वाराणसी में तीन करोड़ से भरेंगे 250 सड़कों के गड्ढे, कैसे करेंगे मरम्मत संबंधित विभाग ही बताएंगे

गड्ढों से बदहाल हो चुकीं जिले के शहरी से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की ढाई सौ सड़कों की मरम्मत के लिए शासन से बजट जारी हो गया है। हैरत यह कि सड़कें 250 हैं और मरम्मत के लिए बजट महज दो करोड़ 93 लाख रुपये ही दिया है।

Saurabh ChakravartyMon, 27 Sep 2021 08:10 AM (IST)
वाराणसी के मलदहिया से तेलियाबाग मार्ग पर पैचवर्क करते ठेकेदार कर्मी।

जागरण संवाददाता, वाराणसी। गड्ढों से बदहाल हो चुकीं जिले के शहरी से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की ढाई सौ सड़कों की मरम्मत के लिए शासन से बजट जारी हो गया है। हैरत यह कि सड़कें 250 हैं और मरम्मत के लिए बजट महज दो करोड़ 93 लाख रुपये ही दिया है। अब संबंधित विभागों के सामने चुनौती दीपावली तक सड़कों को चमकाने की है। अवर अभियंता को हर दिन काम कराने के साथ स्थलीय रिपोर्ट देने की जिम्मेदारी दी गई है।

अधीक्षण अभियंता करेंगे निगरानी

शासन ने बजट स्वीकृत कर पीडब्ल्यूडी को कार्य शुरू करने का निर्देश दिया है। हिदायत दी है कि दीपावली से पहले तक सड़कें नहीं बनीं तो जिम्मेदार अभियंताओं के खिलाफ कार्रवाई होगी। अधीक्षण अभियंता को मानीटरिंग करने को कहा है।

बन रही बदहाल सड़कों की रिपोर्ट

उधर, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देश पर मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में टीम स्थलीय निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार कर रही है। दैनिक जागरण लगातार बदहाल सड़कों को लेकर सवाल उठा रहा है। गत दिनों दौरे पर आए मुख्यमंत्री ने बदहाल सड़कों को लेकर नाराजगी भी जाहिर की थी।

इतना मिला बजट

1.53 करोड़ : प्रांतीय खंड की 162 सड़कों के लिए

01 : करोड़ निर्माण खंड की 140 सड़कों के लिए जारी

40 : लाख रुपये निर्माण खंड-एक की 48 सड़कों के लिए

इन प्रमुख सड़कों की होगी मरम्मत

कैंट से मोहनसराय, मुर्दहा बाजार से प्रयागपुरी मार्ग, वाराणसी से भदोही होते हुए गोपीगंज, वाराणसी से अदलपुर मार्ग, कछवां से कपसेठी, ज्ञानपुर से नहरवी परारी, बाबतपुर से जमालपुर, गर्थमा से पिंडरा, पांडेयपुर चौराहे से रिंग रोड, चौकाघाट से पुलिस लाइन चौराहा, पुलिस लाइन मार्ग आदि।

सड़कों की मरम्मत कराने के साथ स्थलीय रिपोर्ट देने को कहा गया

सभी अवर अभियंताओं को अपने क्षेत्र में सड़कों की मरम्मत कराने के साथ स्थलीय रिपोर्ट देने को कहा गया है। काम पूरा होने पर क्रास चेकिंग कराई जाएगी। रिपोर्ट अलग होने पर संबंधित जेई के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की जाएगी।

-एसके अग्रवाल, अधीक्षण अभियंता, पीडब्ल्यूडी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.