जौनपुर में 60 वर्षीय वृद्धा को पति ने दिया तीन तलाक, चार के खिलाफ एफआइआर दर्ज

फिरोसेपुर निवासी तसनीम जहां (60) को पति नबीउल्लाह (65) ने तीन तलाक दे दिया। बेटी व दामाद ने उसका घर चोरी से लिखवा लिया। पुलिस ने वृद्धा की तहरीर पर पति समेत चार के खिलाफ 20 जुलाई को एफआईआर दर्ज किया और कापी दीवानी न्यायालय सीजेएम कोर्ट में दाखिल किया।

Saurabh ChakravartyFri, 23 Jul 2021 08:02 PM (IST)
60 वर्षीय वृद्धा को पति ने दिया तीन तलाक

जौनपुर, जागरण संवाददाता। नगर कोतवाली थाना क्षेत्र के फिरोसेपुर निवासी तसनीम जहां (60) को उसके पति नबीउल्लाह (65) ने तीन तलाक दे दिया। बेटी व दामाद ने उसका घर चोरी से लिखवा लिया। पुलिस ने वृद्धा की तहरीर पर पति समेत चार के खिलाफ 20 जुलाई को एफआइआर दर्ज की और कापी दीवानी न्यायालय सीजेएम कोर्ट में दाखिल की। तसनीम जहां ने थाने में तहरीर दिया है कि उसकी शादी नबीउल्लाह के साथ हुई थी। उसके पांच बेटियां और एक बेटा है। बच्चों का भी विवाह हो चुका है।

वह तथा उसके पति वृद्ध हो चुके हैं। सबसे छोटी बेटी नाजरा, उसका पति आमिर तथा आमिर का पिता आफताब वादिनी के पति की वृद्धावस्था व विवेकहीनता का नाजायज फायदा उठाते हुए रिहायशी मकान लिखवा लिया। एक दिन घर में घुसकर गाली गलौज किया। कहा कि घर हमने लिखा लिया है। घर खाली करो नहीं तो जबरदस्ती घर पर कब्जा कर लेंगे। वृद्धा के कहा पति पूरी तरह उन लोगों की साजिश में फंस चुके हैं। बेटी के नाम घर चोरी से लिखवा लिया गया है। सभी पति को भी भड़काते रहते हैं। उन लोगों के उकसाने पर पति ने उसे मारा पीटा, गालियां देते हुए कहा कि आज मैं तुम्हारा काम समाप्त कर देता हूं। तीन बार तलाक, तलाक, तलाक बोलकर उसे मारपीट कर घर से बाहर कर दिया। कहा कि अब मैं तुम्हें तलाक दे दिया हूं तो तुम इस घर में नहीं रह सकती। इस दौरान बेटा रईस अहमद आ गया और किसी प्रकार जान बचाकर उसे अपने कमरे में ले गया। वादिनी ने चारों लोगों के खिलाफ रपट दर्ज कराने की मांग की।

महिलाओं पर घरेलू व यौन हिंसा कतई बर्दाश्त नहीं : राष्ट्रीय महिला आयोग व उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग के संयुक्त तत्वावधान में कलेक्ट्रेट सभागार में शुक्रवार को महिलाओं के लिए विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। उद्घाटन जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीकला सिंह, एमएलसी बृजेश सिंह, राज्य महिला आयोग की सदस्य शशि मौर्य ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीकला सिंह ने कहा कि महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा चाहे वह घरेलू हिंसा हो या यौन कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। राज्य महिला आयोग की सदस्य शशि मौर्य ने कहा कि विधिक जागरूकता को व्यापक अभियान चलाए जाने की आवश्यकता है। एमएलसी बृजेश सिंह प्रिंसू ने कहा कि महिला ग्राम प्रधान को सशक्त करना, कानूनों की जानकारी देना, सरकारी कार्यालयों की कार्यप्रणाली से परिचित कराना, यह सरकार का बहुत ही सराहनीय कार्य है। जिला प्रोबेशन अधिकारी संतोष कुमार सोनी ने कहा कि कार्यस्थल पर महिलाओं के उत्पीड़न, निवारण, प्रतितोष पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि अधिनियम में हर विभाग में कमेटी बनी हुई है, साथ ही जहां दस से कम लोग कार्य करते हैं वहां उत्पीड़न के मामलों की सुनवाई करने के लिए जिला स्तर पर एक आंतरिक कमेटी बनी हुई है। बाल संरक्षण अधिकारी चंदन राय ने महिलाओं को विभिन्न हेल्पलाइन नंबर जैसे 181 महिला हेल्पलाइन, 1098 चाइल्ड लाइन, 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन आदि नंबरों की जानकारी देते हुए 112 नंबर की भी जानकारी दी। महिला थानाध्यक्ष किरन मिश्रा ने डायल 112, इमरजेंसी हेल्पलाइन, 1090 वूमेन पावर लाइन, सभी थानों पर बने हुए महिला हेल्प डेस्क के बारे में जानकारी दी गई।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.