मऊ में पटाखा फोड़ते समय फेफड़े में घुसे धातु के टुकड़े, तीन घंटे आपरेशन के बाद बीएचयू में निकाला गया

18 वर्षीय पीड़ित को हाथ में रखे उपकरण से पटाखा फोड़ते समय गंभीर चोट आई। लेकिन पटाखा शायद काम नहीं कर रहा था व उपकरण का धातु का टुकड़ा उल्टा मरीज के दाहिने सीने के अंदर चला गया जिससे उसका दाहिना फेफड़ा बुरी तरह घायल हो गया।

Abhishek SharmaPublish:Thu, 02 Dec 2021 05:48 PM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 05:48 PM (IST)
मऊ में पटाखा फोड़ते समय फेफड़े में घुसे धातु के टुकड़े, तीन घंटे आपरेशन के बाद बीएचयू में निकाला गया
मऊ में पटाखा फोड़ते समय फेफड़े में घुसे धातु के टुकड़े, तीन घंटे आपरेशन के बाद बीएचयू में निकाला गया

वाराणसी, जागरण संवाददाता। चिकित्सा विज्ञान संस्थान, काशी हिंदू विश्वविद्यालय स्थित कार्डियो थोरैसिक व वैस्कुलर सर्जरी विभाग में एक बहुत ही दुर्लभ मामला आया था। प्रो. सिद्धार्थ लखोटिया के नेतृत्व में फेफड़े से गोल नुकीली धातु का एक टुकड़ा निकाला। यह धातु का टुकड़ा गलती से मरीज के शरीर के अंदर चला गया जब वह एक देशी उपकरण से पटाखा फोड़ रहा था। घटना यूपी के मऊ जिले के ग्राम मठमहमदपुर में दीपावली के दिन की है।

18 वर्षीय पीड़ित को हाथ में रखे उपकरण से पटाखा फोड़ते समय गंभीर चोट आई। लेकिन पटाखा शायद काम नहीं कर रहा था व उपकरण का धातु का टुकड़ा उल्टा मरीज के दाहिने सीने के अंदर चला गया, जिससे उसका दाहिना फेफड़ा बुरी तरह घायल हो गया। उसे तेज दर्द हुआ और उसकी सांस फूल गई। उसे मऊ के अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे बीएचयू अस्पताल रेफर कर दिया गया।

फेफड़े के अंदर धातु को हटाने और दाहिने वक्ष में एकत्रित रक्त की निकासी के लिए आपातकालीन आपरेशन किया गया । चोट की गंभीरता के कारण उनके दाहिने फेफड़े का ऊपरी हिस्सा गंभीर रूप से घायल हो गया और इसके परिणामस्वरूप उनके दाहिने हिस्‍से में बड़ी मात्रा में रक्त का रिसाव हुआ। वह भाग्यशाली था कि उसका दिल घायल नहीं हुआ। करीब तीन घंटे तक सर्जरी चली। धातु के टुकड़े को हटाने के बाद, फेफड़े की मरम्मत की गई व रक्तस्राव को नियंत्रित किया गया। मरीज अब ठीक है। उसे अस्पताल से अब छुट्टी मिल जाएगी।

सर्जिकल टीम में प्रो. सिद्धार्थ लखोटिया, डा. नरेंद्र नाथ दास शामिल थे। एनेस्थीसिया प्रो. एसके माथुर द्वारा दिया गया था। इससे पहले चिकित्सा विज्ञान संस्थान काहिविवि के सर्जरी विभाग में पद्मश्री से अलंकृत डा. एनएन खन्ना का अभिनंदन किया गया। डा. एनएन खन्ना सर्जरी विभाग के अध्यापक, अध्यक्ष एवं चिकित्सा विज्ञान संस्थान के निदेशक रह चुके हैं। अभिनंदन समारोह में संस्थान के निदेशक प्रो. बीआर मित्तल, संकाय प्रमुख प्रो. एसके सिंह, विभागाध्यक्ष प्रो. पुनीत, प्रो. अजय खन्ना, प्रो. संजीव गुप्ता ने अपने विचार व्यक्त किये तथा प्रो. एन एन खन्ना का अभिनंदन किया। समारोह में विभाग के अध्यापक, रेजिडेंट डाक्टर तथा सभी कर्मचारी उपस्थित रहे। समारोह का संचालन डा. एसपी मिश्र ने किया।