ता है। जिससे गरीब और असहाय लोग आपरेशन नहीं करा पाते और आंख से अंधे हो जाते हैं। ऐसे लोगों को ढूंढ ढूंढ कर आपरेशन किया जा रहा है, नेक कार्य है। श्री रणछोड़ दास जी महाराज चैरिटेबल आई हास्पिटल राजकोट गुजरात के प्रमुख ट्रस्टी प्रवीण भाई वसानी ने कहा कि संस्था का उद्देश्य है कि पैसे के अभाव में किसी गरीब या असहाय की आंख इलाज के अभाव में समय से पहले न खराब हो, इसके लिए संस्था इस अभियान को आगे बढ़ा रही है। उन्होंने कहा कि हर दिन एक हजार मरीजों का ऑपरेशन किया जाएगा। इसके लिए 50 डाक्टर का पैनल बनाया गया है, जो अलग अलग दिन में आकर लोगों का आपरेशन करेंगे।

लोगों ने जताया आभार : महंगाई के इस दौर में आंखों का आपरेशन कराना काफी मुश्किल लग रहा था, लेकिन हास्पिटल के इस नेक कार्य की वजह से उनके आंखों का आपरेशन हो सका है। - ताहिरा बेबी, पड़ाव-चंदौली

वर्तमान परिवेश में चिकित्सकीय सुविधा काफी महंगी होती चली जा रही है। गरीब तबके के लोग इससे वंचित रह जा रहे हैं। संस्था का यह पहल काफी सराहनीय है। - रामधनी, रामनगर

समय से उचित इलाज न मिल पाने के कारण असहाय लोग कई बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं। अगर हास्पिटल की तरह ही अन्य संस्थाएं भी काम करेंगी तो हर वर्ग का भला होगा। - बसंती देवी, जहानाबाद

मोतियाबिंद का आपरेशन कराना काफी कठिन हो गया है। गरीब तबके के लोगों तो आपरेशान के अभाव समय से पहले ही आंखों की रोशनी भी खो देते हैं। - नायब लाल, गोपीगंज भदोही

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.