top menutop menutop menu

आजमगढ़ के बाढ़ प्रभावित इलाके का वनमंत्री दारा सिंह चौहान ने लिया जायजा, दिया मदद का भरोसा

आजमगढ़, जेएनएन। सरयू नदी का तटबंध टूटने से कई गांवों में मची तबाही का जायजा लेने को वनमंत्री दारा सिंह चौहान पहुंचे। उन्होंने बांध टूटने से हुई तबाही का जायजा लिया। जिलाधिकारी राजेश कुमार ने उन्हें टूटे बांध को बांधने की दिशा में हुई कार्यवाही से अवगत कराया। वनमंत्री छह दिन बाद भी टूटे बांध को दुरुस्त नहीं कराने पर हैरत में दिखे।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद को लेकर गंभीर हैं। गड़बड़ी करने वाले किसी भी तरह से बच नहीं पाएंगे। उचित भी बांध टूटने के छह दिन के अंतराल में जिले के प्रभारी मंत्री के बाद वनमंत्री पहुंच आए। उन्होंने सरकारी की गंभीरता दर्शाने के लिए अभी तक की कार्रवाइयों का जिक्र भी किया।

वन मंत्री दारा सिंह चौहान दोपहर में करीब एक बजे पहुंचे तो सीधे नुकसान का आंकलन करने में जुट गए। भ्रमण के दौरान सामने मिले लोगों से नुकसान के बारे में बातचीत भी की। बाढ़ प्रभावित इलाके में हुए नुकसान के बारे में जानकारी ली। घाघरा नदी के उफानाने से हुए नुकसान के बारे में भी जानकारी ली। जिलाधिकारी ने उन्हें कटान के बाद उपलब्ध कराई गई राहत के बारे में विस्तृत जानकारी दी। सीएम योगी आदित्यनाथ का संदेश ग्रामीणों को दिया कि कोई भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में भूखा नहीं सोएगा। प्रशासन प्रत्येक परिवार तक खाद्यान्न का पैकेट पहुंचायेगा। राशन और मिट्टी का तेल भी दिया जाएगा। फसलों के नुकसान और कटान का उचित मुआवजा शासन देगा। उन्होंने डीएम से प्रभावित क्षेत्र की रिपोर्ट मांगी, ताकि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र घोषित किया जा सके।

उन्होंने पीडि़तों की सराहना की, कहा कि आप सभी में प्रकृति से लडऩे की क्षमता है। उन्होंने सरकार की गंभीरता को भी बताते हुए कहा कि ग्रामीणों की शिकायत की अनदेखी करने पर एक्सईएन को 24 घंटे में हटाया गया। उनकी मौजूदगी के दौरान 50 पैकेट मुख्य आपदा राहत से वितरित किया गया। इसमें निचले स्तर पर भी कार्रवाई की जाएगी। सरकार सहायता दे रही, जो पीडि़तों तक शत-प्रतिशत पहुंचना चाहिए। एसपी त्रिवेणी सिंह, एसपीआरए सिद्धार्थ, एसडीएम सगड़ी अरविंद सिंह, भाजपा नेता मनीष मिश्र, देवेंद्र सिंह, नागेंद्र सिंह पटेल, विजय सिंह पटेल मौजूद रहे।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.