Harishchandra PG College : एमकाम की एक सीट पर 15 से अधिक की दावेदारी, बीकाम की परीक्षा 25 को

हरिश्चंद्र पीजी कालेज के स्नातकोत्तर के छह पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा में शुक्रवार को 287 अभ्यर्थी गैरहाजिर रहे। इन पाठ्यक्रमों की 300 सीटों के लिए पंजीकृत 1985 अभ्यर्थी में से 1698 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए। इसमें एमकाम की 60 सीटों के लिए 946 परीक्षार्थी शामिल है।

Saurabh ChakravartyFri, 24 Sep 2021 10:00 PM (IST)
हरिश्चंद्र पीजी कालेज के स्नातकोत्तर के छह पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा में शुक्रवार को 287 अभ्यर्थी गैरहाजिर रहे।

जागरण संवाददाता, वाराणसी। हरिश्चंद्र पीजी कालेज के स्नातकोत्तर के छह पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा में शुक्रवार को 287 अभ्यर्थी गैरहाजिर रहे। इन पाठ्यक्रमों की 300 सीटों के लिए पंजीकृत 1985 अभ्यर्थी में से 1698 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए। इसमें एमकाम की 60 सीटों के लिए 946 परीक्षार्थी शामिल है। एमकाम में एक सीट पर 15 से अधिक परीक्षार्थियों की दावेदारी है।

प्राचार्य डा. अनिल प्रताप सिंह ने बताया कि प्रथम पाली में एमकाम, एमए (हिंदी) व एमएससी (रसायन) तथा द्वितीय पाली में एमए (राजनीतिशास्त्र), एमएससी (प्राणि विज्ञान) तथा एमए/एमएससी (गणित) की प्रवेश परीक्षा में 85.54 फीसद परीक्षार्थी उपस्थित रहे। उन्होंने बताया कि 25 सितंबर को प्रथम पाली में एमएससी (वनस्पति व भौतिकी) एमए (मनोविज्ञान व भूगोल) तथा द्वितीय पाली में बीकाम की प्रवेश परीक्षा होगी। द्वितीय पाली में महाविद्यालय के अलावा हरिश्चंद्र बालिका इंटर कालेज व उदय प्रताप इण्टर कालेज केंद्र पर परीक्षा होगी।

आज होने वाली परीक्षा

प्रथम पाली (सुबह दस से दोपहर 12 बजे तक)

पाठ्यक्रम सीट आवेदक

एमएससी(वनस्पति) 30 100

एमएससी(भौतिकी) 30 116

एमए(मनोविज्ञान) 30 56

एमए(भूगोल) 30 64

द्वितीय पाली : (दोपहर दो बजे से शाम चार बजे तक)

पाठ्यक्रम सीट आवेदक

बीकाम 480 2730

छात्रावास के लिए के छात्रों का प्रदर्शन : छात्रावास खोलने की मांग के लेकर उदय प्रताप महाविद्यालय के छात्रों ने शुक्रवार को प्रदर्शन किया। इस दौरान छात्रों ने कालेज प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। छात्रों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस भी बुला लिया था। वहीं प्राचार्य से वार्ता विफल होने के बाद दोपहर में छात्रों ने बेमियादी धरने का एलान कर दिया। छात्र अपनी मांग को लेकर प्रशासनिक भवन के समक्ष धरने पर बैठे हुए हैं। छात्रों का कहना है कि मरम्मत व कोविड के नाम पर कालेज में पिछले तीन वर्षों से छात्रावास बंद है। वहीं वर्तमान सत्र में भी कक्षाएं शुरू हो गई है। स्नातक व स्नातकोत्तर के प्रथम खंड में दाखिले की काउंसिलिंग भी जल्द होने वाली है। इसके बावजूद छात्रावास का आवंटन की प्रकिया अब तक नहीं शुरू की गई। जबकि इस संबंध कई बार अनुरोध किया जा चुका है। ऐसे में छात्र आंदोलन करने को बाध्य है। छात्रों ने छात्रावास आवंटन के संबंध में लिखित आश्वासन मिलने तक धरना जारी रखने का निर्णय लिया है। दूसरी ओर प्राचार्य डा. एसके सिंह का कहना है कि कोविड -19 की गाइड लाइन के चलते पिछले सत्र में छात्रावास का आवंटन नहीं किया जा सका। वर्तमान सत्र में छात्रावास आवंटन करने की तैयारी चल रही है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.