वाराणसी में शहरी हुए 89 गांव में नगर निगम ने शुरू किया सैनिटाइजेशन अभियान

ग्रामीण क्षेत्रों में फैलते कोरोना संक्रमण को देखते हुए नगर निगम ने शहरी हुए गांवों की ओर फोकस किया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में फैलते कोरोना संक्रमण को देखते हुए नगर निगम ने शहरी हुए गांवों की ओर फोकस किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांवों की ओर बढ़ रहे संक्रमण को लेकर चिंता जाहिर की तो नगर आयुक्त ने सैनिटाइजेशन का पूरा ब्लूप्रिंट तैयार किया है।

Abhishek SharmaSat, 15 May 2021 03:49 PM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। ग्रामीण क्षेत्रों में फैलते कोरोना संक्रमण को देखते हुए नगर निगम ने शहरी हुए गांवों की ओर फोकस किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांवों की ओर बढ़ रहे संक्रमण को लेकर चिंता जाहिर की तो नगर आयुक्त ने सैनिटाइजेशन का पूरा ब्लूप्रिंट तैयार किया है। नगरीय क्षेत्र में हॉट स्पॉट,  कंटेनमेंट जोन के अलावा प्रमुख बाजार, कचरी समेत प्रमुख कार्यालय के साथ ही अधिकारी आवास को विसंक्रमित कराने के लिए टीमें बनाई हैं। वहीं, शहरी हुए 89 गांवों के लिए अग्निशमन दल व जलकल विभाग के सहयोग से सैनिटाइजेशन की तैयारी कर ली है। शनिवार से इन गांवों में अभियान भी शुरू हुआ है।

 नगर आयुक्त गौरांग राठी के नेतृत्त्व में नगर निगम ने सैनिटाइजेशन  कचहरी, जिला जज आवास, मंडलायुक्त आवास, जिलाधिकारी आवास,  पुलिस कमिश्नर कार्यालय, आइजी रेंज आवास, पंजाब नेशनल बैंक, विजय नगराम कॉलोनी, बुद्ध विहार कॉलोनी, पटेल धर्मशाला, मिंट हाउस, ताज गंगेश, मैदागिन से मालवीय मार्किट, विश्वेश्वरगंज, भैरोनाथ चौराहा, हरतीरथ, तेलियान फाटक, भैंसासुर रोड, अंसाराबाद, गंगा नगर कॉलोनी, जलालीपुरा, जोन आफिस, काशी स्टेशन, भैंसासुर घाट, नीची बाघ, चौक थाना, बॉस फाटक, सुपारी माल आदि में इलाके में सैनिटाइज़ेशन का कार्य  कार्य गया। साथ ही नगर निगम सीमा में शामिल 89 गांवों में महेशपुर, शिवदासपुर, भीठारी गेट नंबर पांच, फुलवरिया  की बाहरी सीमा में जेटिंग मशीन से सैनिटाइज़ेशन का कार्य कराया गया। इस कार्य के लिए पर्याप्त मात्रा में सोडियम हाइपो क्लोराइड व मशीनों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई। नगर निगम सीमान्तर्गत गठित 96 टीमों के माध्यम द्वारा 140 हैंड स्प्रे मशीनों से नगर के समस्त छोटी-बड़ी सड़कों, गलियों में व्यापक रूप से सैनिटाइज़ेशन का कार्य कराया जा रहा है। साथ ही जलकल व अग्निशमन विभाग की बड़ी गाड़ियों (जिनमें एक बुलेट स्प्रे, दो मैजिक स्प्रे व तीन जेटिंग मशीन हैं) के सहयोग से कोविड संक्रमित क्षेत्रों विशेषकर अस्पतालों, कार्यालयों, प्रमुख बाज़ारों, शवदाह स्थल व उनके आस-पास के क्षेत्रों में सम्यक रूप से बृहद स्तर पर नियमित रूप से सैनिटाइज़ेशन का कार्य कराया जा रहा है।

साथ ही साथ नागरिकों द्वारा काशी इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में दूरभाष के माध्यम अवगत कराने पर तत्काल मौके पर टीम भेजकर भी सैनिटाइज़ेशन का कार्य  कराया जा रहा है। साथ ही कुल 2766 कंटेनमेंट जोन व 107 घनी बस्तियों में सैनिटेशन व वृहद रूप से 117 लीटर सोडियम ह्यपोक्लोराइड व 1350 कोलोग्राम ब्लीचिंग पाउडर, 1300 किलोग्राम मैलाथियान का छिड़काव व 3200 किलो ग्राम चूने का छिड़काव कराया गया। 438 सदस्य की 174 निगरानी समितियों (90 वार्डो में व 84 नए शामिल गांवों में) का गठन किया गया है। सभी निगरानी समितियों को पल्स आक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर उपलब्ध कराया गया। इसके साथ ही कंटेनमेंट जोन से 6910 किलो ग्राम ठोस अपशिष्ट की मात्रा को निस्तारित किया गया। शहर से जनित 641 मीट्रिक टन ठोस अपशिष्ट को 53 गाड़ियों के माध्यम से करसड़ा स्थित प्रोसेसिंग प्लांट में पहुंचाया गया। 8217 जगहों को विसंकृमित किया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.