मीरजापुर में विंध्य कारिडोर के लिए सात मुस्लिम परिवारों ने की भूमि रजिस्‍ट्री, कौमी एकता का दिया संदेश

भारत अपनी गंगा-जमुनी-तहजीब के लिए पहचाना जाता है। ऐसा ही प्रेरक उदाहरण पेश किया है विश्व प्रसिद्ध विंध्यवासिनी धाम विंध्याचल के मुस्लिमों ने जहां मुस्लिम संप्रदाय के लोगों ने विंध्य कारिडोर के लिए भूमि रजिस्ट्री कर राष्ट्रीय एकता और कौमी एकता का पैगाम दिया।

Abhishek SharmaSun, 25 Jul 2021 10:21 AM (IST)
मुस्लिम संप्रदाय के लोगों ने विंध्य कारिडोर के लिए भूमि रजिस्ट्री कर राष्ट्रीय एकता और कौमी एकता का पैगाम दिया।

मीरजापुर [कमलेश्वर शरण]। भारत अपनी गंगा-जमुनी-तहजीब के लिए पहचाना जाता है। सभी धर्मों के लोग यहां मिल-जुलकर रहते हैं। समय-समय पर लोगों ने धर्म और पंथ को एक ओर रखकर मानवता के कार्य कर मिसाल पेश की है। एक ऐसा ही प्रेरक उदाहरण पेश किया है विश्व प्रसिद्ध विंध्यवासिनी धाम विंध्याचल के मुस्लिमों ने, जहां मुस्लिम संप्रदाय के लोगों ने विंध्य कारिडोर के लिए भूमि रजिस्ट्री कर राष्ट्रीय एकता और कौमी एकता का पैगाम दिया।

विंध्य कारिडोर के लिए भूमि रजिस्ट्री करने वाले मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि इस काम से पूरे देश में एकता का संदेश पहुंचेगा। इससे सभी धर्मों के बीच मधुर संबंध स्थापित होंगे। जिस तरह से एक-दूसरे के धर्मों का सम्मान कर धार्मिक स्थल का निर्माण करवाया जा रहा है। यह उन लोगों के लिए एक मिसाल है, जो धार्मिक कड़वाहट फैलाकर देश का माहौल खराब करने का प्रयास करते हैं। धार्मिक एकता बनाए रखने के लिए मुस्लिम समुदाय का यह कार्य प्रशंसनीय है, जो समूचे राष्ट्र को एक सूत्र में पिरोने का संदेश देता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट विंध्य कारिडोर को भव्यता प्रदान कराने के लिए शासन-प्रशासन के साथ ही नागरिकों का पूरा सहयोग मिल रहा है। योजना को साकार रूप प्रदान करने के लिए हिंदू परिवार के साथ मुस्लिम परिवार के लोग भी बढ़-चढ़कर आगे आएं। थाना कोतवाली रोड के अक्षन, गरीब , कलाम, बबलू हाशमी, पप्पू ढोलक वाला समेत सात मुस्लिम परिवारों ने विंध्य कारिडोर के लिए सहमति के आधार पर अपने-अपने दुकान-मकान की रजिस्ट्री की। इसका मुआवजा राशि भी खाते में पहुंच चुका है। काशी विश्वनाथ की तर्ज पर 331 करोड़ की लागत से विंध्य कारिडोर का निर्माण अक्टूबर तक हो जाएगा। कारिडाेर निर्माण की जद में आने वाले भूमि की रजिस्ट्री प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है। एक अगस्त को विंध्य कारिडाेर का शिलान्यास भी होना है। शिलान्यास गृह मंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। माना जा रहा है कि शिलान्यास के बाद विंध्य कारिडोर का निर्माण कार्य रफ्तार पकड़ेगा। इसके लिए प्रशासनिक तैयारियां भी तेज हो गई है।

बोले अधिकारी : विंध्य कारिडाेर की जद में आने वाले सात मुस्लिम परिवारों ने भी सहमति पर खुशी-खुशी भूमि रजिस्ट्री कराकर गंगा-जमुनी-तहजीब की मिशाल पेश की है। इससे योजना को साकार रूप प्रदान होगा। साथ ही विंध्यधाम की भव्यता में चार चांद लगेगा। - विनय कुमार सिंह, नगर मजिस्ट्रेट।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.