मध्य प्रदेश से आनलाइन ठगी में सरगना गिरफ्तार, मऊ में छापेमारी के दौरान दर्जनों मोबाइल बरामद

मध्य प्रदेश के बालाघाट कोतवाली में आनलाइन ठगी के मामले में दक्षिणटोला थाने की पुलिस ने मुख्य सरगना मोहल्ला निवासी हम्माद को गिरफ्तार कर लिया है। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने आधा दर्जन लोंगो के यहां छापेमारी कर कई लोंगो को हिरासत में ले लिया है।

Saurabh ChakravartyTue, 15 Jun 2021 11:46 PM (IST)
छापेमारी कर कई लोंगो को हिरासत में ले लिया है।

मऊ, जेएनएन। मध्य प्रदेश के बालाघाट कोतवाली में आनलाइन ठगी के मामले में दक्षिणटोला थाने की पुलिस ने मुख्य सरगना मोहल्ला निवासी हम्माद को गिरफ्तार कर लिया है। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने आधा दर्जन लोंगो के यहां छापेमारी कर कई लोंगो को हिरासत में ले लिया है। इनके पास से दर्जनों मोबाइल को कब्जे में लेकर जांच पड़ताल कर रही है। इसे लेकर पूरे दिन पुलिस जांच में जुटी रही लेकिन समाचार लिखे जाने तक अभी आरोपियों का नाम खोलने से कतराती रही।

मध्य प्रदेश के बालाघाट कोतवाली क्षेत्र में आनलाइन खरीदारी के दौरान कुछ लोग ठगी के शिकार हुए हैं। ठगी करने वाले में जिले के दक्षिण टोला थाने के अंतर्गत आने वाले कुछ लोगों के नाम प्रकाश में आया। इस पर पुलिस ने दक्षिणटोला मोहल्ला निवासी मुख्य सरगना आनलाइन ब्रोकर हम्माद को सोमवार की रात ही पुलिस ने छापेमारी कर गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने इस मामले में संलिप्त कई लोंगो का नाम भी पुलिस को बताया। इस आधार पर पुलिस ने शहर के कई लोंगो के यहां छापेमारी की है। कुछ लोंगो के पास से मोबाइल भी अपने कब्जे में लेकर जांच पड़ताल कर रही है। कुछ मोबाइल के कागज व एमआई नम्बर का मिलान भी कर रही है। रात 11.15 बजे एसटीएफ भी दक्षिणतोला थाने पर पहुंचकर पूछताछ कर रही है। पुलिस का दावा है कि आनलाइन ठगी का बड़ा मामला प्रकाश में आया है। अभी कई और ठग पुलिस के हत्थे चढ़ सकते है। एसपी सुशील घुले ने कहा कि आनलाइन ठगी का बड़ा मामला पकड़ में आया है। अभी पुलिस जांच कर रही है। डिटेल बताना अभी मुश्किल है। फिलहाल बुधवार को बकायदा प्रेसनोट जारी कर खुलासा किया जाएगा।

गैंगस्टर मामले में आरोपित पप्पू यादव की जमानत अर्जी को वर्चुअल सुनवाई के बाद निरस्त

गैंगस्टर मामलों की विशेष अदालत अपर सत्र न्यायाधीश रामअवतार प्रसाद ने गैंगस्टर मामले में आरोपित पप्पू यादव उर्फ प्रमोद यादव की मंगलवार को हुई जमानत अर्जी को वर्चुअल सुनवाई के बाद निरस्त कर दिया। न्यायाधीश ने यह आदेश आरोपित के अधिवक्ता व राज्य की ओर से विशेष लोक अभियोजक (गैंगस्टर एक्ट) कृष्ण शरण सिंह के तर्कों को सुनने के बाद व केस डायरी व प्रपत्रों के अवलोकन के बाद निरस्त कर दिया। मामला थाना दोहरीघाट का है। 29 मई को प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार सिंह ने क्षेत्र में अपमिश्रित अवैध शराब बनाने व उसका अवैध रूप से जनपद और आसपास के जनपदों में सक्रिय रूप से कारोबार करने में लिप्त गिरोह के विरुद्ध पर्याप्त आधार पाते हुए गिरोह के सरगना व अन्य सदस्यों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई करते हुए मुकदमें को पंजीकृत कराया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.