Mahendra singh Dhoni की IPL-2020 की वायरल हो रही तस्‍वीर के पीछे की जानिए कहानी

आइपीएल 2020 में इस बार आइपीएल की यह तस्‍वीर इन दिनों खूब वायरल हो रही है।
Publish Date:Tue, 29 Sep 2020 11:27 AM (IST) Author: Abhishek Sharma

भदोही [संग्राम सिंह]। आइपीएल 2020 में इस बार आइपीएल की एक तस्‍वीर इन दिनों खूब वायरल हो रही है। यह तस्‍वीर भले ही सऊदी अरब में खींची गई हो लेकिन इसके पीछे की असल कहानी की शुरुआत उत्‍तर प्रदेश के छोटे से जिले भदोही से शुरु होती है। दरअसल इस तस्‍वीर में धोनी को उनके विरोधी टीम का एक खिलाड़ी मैदान में उतरने के बाद उनको हाथ जोड़कर प्रणाम कर रहा है। यह धोनी के शानदार व्‍यक्तित्‍व को नमन करने की पूर्वांचल की तहजीब है जो सहज रुप से भदोही जिले के यशस्‍वी जायसवाल की परवरिश में झलकती है।

इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) की पूर्व चैंपियन रह चुकी टीम राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों में इस समय खूब जोश है। इसके बाद यूएई में क्‍वारंटाइन अवधि पूरी करने के बाद से ही राजस्थान रॉयल्स की टीम नियमित प्रशिक्षण में जुटी हुई है। वहीं आइपीएल के 13वें सीजन से पहले ही टीम के युवा और धुरंधर बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने अपने बुरे बचपन के दिनों के कोच से मिले गुरू मंत्र को याद किया और अपनेपहले आइपीएल में किस्‍मत आजमाने मैदान में उतर चुके हैं।

यशस्वी जायसवाल ने अपने घर पर कोच ज्वाला सिंह से मिले प्रशिक्षण और वहां के माहौल पर भी बातचीत की। आइपीएल के इस सत्र में डेब्‍यू करने वाले यशस्वी जायसवाल ने अंडर 19 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन कर सुर्खियां बटोरी थीं। कभी महाराष्‍ट्र में रहकर रामलीला मैदान में गोलगप्‍पे बेचने तो कभी डेयरी में काम करने को लेकर चर्चा में रहे मगर एक समय ऐसा भी था कि जब यशस्वी जायसवाल अंडर-19 विश्व कप 2020 में प्लेयर आफ द टूर्नामेंट रहे थे। टूर्नामेंट और इससे पहले घरेलू क्रिकेट को देखते हुए यशस्वी को आइपीएल नीलामी के दौरान राजस्थान रॉयल्स की टीम ने 2.4 करोड़ रुपये में खरीदा था।

बीते दिनों मैच के दौरान जब महेंद्र सिंह धोनी जैसा लीजेंड खिलाड़ी मैदान में उतरा तो यशस्‍वी ने अपने पारिवारिक संस्‍कार को मैदान पर दोहराते हुए धोनी को प्रणाम किया। उसी समय कैद हुई तस्‍वीर आज सोशल मीडिया पर आइपीएल के इस सत्र की पहचान बन गई है। कोई धोनी की सख्‍शियत की चर्चा कर रहा है तो कोई धोनी के मैदान पर आने के दौरान यशस्‍वी के द्वारा स्‍वागत करने वाले रिएक्‍शन की सराहना करते नहीं थक रहा।

 

धोनी से होती है तुलना

वैसे तो यशस्‍वी की धोनी से कोई तुलना नहीं बनती मगर संघर्ष के दिन दोनों के ही अमूमन एक ही जैसे बीते हैं। धोनी जहां रेलवे के कर्मचारी थे और बाद में क्रिकेट की बुलंदियों तक पहुंचे वहीं यशस्‍वी जायसवाल ने भी पेट पालने के लिए गोलगप्‍पे का ठेला लगाने से लेकर डेयरी में काम करने तक की दुश्‍वारी झेलकर क्रिकेट में अपनी पहचान बनायी है। सोशल मीडिया में वायरल हाे रही यह तस्‍वीर भी उनके खेल भावना के लिए मिसाल बनती जा रही है। हालांकि धारदार बल्‍लेबाजी दोनों ही खिलाडियों की पहचान है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.