वाराणसी में महापौरों की अगवानी में जुटा नगर निगम प्रशासन, एयरपोर्ट पर बनेगा हेल्प डेस्क

विश्वनाथ कारिडोर के लोकार्पण के सफल आयोजन में जुटा नगर निगम प्रशासन देश के विभिन्न नगर निगमों से वाराणसी आने वाले महापौर की आगवानी की तैयारी में भी जुट गया है। किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं हो इसकी रूपरेखा तैयार करने में भी नगर निगम प्रशासन जुट गया है।

Saurabh ChakravartyThu, 09 Dec 2021 06:40 AM (IST)
एयरपोर्ट पर कर्मियों के तैनाती के अलावा हेल्प डेस्क भी बनाया जाएगा।

जागरण संवाददाता, वाराणसी : श्री विश्वनाथ कारिडोर के लोकार्पण के सफल आयोजन में जुटा नगर निगम प्रशासन देश के विभिन्न नगर निगमों से वाराणसी आने वाले महापौर की आगवानी की तैयारी में भी जुट गया है। वाराणसी आने के बाद महापौरों को किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं हो, इसकी रूपरेखा तैयार करने में भी नगर निगम प्रशासन जुट गया है। मिली जानकारी के मुताबिक देश के विभिन्न नगर निगमों से दो सौ महापौर का आगमन वाराणसी हो रहा है।

आगामी 16 दिसंबर को तकरीबन सभी महापौर वाराणसी पहुंच जाएंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अलावा नगर निगम प्रशासन यह भी मान रहा है कि तमाम महापौर काशी घूमेंगे। इसको ध्यान में रखकर ही तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है। किसी महापौर को किसी तरह की कोई दिक्कत न हो, इसके लिए बाबतपुर एयरपोर्ट व विभिन्न होटलों सहित अन्य जगहों पर तकरीबन दो सौ नगर निगम कर्मियों को तैनात किया जाएगा। एयरपोर्ट पर कर्मियों के तैनाती के अलावा हेल्प डेस्क भी बनाया जाएगा। यहां नगर निगम कर्मी अलग-अलग नगर निगम के महापौर की अगवानी के साथ उन्हें गंतव्य तक पहुंचने में मदद करेंगे। हालांकि अभी तैयारी प्राथमिक स्तर पर है, जिसे समय रहते अंतिम रूप दे दिया जाएगा।

13 दिसंबर को 135 करोड़ लोगों का मन-मस्तिष्क काशी से जोड़ेगा विश्वनाथ धाम

श्रीकाशी विश्वनाथ धाम लोकार्पण से पहले ही काशी में भक्ति की बयार बह चली है। हर कोई महादेव..., महादेव... का उद्घोष कर एक-दूसरे का अभिनंदन कर रहा है। अनुभव होने लगा है कि 13 दिसंबर को भव्य काशी व दिव्य काशी साक्षात आंखों में होगी। शिव की नगरी में देव लोक उतरा रहेगा। इस भव्यता व दिव्यता का साक्षी पूरा विश्व बनेगा। इतना ही नहीं उत्सव में देश भर के 27 हजार शिवालय भी शामिल होंगे जहां धाम लोकार्पण के दौरान ही पूजन-अर्चन किया जाएगा। इसमें सभी ज्योर्तिलिंग मंदिर भी शामिल किए गए हैं जहां पर विशेष पूजा-अनुष्ठान आयोजित किया गया है। इतना ही नहीं देश भर के 15,444 मंडलों में 51 हजार स्थानों पर समारोह का सजीव प्रसारण किया जाएगा। यू समझें कि 13 दिसंबर को 135 करोड़ लोगों का मन-मस्तिष्क एक साथ श्रीकाशी विश्वनाथ धाम से जुड़ जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.