बलिया में 15 हजार रुपये घूस के साथ लेखपाल को पकड़ा, जमीन मुक्त करने के लिए मांगी रकम

बलिया के सुखपुरा थाना क्षेत्र के हनुमानगंज चट्टी पर स्थित जन सेवा केंद्र से एक लेखपाल को वाराणसी की भ्रष्टाचार निवारण टीम के सदस्यों ने 15 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। उसे सुखपुरा पुलिस को सौंपा गया है।

Saurabh ChakravartyTue, 27 Jul 2021 08:12 PM (IST)
रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार लेखपाल( पूरी बांह की शर्ट पहने )के साथ एंटी करप्शन वाराणसी की टीम ।

बलिया, जागरण संवाददाता। सुखपुरा थाना क्षेत्र के हनुमानगंज चट्टी पर स्थित जन सेवा केंद्र से एक लेखपाल को वाराणसी की भ्रष्टाचार निवारण टीम के सदस्यों ने 15 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। उसे सुखपुरा पुलिस को सौंपा गया है। पीड़ित की शिकायत पर यह कार्रवाई मंगलवार को दोपहर करीब साढ़े तीन बजे हुई है।

नरही थाना क्षेत्र के कोटवां नारायणपुर गांव निवासी अजेश कुमार राय पुत्र स्व. रविशंकर राय की एक जमीन विश्वंभर पार मौजे में है। हाथरस जिले के विद्या नगर निवासी इलाकाई लेखपाल पूरन सिंह उसी जमीन में स्वामित्व योजना का सर्वे कर रहे थे ताकि वहां पंचायत भवन बन सके। इसका विरोध अजेश ने किया तो लेखपाल ने घूस की मांग किया। रिश्वत देने का दिन, समय और स्थान निर्धारित किया गया। इसकी सूचना अजेश ने वाराणसी एंटी करप्शन टीम को दिया तो उसे रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई गई। मंगलवार को अजेश हनुमानगंज चट्टी स्थित एक जन सेवा केंद्र पर मौजूद लेखपाल को जब 15 हजार रुपये रिश्वत दिए गये तभी वहां टीम के सदस्य पहुंच गए। लेखपाल को चिन्हित नोटों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। भ्रष्टाचार निवारण टीम में प्रभारी निरीक्षक उपेंद्र कुमार यादव, संतोष कुमार दीक्षित, नरेन्द्र कुमार सिंह, विजय नारायण प्रधान, पुनीत कुमार सिंह व सुनील कुमार यादव शामिल थे।

उर्वरक की 32 दुकानों पर छापा, जांच को भेजे 46 संदिग्ध नमूने

जिलाधिकारी के निर्देश पर उर्वरक की दुकानों पर एसडीएम एवं कृषि अधिकारियों की संयुक्त टीम ने आकस्मिक छापेमारी कर 46 संदिग्ध नमूने लेकर जांच के लिए लैब में भेजा। रसड़ा व बेल्थरारोड में जिला कृषि अधिकारी बलिया द्वारा 13 उर्वरक दुकानों पर छापेमारी की गई। 40 नमूने लिए गए। बांसडीह एवं बैरिया में उप जिलाधिकारी के साथ अपर जिला कृषि अधिकारी द्वारा छापेमारी की गई, वहां चार संदिग्ध नमूने लिए गए। सिकंदरपुर में उप जिलाधिकारी के साथ जिला कृषि रक्षा अधिकारी द्वारा संयुक्त रूप से छापेमारी कर दो संदिग्ध नमूने लिए गए। जनपद में कुल 32 उर्वरक व्यवसायियों के प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की गई। जिला कृषि अधिकारी बिकेश पटेल ने चेताया है कि नकली खाद व बीज की बिक्री करते मिलने पर संबंधित का लाइसेंस सदैव के लिए निरस्त कर प्राथमिकी भी दर्ज कराई जाएगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.