top menutop menutop menu

नरेंद्र मोदी का नहीं महात्‍मा गांधी और सरदार पटेल का है गुजरात : हार्दिक पटेल

मीरजापुर, जेएनएन। चुनार में भारतीय किसान सेना द्वारा शिवशंकरी धाम में आयोजित किसान महापंचायत में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे अखिल भारतीय किसान क्रांति सेना गुजरात के राष्टीय अध्यक्ष हार्दिक पटेल जमकर केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकारों पर बरसे। किसानों की दशा पर चिंता व्यक्त करते हुए हार्दिक पटेल ने कहा कि यदि सौ किसान एकजुट होकर खेती के क्षेत्र में काम करें तो निश्चित रूप से उनकी दशा में सुधार आएगा। उन्होंने कहा कि सरकारों को जगाने के लिए किसानों को स्वयं जागरूक होना होगा और अपने अधिकारों की लड़ाई लड़नी होगी। सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि जब कारोबारियों का अरबों रूपए का ऋण माफ हो सकता है तो किसान का ऋण माफ करते समय सरकार बगलें क्यों झांकने लगती है। 

उन्होंने कहा कि जब तक हम अच्छे राजनेता नहीं चुनेंगे तक तक किसानों की दशा में सुधार आने वाला नहीं है। एेसे राजनेता चाहिए जो किसानों की दशा को समझे और उसके अनुसार किसान हित की नीतियां बनाएं।

बापू-सरदार का है गुजरात : उन्होंने नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह मोदी के गुजरात से नहीं बल्कि सरदार पटेल और महात्मा गांधी के गुजरात से आते हैं। गुजरात में एक महीने में चालीस किसानों द्वारा की गई आत्महत्या का मामला उठाते हुए कहा कि गुजरात की प्रदेश सरकार सिर्फ किसानों के हितकारी होने का दिखावा करती है। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए हार्दिक पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार और किसानी के बारे में कुछ नहीं समझते। किसान पूरी रात अपने खेतों की रखवाली में बिता देता है और जब प्राकृतिक आपदा से उसका नुकसान होता है तो उसका दर्द सिर्फ किसान समझता है दूसरा कोई नहीं।

शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि : पुलवामा की आतंकी घटना पर सीआरपीएफ के शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए श्री पटेल ने सीआरपीएफ को पूर्ण सैनिक बल का दर्जा दिए जाने की वकालत की। इसके पूर्व भारतीय किसान सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामराज सिंह पटेल ने हार्दिक पटेल का स्वागत करते हुए क्षेत्रीय किसानों की दशा पर चर्चा करते हुए प्रदेश सरकार को घेरा। अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष वंशबहादुर सिंह ने की। इस दौरान विरेंद्र पटेल, उदय पटेल, जयप्रकाश सिंह, रामसागर पटेल, अलख नारायण सिंह, लालमनि पटेल समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। 

सभास्थल पर नहीं पहुंच सके सैकड़ों किसान : वाराणसी-मीरजापुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर लग रहे जाम के कारण जमालपुर, अदलहाट, अहरौरा, राजगढ़, मड़िहान आदि इलाकों से ट्रैक्टरों पर आ रहे किसान सभास्थल पर नहीं पहुंच पाए। दर्जनों ट्रैक्टरों के जाम में फंसने के कारण इस पर सवार किसान अपने नेता का भाषण सुनने से वंचित रह गए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.