वाराणसी के बड़ागांव में पांच बीघा जमीन के लिए हुई थी पूर्व प्रधान की हत्या, इनामी आरोपित हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार

वाराणसी के बड़ागांव पुलिस ने आरोपित हिस्ट्रीशीटर को फत्तेपुर मोड़ के पास से देर शाम गिरफ्तार किया।

पांच बीघा जमीन के लिए कभी दोस्त रहे 25 हजार के इनामी हिस्ट्रीशीटर अनिल यादव उर्फ भूसी यादव ने पूर्व प्रधान विजेंद्र यादव उर्फ पप्पू यादव की आठ राउंड गोली मारकर हत्या की थी। बड़ागांव पुलिस ने आरोपित हिस्ट्रीशीटर को फत्तेपुर मोड़ के पास से देर शाम गिरफ्तार किया।

Saurabh ChakravartyThu, 15 Apr 2021 08:12 PM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। पांच बीघा जमीन के लिए कभी दोस्त रहे 25 हजार के इनामी हिस्ट्रीशीटर अनिल यादव उर्फ भूसी यादव ने पूर्व प्रधान विजेंद्र यादव उर्फ पप्पू यादव की आठ राउंड गोली मारकर हत्या की थी। बड़ागांव पुलिस ने इस हत्याकांड का राजफाश करते हुए आरोपित हिस्ट्रीशीटर को फत्तेपुर मोड़ के पास से बुधवार की देर शाम गिरफ्तार किया। इस वारदात में आरोपित के मौसी का लड़का संतोष यादव भी शामिल थी। वह जौनपुर के केराकत थानांतर्गत खटहरा गांव का निवासी है। पुलिस उसकी तलाश में दबिश दे रही है। वहीं पूर्व प्रधान के परिवारीजन ने पुलिस की कार्रवाई पर आभार जताया।

बता दें कि गत 10 अप्रैल की रात बड़ागांव थाना क्षेत्र के ढोलबजवा पुलिस के पास सैरा गांव के मोड़ पर इंदरपुर निवासी पूर्व प्रधान व स्थानीय थाने के हिस्ट्रीशीटर विजेंद्र सिंह की अंधाधुंध गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पूर्व प्रधान के चचेरे भाई जयप्रकाश यादव ने इंदरपुर गांव के ही आरोपित अनिल उर्फ भूसी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। पूर्व प्रधान ने मरने से पहले आरोपित का नाम लिया था। पूर्व प्रधान ने इस बार खुद प्रधान पद के लिए नामांकन भी किया था।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अमित वर्मा ने गुरुवार को पुलिस लाइन सभागार में आरोपित को मीडिया के समक्ष पेश किया। उन्होंने बताया कि आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया था। आरोपित के कब्जे से वारदात में प्रयुक्त .32 बोर की पिस्टल एक कारतूस एक खोखा सहित मोटर साइकिल बरामद की गई। आरोपित के खिलाफ जौनपुर व वाराणसी के थानों में हत्या, लूट, गैंगस्टर, गुंडा एक्ट जैसे 17 संगीन मामले दर्ज हैं।

चाचा की जमीन के लिए दोस्त बना दुश्मन

 आरोपित व पूर्व प्रधान में पहले दोस्ती थी। दोनों का एक दूसरे के घर आना जाना था। एसपी ग्रामीण के मुताबिक आरोपित ने पूछताछ में बताया कि पूर्व प्रधान ने उसके चाचा मुरारी यादव जो कि मुंबई में रहते हैं, की पांच बीघा जमीन रजिस्ट्री करा ली थी। आरोपित इस जमीन को खुद लेना चाहता था। इस बात को लेकर पूर्व प्रधान से आरोपित रंजिश रखने लगा। इसी रंजिश में उसने खुद पूर्व प्रधान को फोन कर बुलाया था और आठ चक्र गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी। वारदात के वक्त उसके मौसी का लड़का भी साथ था। हत्या के बाद आरोपित उसके साथ फरार हो गया था। इस कार्रवाई में थाना प्रमुख मुरलीधर, उपनिरीक्षक अनिल कुमार, पंकज सिंह, कांस्टेबल सौरभ निगम, विपिन कुमार, ओमप्रकाश शामिल थे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.