शराब कारोबारी के यहां आयकर विभाग की कार्रवाई जारी, बाहर रह रहे परिवार के सदस्यों को बुलाया

आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग की ओर से शराब कारोबारी एवं उसके करीबियों पर कार्रवाई शुक्रवार की दोपहर तक भी जारी है। यह कार्रवाई गुरुवार की सुबह आठ बजे शुरू हुई थी। कारोबारी परिवार के अन्य सदस्यों को भी बुलाया गया है जो दूसरे राज्यों में रहते हैं।

Abhishek SharmaFri, 23 Jul 2021 12:02 PM (IST)
शराब कारोबारी एवं उसके करीबियों पर कार्रवाई शुक्रवार की दोपहर तक भी जारी है।

जागरण संवाददाता, वाराणसी। कर चोरी के मामले में आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग की ओर से शराब कारोबारी एवं उसके करीबियों पर कार्रवाई शुक्रवार की दोपहर तक भी जारी है। यह कार्रवाई गुरुवार की सुबह आठ बजे शुरू हुई थी। कारोबारी परिवार के अन्य सदस्यों को भी बुलाया गया है जो दूसरे राज्यों में रहते हैं। इसके तहत शराब और होटल कारोबारी के होटल, आवास समेत करीब आधा दर्जन ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की है। अचानक हुई छापेमारी से कारोबारी के परिवार और कारोबारी साझेदारों में खलबली है। आयकर विभाग की टीम ने कारोबारी के कारोबार से जुड़े एक-एक दस्तावेजों को खंगाला शुरू कर दिया है, जिसमें बड़े पैमाने पर गड़बड़ी मिली है। कई दस्तावेजों को अफसरों ने सीज कर दिया है। प्रारंभिक जांच में करोड़ों की टैक्स चोरी का मामला प्रकाश में आया है।

आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग ने टैक्स चोरी का पुख्ता प्रमाण मिलने के बाद गुरुवार की सुबह शराब और होटल कारोबारी के चार भाइयों में से एक के नाटी इमली स्थित आवास, मलदहिया स्थित एक कटरे में उनके चार्टर्ड एकाउंटेंट के दफ्तर, जौनपुर के शाहगंज स्थित दो भाइयों के आवास, फैक्ट्री, फ्लोर मिल, फॉर्म हाउस और लखनऊ स्थित एक भाई के होटल पर एक साथ छापेमारी की। जौनपुर में रहने वाले एक भाई शाहगंज नगर पालिका परिषद के पूर्व चेयरमैन भी रह चुके हैं । टीम ने कार्रवाई के दौरान सभी को बाहर से अंदर आने और अंदर से बाहर जाने पर पाबंदी लगा दी। उनके मोबाइल फोन स्विच आफ करा दिये गये।

छापेमारी के दौरान आयकर विभाग की टीम ने सभी जगह खरीद-बिक्री के एक-एक दस्तावेज को गंभीरता से खंगाला शुरू कर दिया। इसके अलावा बैंक खातों, एफडी, जमीन संबंधित खरीद-बिक्री के दस्तावेज, रियल इस्टेट से जुड़े अभिलेख, लैपटॉप व कम्प्यूटर हार्डडिस्क, डायरी, रजिस्टर आदि को अपने कब्जे में लेते हुए जांच की जा रही है। विभागीय सूत्रों की मानें तो जांच के दौरान कारोबारियों के आय के बाबत आयकर रिटर्न में उल्लेख किये गये दावों और हकीकत का भी मिलान कर विवरण जुटाया जा रहा है।

सूत्रों का यह भी कहना है कि नाटी इमली स्थित एक कारोबारी का पुश्तैनी मकान है, यहां कुछ घंटे रहने के बाद टीम लौट गयी। टीम में शामिल अफसर कारोबारी के चार्टर्ड एकाउंटेंट के कार्यालय से भी अहम दस्तावेज खंगाले में जुटी हुई है। इस कारोबारी परिवार से जुड़े लोग कई फैक्ट्री, होटल व विभिन्न प्रतिष्ठानों के मालिक हैं। हाल ही में जौनपुर के खेतासराय कस्बे में करोड़ों की जमीन भी खरीदी गयी है। बाजार सूत्रों की मानें तो छापेमारी के चलते कारोबारी से संबंध रखने वालों ने भयवश अपने-अपने प्रतिष्ठान या तो बंद रखे या फिर जांच की पल-पल पर नजर रखे हुए थे। स्थानीय टीम में आयकर विभाग के राजेश सिंह, जेपी चौबे, आरएम श्रीवास्तव आदि अधिकारी शामिल है।

जौनपुर में भी कार्रवाई जारी : शाहगंज नगरपालिका के पूर्व चेयरमैन व भाजपा नेता ओम प्रकाश जायसवाल के आवास व अन्य ठिकानों पर शुक्रवार को दूसरे दिन भी आयकर विभाग की टीम जमी हुई है और जांच पड़ताल जारी है। आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार की सुबह अचानक नगर में पहुंचकर शराब कारोबारी ओम प्रकाश जायसवाल के आवास, होटल, फैक्ट्री, ऑफिस, फार्म हाउस आदि ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की। टीम रात में भी उक्त स्थानों पर जांच में जुटी रही, साथ ही नगरपालिका अध्यक्ष गीता जायसवाल व उनके पति प्रदीप जायसवाल से पूछताछ की। टीम ने शुक्रवार को भी जांच पड़ताल का क्रम जारी रखा है। जांच के दौरान करोड़ों की कर चोरी का मामला संज्ञान में आने की चर्चा है। फिलहाल आयकर विभाग के अधिकारी कुछ बताने को तैयार नहीं हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.