वाराणसी के दुर्गाकुंड में बनाया गया अंतरराष्ट्रीय यात्री टीकाकरण बूथ, विदेश जाने वाले लगवा सकते हैं टीका

राेजगार पढ़ाई-लिखाई खेल या अन्य कारणों से विदेश जाने वालों के लिए कोविशील्ड की दोनों डोज की अनिवार्यता को देखते शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र-दुर्गाकुंड में अंतरराष्ट्रीय यात्री टीकाकरण बूथ बनाया गया है। अंतरराष्ट्रीय टीकाकरण बूथ पर सुबह 10 से दोपहर दो बजे तक टीका लगाया जाएगा।

Saurabh ChakravartyTue, 22 Jun 2021 09:20 AM (IST)
अंतरराष्ट्रीय टीकाकरण बूथ पर सुबह 10 से दोपहर दो बजे तक टीका लगाया जाएगा।

वाराणसी, जेएनएन। राेजगार, पढ़ाई-लिखाई, खेल या अन्य कारणों से विदेश जाने वालों के लिए कोविशील्ड की दोनों डोज की अनिवार्यता को देखते शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र-दुर्गाकुंड में अंतरराष्ट्रीय यात्री टीकाकरण बूथ बनाया गया है। कोविशील्ड की पहली डोज लेने के बाद जरूरत पड़ने पर बाहर जाने वाले 28 दिन बाद ही इस बूथ पर पहुंचकर टीके की दूसरी लगवा सकते हैं।

अंतरराष्ट्रीय यात्रा की सुगमता के लिए हाल ही में सरकार ने विशेष पहल करते हुए अंतरराष्ट्रीय यात्री टीकाकरण बूथ शुरू करने का निर्देश दिया था। सीएमओ डा. वीबी सिंह ने बताया कि पढ़ाई, खेलकूद या रोजगार के कारण विदेश यात्रा पर जाने वाले ऐसे नागरिक जिन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन की पहली डोज ग्रहण कर ली है। 28 दिन का समय पूरा हो चुका है, लेकिन दूसरी डोज की अवधि 84 दिन से पहले विदेश यात्रा करनी पड़ रही हो, ऐसे नागरिकों के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्री टीकाकरण बूथ शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुर्गाकुंड में बनाया गया है। इस तरह के लाभार्थी, जिन्होंने पहली डोज लेते समय पासपोर्ट आईडी नंबर का उल्लेख नहीं किया है, उन्हें दूसरी खुराक के समय फोटो आईडी युक्त पहचानपत्र दिखाना होगा। साथ ही जिला प्रतिरक्षण अधिकारी द्वारा लाभार्थी के द्वितीय खुराक ग्रहण करने के बाद पासपोर्ट नंबर का उल्लेख करते हुए कोविड टीकाकरण सर्टिफिकेट जारी किया जा सकता है। इसके लिए कोविन पोर्टल पर जरूरी संशोधन भी किए जा चुके हैं। लाभार्थियों को ध्यान रखना है कि टीकाकरण के समय यात्रा से संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत करना अनिवार्य है। अंतरराष्ट्रीय टीकाकरण बूथ पर सुबह 10 से दोपहर दो बजे तक टीका लगाया जाएगा।

81 फीसदी कर्मचारियो के वेक्सीनेशन का कार्य पूरा कर लिया

पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल ने लक्ष्य के सापेक्ष 81 फीसदी कर्मचारियो के वेक्सीनेशन का कार्य पूरा कर लिया। सोमवार को दस हजारवें कर्मचारी को लगी कोविड वेक्सीन के बाद यह कामयाबी हासिल हुई है। गेटमैन जय प्रकाश सिंह वह दस हजारवें कर्मचारी थे। मंडुआडीह स्टेशन के गेटमैन सोविंद्र पाल को दस हजार एक नंबर पर टीका लगा।वाराणसी मंडल में लगभग 12,000 कर्मचारी कार्यरत हैं और 10,000 कर्मचारियों के टीकाकरण के बाद वैक्सीनेेेटेड कर्मचारियों की संख्या उच्चतम स्तर 81 फीसद हो गई है। अभियान के दौरान वैक्सीनेशन कर्मियों ने मंडल के विभिन्न रेल खंडों पर रेल परिचालन एवं संरक्षा से जुड़े फ्रंटलाइन कर्मचारियों,दिव्यांग जनों बुजुर्ग एवं अशक्त व्यक्तियों की व्यावहारिक कठिनाईयों को ध्यान में रखते हुए उनका टीकाकरण स्पेशल ट्रेन चलाकर एवं हेल्थ यूनिटों पर कैंप लगाकर तथा उनके कार्य स्थल स्टेशन पर जाकर किया गया। इसके लिए मंडल रेल प्रबंधक विजय कुमार पंजियार ने चिकित्सकीय टीम को उनकी सहृदयता, सहयोग,उत्कृष्ट प्रयासों व अनूठे प्रयास हेतु सराहना की है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.