वाराणसी में चार सेमी की रफ्तार से बढ़ रही गंगा, वरुणा में भी पलट प्रवाह में डूबा कारिडोर

एक बारगी फिर गंगा का जल स्तर तेजी से बढऩे लगा है। केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक गुरुवार की रात आठ बजे तक चार सेंटीमीटर प्रतिघंटा से जल स्तर में बढ़ाव दर्ज किया गया। इससे पहले तीन सेंटीमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से जल स्तर बढ़ रहा था।

Saurabh ChakravartyThu, 16 Sep 2021 09:05 PM (IST)
एक बारगी फिर गंगा का जल स्तर तेजी से बढऩे लगा है।

जागरण संवाददाता, वाराणसी। एक बारगी फिर गंगा का जल स्तर तेजी से बढऩे लगा है। केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक गुरुवार की रात आठ बजे तक चार सेंटीमीटर प्रतिघंटा से जल स्तर में बढ़ाव दर्ज किया गया। इससे पहले तीन सेंटीमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से जल स्तर बढ़ रहा था। रात आठ बजे बनारस में गंगा का जल स्तर 64.55 मीटर था।

गंगा में जल स्तर बढऩे से एक-एक कर घाट डूबने लगे हैं। किनारे के रहनवारों की धुधधुकी बढ़ गई है। चिंता में परिवार है। सुरक्षित ठिकानों की तलाश कर ली गई है। यदि जल स्तर में ऐसे ही बढ़ाव होता रहा तो उन्हें घर छोडऩा पड़ेगा। गंगा में जल स्तर बढऩे से वरुणा में पलट प्रवाह हुआ है। इससे वरुणा कारिडोर डूब गया है। पुलकोहना, सरैयां आदि इलाके में पानी घुसने को बेताब है। नालों के रास्ते इन निचले इलाकों में पानी प्रवेश करता है।

प्रयागराज से बढ़ रहा जल स्तर

गंगा का जल स्तर फाफामऊ से शुरू होगा। प्रयागराज आते-आते तेजी से बढ़ने लग रहा है। यह केन, बेतवा, यमुना में जल स्तर बढ़न से हो रहा है। चूंकि, बारिश उत्तर प्रदेश के साथ ही मध्य प्रदेश व राजस्थान में भी हो रही है। इससे गंगा की यह सहायक नदियां भी ऊफान पर हैं। प्रयागराज में गुरुवार की शाम छह बजे गंगा का जल स्तर तीन सेंटीमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से बढ़ रहा था। जल स्तर 77.41 मीटर था। वहीं, मीरजापुर में इस समायवधि में छह सेंटीमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से जल स्तर बढ़ रहा था। जल स्तर 70.45 मीटर था।

यहां से शुरू होगा बनारस में खतरा

-70.262 मीटर चेतावनी बिंदु

-71.262 खतरे का निशान

-73.901 बाढ़ का उच्चतम बिंदु

नगर आयुक्त ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

भारी बरसात व गंगा के बढ़ते जल स्तर को देखते हुए नगर आयुक्त प्रणय सिंह ने गुरुवार को शहरवासियों के लिए एडवाजरी जारी की है। अपील करते हुए कहा है कि जरूरी न हो तो वह घरों से न निकलें। खुले सीवर के मैनहोल, बिजली के तार, खंभों से बचकर रहें। उन्होंने नगरीय समस्याओं के समाधान के लिए हेल्पलाइन नंबर-18001805567, 0542-221942 व 2720005 तथा विद्युत ब्रेकडाउन होने पर 1912 नंबर को जारी किया है। कहा कि इन नंबरों पर डायल करके समस्याओं का समाधान घर बैठे कराएं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.