वाराणसी में दीयों से रोशन होगा पं. दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन, कृतित्व व व्यक्तित्व पर रखेंगे विचार

भाजपा 25 सितंबर को राष्ट्रवादी चिंतक विचारक व एकात्म मानववाद के प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय की 105वीं जयंती मनाएगी। इस अवसर पर एक ओर जहां संगठन के निर्णयानुसार पड़ाव स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन पर विविध आयोजन आयोजित किए जाएंगे।

Saurabh ChakravartyFri, 24 Sep 2021 09:10 AM (IST)
भाजपा 25 सितंबर को राष्ट्रवादी चिंतक, विचारक व एकात्म मानववाद के प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय की 105वीं जयंती मनाएगी।

जागरण संवाददाता, वाराणसी। भाजपा 25 सितंबर को राष्ट्रवादी चिंतक, विचारक व एकात्म मानववाद के प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय की 105वीं जयंती मनाएगी। इस अवसर पर एक ओर जहां संगठन के निर्णयानुसार पड़ाव स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन पर विविध आयोजन आयोजित किए जाएंगे तो दूसरी ओर पार्टी कार्यकर्ता बूथ स्तर पर कार्यक्रम आयोजित कर उनकी जन्म जयंती मनाएंगे।

भाजपा काशी क्षेत्र के महामंत्री अशोक चौरसिया ने गुरुवार को बताया कि पड़ाव स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन पर दो दिवसीय कार्यक्रम आयोजित होगा। इसके तहत पूर्व संध्या पर 24 सितंबर की शाम स्मृति उपवन पर सैकड़ों की संख्या में दीप जलाकर स्मृति स्थल को रोशन किया जाएगा। इसके पश्चात 25 सितंबर को उनकी जयंती के दिन सुबह नौ बजे से कार्यक्रम की शुरुआत होगी। कार्यक्रम का प्रारंभ पं. दीनदयाल की 63 फीट ऊंची प्रतिमा पर पुष्पार्चन के साथ होगा। पं. दीनदयाल की 105वीं जयंती के उपलक्ष्य में 105 कार्यकर्ताओं द्वारा स्मृति स्थल पर 105 पौधारोपण किए जाएंगे। तत्पश्चात स्मृति उपवन पर ही पं. दीनदयाल उपाध्याय के व्यक्तित्व और कृतित्व पर आधारित संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। मुख्य अतिथि भाजपा प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा होंगे। भाजपा काशी क्षेत्र मीडिया प्रभारी नवरतन राठी ने बताया कि इस कार्यक्रम में वाराणसी महानगर, जिला और चंदौली जनपद के सांसद, विधायक, महापौर,जिला पंचायत अध्यक्ष, सभी प्रदेश पदाधिकारी, क्षेत्र पदाधिकारी,जिला पदाधिकारी एवं समस्त मंडल अध्यक्ष शामिल होंगे। जयंती पर आयोजित कार्यक्रम की तैयारियो को लेकर वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने पड़ाव स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन का दौरा किया। इस दौरान जिला अध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा, महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय, चंदौली जिला अध्यक्ष अभिमन्यु सिंह, शिवशंकर पटेल, संतोष सोलापुरकर आदि मौजूद थे।

आइए जानें स्मृति स्थल और इसकी विशेषताओं के बारे में

-पंडित दीनदयाल उपाध्याय 10 फरवरी- 1968 को सियालदह एक्सप्रेस से लखनऊ से पटना जा रहे थे। रात में मुगलसराय स्टेशन (अब पीडीडीयू नगर जंक्‍शन) मास्टर को खंभा नंबर 1276 पर पं. दीनदयाल उपाध्याय का शव पड़ा मिला था।

-चंदौली जिले के मुगलसराय रेलवे स्टेशन (अब पीडीडीयू नगर जंक्‍शन) के पास जहां मिला था शव उसे उनके अंतिम पड़ाव के रूप में सरकार विकसित कर रही है।

-गृहमंत्री और भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पांच अगस्त- 2018 को चंदौली के मुगलसराय स्टेशन का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन करने की घोषणा की थी।

-पांच अगस्त-2018 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पंडित दीनदयाल स्मृति स्थल की घोषणा करते हुए भाजपा गृहमंत्री के हाथों शिलान्यास करवाया था।

-पड़ाव चौराहे पर गन्ना विकास संस्थान की करीब 3.67 हेक्टेयर जमीन में पं. दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्थल बनाया गया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.