उद्योग क्षेत्र में नई संभावनाओं को दिशा देगा एमएसएफ भारत और एमएसएमई मंत्रालय, टॉक शो में शामिल हुए वाराणसी के उद्यमी व व्‍यापारी

। एमएसएमई एवं स्टार्टअप्स फोरम - भारत (एमएसएफ - भारत) की ओर से शनिवार को एमएसएमई मंत्रालय के सलाहकार आमोल बिराजदार के साथ ऑनलाइन टॉक शो आयोजित हुआ। इसमें एमएसएमई सेक्टर से जुड़ी समस्याओं और नई संभावनाओं की दिशा में बढ़ने पर विचार किया गया।

Saurabh ChakravartySat, 12 Jun 2021 04:35 PM (IST)
एमएसएमई सेक्टर के उद्यमियों, एमएसएफ भारत के पदाधिकारी तथा सदस्यों के साथ हर पहलुओं पर ऑनलाइन वार्ता की।

वाराणसी, जेएनएन। एमएसएमई एवं स्टार्टअप्स फोरम - भारत (एमएसएफ - भारत) की ओर से शनिवार को एमएसएमई मंत्रालय के सलाहकार आमोल बिराजदार के साथ ऑनलाइन टॉक शो आयोजित हुआ। इसमें एमएसएमई सेक्टर से जुड़ी समस्याओं और नई संभावनाओं की दिशा में बढ़ने पर विचार किया गया। बिराजदार ने एमएसएमई सेक्टर के उद्यमियों, एमएसएफ भारत के पदाधिकारी तथा सदस्यों के साथ हर पहलुओं पर ऑनलाइन वार्ता की।

उन्होंने आश्वस्त किया कि यह वार्ता का सिलसिला चलता रहेगा। टॉक शो की श्रृंखला निरंतर होती रहेगी। इससे एमएसएमई मंत्रालय और फोरम एक साथ मिलकर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम वर्ग के व्यापारियों, उद्यमियों को सहयोग मिलेगा। इस प्रयास से पूर्वांचल समेत पूरे देश के एमएसएमई उद्यमियों को संबल प्राप्त होगा। मालूम हो कि मार्च महीने में केंद्रीय एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी के साथ एमएसएफ भारत ने अंतरराष्ट्रीय वेबिनार आयोजित कराया था। इस वेबिनार में केंद्रीय मंत्री अपने मंत्रालय के सलाहकार आमोल बिराजदार को फोरम के साथ जोड़ा था। साथ ही उन्होंने नियमित टॉक शो करके एमएसएमई उद्यमियों के विकास की राह बनाने के लिए अधिकृत किया था। इसी कड़ी में उक्त टॉक शो की पहली कड़ी का आगाज हुआ। शो में फोरम के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज कुमार शाह, राष्ट्रीय महासचिव संजय बनर्जी, अमेरिका से डा. पूनम वोरिया, वरुण गोयल, मोहित गोगना, आशुतोष अग्रवाल आदि ने विचार रखे। अतिथियों का स्वागत फोरम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हरजिंदर सिंह, संचालन व कार्यक्रम सूत्रधार फोरम निदेशक गौरव राय व धन्यवाद ज्ञापन फोरम के सलाहकार परिषद के चैयरमैन निरंजन कुमार जैन ने किया।

नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन के साथ भी हो चुका है समझौता

एमएसएमई एवं स्टार्टअप्स फोरम (एमएसएफ) - भारत तथा विज्ञान एवं नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) के बीच समझौता (एमओयू) हुआ है। इस समझौता पत्र पर एमआईएम- नीति आयोग के निदेशक आर रामानन एवं एमएसएफ-भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज कुमार शाह की ओर से हस्ताक्षर पिछले माह किया गया। इस समझौते से स्टार्टअप्स को जहां रोजगार के लिए प्लेटफार्म मिलेगा। वहीं यह समझौता कुशल कामगारों, श्रमिकों एवं मजदूरों को रोजगार मुहैया कराने में सहायक सिद्ध होगा। इससे काशी ही नहीं बल्कि पूरे देश के युवाओं व नए उद्यमियों को एक नई राह भी मिलेगी।

एमएसएमई एवं स्टार्टअप्स फोरम - भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज कुमार शाह बताते हैं कि फोरम कुशल श्रमिकों, कामगारों एवं मजदूरों को रोजगार दिलाने में पहले से ही स्थानीय स्तर पर कार्य कर रहा है। फोरम का विस्तार केवल महानगरों में ही नहीं बल्कि आसपास के उन जिलों में भी है जहां से सर्वाधिक श्रमिक और मजदूर आते हैं। इसीलिए उन कामगारों को एमएसएमई सेक्टर से जोड़ने एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए फोरम के स्थानीय पदाधिकारी व्यापक रूप से जुटे हुए हैं। बताया कि यह समझौता पूर्वांचल समेत उत्तर प्रदेश के कुशल श्रमिक एवं मजदूर वर्ग को उनके हुनर और कार्य क्षेत्र के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मददगार होगा। वहीं अटल नवाचार मिशन (एआईएम), नीति आयोग ने देश में डिजिटली रूप से समृद्ध माहौल उपलब्ध कराने और पूरे देश में युवाओं में नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए कार्य कर रहा हैं।

अटल टिंकरिंग लैब्स (एटीएल), एआईएम के प्रमुख कार्यक्रमों में से एक है। इसने स्कूली बच्चों के बीच रचनात्मकता और कल्पनाशीलता को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। डिसॉल्ट सिस्टम्स फाउंडेशन थ्री डी प्रौद्योगिकियों और वर्चुअल यूनिवर्सेस के साथ भारत में शिक्षा और अनुसंधान के भविष्य को बदलने के लिए समर्पित है। यह तीन प्रमुख क्षेत्रों- परियोजना आधारित, स्व-शिक्षा विषय, हैकथॉन एवं चुनौतियां तथा अंतर-देशीय शैक्षिक सहयोग में एटीएल कार्यक्रम में योगदान देने के लिए तैयार हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.