बीएचयू में भिखारी और बाइक लहराने वालों की होगी पहचान, पुलिस के हवाले किये जाएंगे अवांछनीय तत्व

बीएचयू परिसर में भिक्षावृत्ति सामाजिक सरोकार द्वारा खत्म की जाएगी। इसके निराकरण के लिए हर आवश्यक कदम तत्काल उठाए जाएंगे। यह बात बीएचयू के नए चीफ प्राक्टर ने अपनी पहली बैठक में कही। उन्होंने बताया कि शहर भर के सामाजिक संस्थाओं से बातचीत कर इस संकट को खत्म किया जाएगा।

Abhishek sharmaSat, 16 Jan 2021 01:34 PM (IST)
बीएचयू परिसर में भिक्षावृत्ति सामाजिक सरोकार द्वारा खत्म की जाएगी।

वाराणसी, जेएनएन। बीएचयू परिसर में भिक्षावृत्ति सामाजिक सरोकार द्वारा खत्म की जाएगी। इसके निराकरण के लिए हर आवश्यक कदम तत्काल उठाए जाएंगे। यह बात बीएचयू के नए चीफ प्राक्टर ने अपनी पहली बैठक में कही। उन्होंने बताया कि शहर भर के सामाजिक संस्थाओं से बातचीत कर इस संकट को खत्म किया जाएगा। उन्होंने बैठक में आम लोगों से निवेदन किया कि विश्वविद्यालय को हरा-भरा व प्रदूषण मुक्त बने रहने के लिए अलसुबह कैंपस में पैदल ही प्रवेश करें।

वहीं परिसर में रैश बाइक ड्राइविंग, ध्वनि प्रदूषण, उपद्रव मचाने वाले बाहरी लोगों को चेताया गया है कि परिसर को अराजकता का चारागाह नहीं बनने दिया जाएगा। इससे बचने के लिए जिला प्रशासन व परिवहन अधिकारी के साथ सामंजस्य बैठा कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि परिसर के अनेक खेल के मैदानों को बाहरी तत्वों के द्वारा दुरुपयोग किया जा रहा है। इसमें बास्केट बाल के ग्राउंड पर क्रिकेट व कबड्डी आदि खेले जा रहे हैं, इस पर रोक लगेगी। 

देर शाम कैंपस में किसी अराजक व्यक्ति द्वारा कोई अवांछनीय कार्य किया गया, तो पकड़े जाने पर पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा। वहीं बीएचयू के छात्रों से अनुरोध किया गया कि वे खेल के मैदानों में अपना नवीनतम परिचय पत्र साथ रखे। बैठक में कहा गया कि छात्र और प्रोफेसर अपने लिए तय समय में ही सर सुंदरलाल अस्पताल में दिखाए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.