Varanasi Panchayat Election 2021 : मतदाताओं का रेला केंद्रों की ओर, 68 फीसद तक हुआ मतदान

वाराणसी में दूसरे चरण का मतदान सुबह सात बजे सुस्‍त गति से शुरू हुआ।

Varanasi Panchayat Election 2021 वाराणसी में दूसरे चरण का मतदान सुबह सात बजे सुस्‍त गति से शुरू हुआ हालांकि सुबह नौ बजे के बाद मतदाताओं की कतार बढ़ी तो लोगों में वोट देने का उत्‍साह भी नजर आया। जिले में 68 फीसद तक मतदान हुआ।

Abhishek SharmaMon, 19 Apr 2021 09:17 AM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। वाराणसी में दूसरे चरण का मतदान सुबह सात बजे सुस्‍त गति से शुरू हुआ, हालांकि सुबह नौ बजे के बाद मतदाताओं की कतार बढ़ी तो लोगों में वोट देने का उत्‍साह भी नजर आया। मतदाताओं की भीड़ बढ़ने के साथ ही उत्‍साह के बीच सुरक्षा व्‍यवस्‍था भी कड़ी बनी रही। जिले में 68 फीसद तक मतदान हुआ।

प्राथमिक विद्यालय प्रतापपट्टी (हरहुआ) के बूथ 72 व 73 में फर्जी मतदान को लेकर विवाद रहा। कुछ समय के लिए मतदान भी रुका रहा। प्रत्याशियों का आरोप है कि पीठासीन अधिकारी निष्क्रिय हैं, मतदान अभिकर्ता जबरिया फर्जी मतदान कर रहे हैं।

रोहनिया क्षेत्र के जगतपुर इन्टर कालेज पर फर्जी मतदान का आरोप को लेकर झड़प हो गई। इसके बाद जानकारी होने पर मौके पर पहुंची रोहनिया पुलिस ने भीड़ को खदेड़ दिया। प्रशासन के अनुसार कंठीपुर में मतदान को लेकर दो प्रत्याशियों के बीच झड़प हुई थी, पुलिस ने बीच बचाव कर मामला शांत कराया।

जिले में दोपहर एक बजे तक 35 फीसद मतदान हो चुका था। वहीं दोपहर में भारी धूप की वजह से भी लोगों के उत्‍साह में कमी नहीं आई। लोग उत्‍साह से वोट देने के लिए कतारबद्ध नजर आए। 

चौबेपुर क्षेत्र के शाहपुर प्राथमिक विद्यालय पर मतदान के समय एक व्यक्ति ने मतदान अधिकारी पर हाथ छोड़ दिया। सूचना मिलते ही चौबेपुर पुलिस पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर थाने ले गई। शाहपुर प्राथमिक विद्यालय पर मतदान के समय एक युवक शराब के नशे में एक सिपाही से उलझ गया। इसेक बाद साथ के पुलिसकर्मियों ने पकड़ कर एसओ चौबेपुर के हवाले कर दिया। थानाध्यक्ष ने बताया एक सिपाही से शराब के नशे में हाथापाई के दौरान हाथ छोड़ने की बात गलत है, उसे हिरासत में रखा गया है। वहीं दासेपुर में एक मतदाता का फर्जी मतदान होने पर नाराजगी जताई गई है। उसने मौके पर अधिकारी से शिकायत भी की।

पिंडरा के नेशनल इंटर कालेज व स्वराजी देवी इंटर कालेज बूथ से कई मतदाता बिना वोट दिए बैरंग ही लौट गए।,बताया कि मतदाता सूची से नाम गायब होने की वजह से सभी वोट देने से वंचित हैं। 

