पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण में शिथिलता और लारपवाही बर्दाश्त नहीं, टोल प्लाजा के निर्माण जल्‍द हो

प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने शनिवार को जिले से होकर गुजरने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेसव-वे का स्थलीय निरीक्षण करने के बाद पैकेज छह के कैंप कार्यालय में कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधि एवं आला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

Saurabh ChakravartySat, 12 Jun 2021 05:21 PM (IST)
प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधि एवं आला अधिकारियों के साथ समीक्षा की।

आजमगढ़, जेएनएन। प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने शनिवार को जिले से होकर गुजरने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेसव-वे का स्थलीय निरीक्षण करने के बाद पैकेज छह के कैंप कार्यालय में कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधि एवं आला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

मंत्री ने निर्देश दिए कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण में शिथिलता व लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यह एक्सप्रेस-वे प्रदेश सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट है। मुख्यमंत्री का निर्देश है कि इसे हर हाल में निर्धारित समय में पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें। कोविड-19 के संक्रमण के कारण जो कार्य प्रभावित हुए थे, उन्हें तत्काल पूर्ण किए जाएं। अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो भी अधूरे फ्लाईओवर एवं अंडरपास हैं, उसके निर्माण कार्य में तेजी लाकर जुलाई के अंत तक पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाए। एप्रोच रोड एवं अन्य मिट्टी के कार्याें को जुलाई तक हर हाल में पूर्ण करना सुनिश्चित करें। कहा कि टोल प्लाजा के निर्माण कार्य को तत्काल पूर्ण किया जाए। मंडलायुक्त विजय विश्वास पंत, डीआइजी सुभाष चंद्र दुबे, जिलाधिकारी राजेश कुमार, पुलिस अधीक्षक सुधीर सिंह सीआरओ हरीशंकर, एडीएम प्रशासन नरेंद्र सिंह, एडीएम एफआर गुरु प्रसाद गुप्ता, एसडीएम सदर वागीश कुमार शुक्ला, एसडीएम मेंहनगर प्रियंका प्रियदर्शिनी, एसडीएम निजामाबाद राजीव रत्न सिंह, सीओ सिटी निष्ठा उपाध्याय सहित संबंधित अधिकारी थे।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का 95 फीसद काम हो चुका है पूरा

र्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम लगभग 95 फीसद पूरा हो चुका है। इस सड़क पर जहां चढ़ने-उतरने की व्यवस्था है, वहां जमीन लेकर छोटे-छोटे औद्योगिक पार्क विकसित किए जाएंगे। जल्द ही प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री इस एक्सप्रेस वे को जनता को समर्पित करेंगे। यह कहना था प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना का। वह शनिवार को अपर मुख्य सचिव गृह व कार्यपालक अधिकारी यूपीडा अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास के साथ गाजीपुर के कासिमाबाद क्षेत्र के महमूदपुर गांव में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पैकेज-08 के कैंपस में उसके निर्माण कार्यों की समीक्षा करने पहुंचे थे। कासिमाबाद पहुंचने के बाद उन्होंने पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण किया, फिर दोपहर 1:30 से 1:45 बजे तक अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इसके बाद पत्रकारों से मुखातिब हुए। बताया कि कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बहुत से पैकेज का काम निर्धारित समय से पहले पूरा कर लिया गया है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल के लोगों के लिए लाइफ लाइन साबित होगी। इस सड़क के बन जाने से तीन घंटे में व्यक्ति लखनऊ से गाजीपुर पहुंच जाएगा, जबकि पहले आठ घंटे से अधिक का समय लगता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.