दोपहर होने से पहले ही केंद्रों पर भारी भीड़ शुरू हो गई। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में वाराणसी जिले में सुबह 11 बजे तक कुल 23.5 फीसद मतदान हो चुका था। वहीं  नरोत्तम पुर गांव में प्राथमिक विद्यालय में चल रहे मतदान में वोटर लिस्ट में नाम ना होने पर कई ग्रामीण परेशान नजर आए। चिरईगांव में जिलापंचायत सेक्टर नं चार से प्रत्याशी सुशीला सोनकर की आकस्मिक मौत से सभी सन्‍न रह गए। 

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ग्राम प्रधान, जिला, क्षेत्र व पंचायत सदस्य पद के लिए 2592 बूथों पर मतदान सुबह सात बजे से शुरू हो गया। हालांकि सुबह रफ्तार सुस्त रही। बावजूद जिले में 9 फीसद मतदान हुआ। कोरोना संक्रमण को लेकर कुछ बूथो पर लोग अलर्ट दिखे तो वहीं लापरवाही भी नजर आई। दावे के  बावजूद भी बूथों पर सैनिटाइजर न ही हाथ धोने के लिए साबुन ही नजर आए। आधी आबादी कोरोना संक्रमण से बचाव को पुरुषों की तुलना में ज्यादा सतर्क दिखीं। सुबह 9 बजे के बाद कई बूथ लंबी लाइन लगी हुई है। हालांकि, कोविड के भय की वजह से वोटिंग कम होने के कयास लगाए जा रहे हैं। वोटर लिस्ट में नाम न होने पर कई बूथों पर् वोटरों ने बवाल काटा। हालांकि पुलिस की सख्ती के कारण कुछ ही देर में मामला शांत हो गया।

हर बूथ पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। अबकी प्रत्येक बूथ पर रखे हुए एक मतपेटिका में मतदाता  ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य,  जिला पंचायत सदस्य पद का  मतपत्र वोटिंग के बाद बॉक्स में डाल रहे हैं । मतपत्र के रंग अलग अलग निर्धारित है। प्रधान पद के लिए इस बार हरे रंग का, ग्राम पंचायत सदस्य के लिए सफेद , बीडीसी के लिए नीला व् जिला पंचायत सदस्य के लिए गुलाबी मतपत्र है। बूथों पर वोटिंग के बाद सभी मटेटिकाए ब्लाक पर तय स्थल पर बनाए गए स्ट्रांग रूम में रखी जाएंगी। मतदान शाम 6 बजे तक चलेगा। वोटों की गिनती दो मई को होनी है। जिले में वोटर की कुल संख्या 17 लाख 53 हजार 588 है। ब्लाक पर ही वोटों की गिनती होगी। 

काशी विद्यापीठ ब्लॉक के डाफी पोलिंग बूथ पर वोटर लिस्ट से लोगों के नाम गायब होने को लेकर हंगामा होने पर मौके पर लंका पुलिस ने पहुंचकर लोगों को समझाने बुझाने की कोशिश की। 

त्रिस्तरीय पंचायत में दूसरे चरण के मतदान के लिए सुबह सात बजे से पूर्व मतदानकर्मी सभी औपचारिकता पूरी कर सात बजने का इंतजार करते नजर आए। मतदाता भी अपने सभी काम को छोडकर सुबह से ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क लगाकर लाईन में खडे होकर अपनी बारी का इंतजार करते रहे। सुरक्षा में लगे पुलिस के जवान सभी मतदाताओं से मास्क व दो गज की दूरी बनाकर खडे होने का संदेश देते नजर आए। वहीं मतदान केंद्र पर मतदान करने पहुंचे भरतपुर निवासी प्यारेलाल पटेल ने बताया कि कोरोना से बचना भी है व मतदान करना जरूरी है। इसलिए हम अपना सभी कार्य छोडकर सुबह ही मतदान करने आ गये हैंं। सुबह भीड कम रहती है और आसानी से मतदान भी हो जाता है।

जिले में मतदाता की संख्या चिरईगांव 188650 सेवापुरी 208750 आराजीलाइन 290836 पिंडरा 250170 चोलापुर 219550 काशी विद्यापीठ 207482 हरहुआ 165187 बड़ागांव 212863

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.