मीरजापुर के ड्रमंडगंज वन रेंज में लगी आग, वन विभाग की टीम ने मशक्कत के बाद आग को बुझाया

ड्रमंडगंज वन रेंज के बंजारी जंगल में बुधवार की देर रात्रि में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई।

सरसों का फूल आने की वजह से मधुम‍क्खियों के छत्‍तों से शहद निकालने का भी काम खूब हो रहा है। जंगल में छत्‍तों से श्रमिक मधुमक्खियों को भगाने के लिए लोग धुएं का प्रयोग करते हैं। ऐसे में इस सीजन में जंगलों में आग लगने की काफी घटनाएं होती हैं।

Abhishek sharmaThu, 25 Feb 2021 09:13 AM (IST)

मीरजापुर, जेएनएन। हलिया थाना क्षेत्र के ड्रमंडगंज वन रेंज के बंजारी जंगल में बुधवार की देर रात्रि में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। देर रात जंगल की ओर से आग और धुआं उठता देखकर ग्रामीणों ने इसकी सूचना तत्काल वनक्षेत्राधिकारी ड्रमंडगंज वीरेंद्र कुमार तिवारी को दिया। रात में ही वनक्षेत्राधिकारी ने वन दारोगा महेश प्रताप सिंह यादव, वनरक्षक पिंटू शाह, राजदीप वर्मा, सर्वेश पटेल, सियाराम पाल, महेंद्र प्रताप सिंह, रामसजीवन सहित वाचरों के साथ जंगल में पंहुचकर काफी मशक्कत के बाद करीब तीन घंटे बाद आग पर काबू पाया।

हालांकि आग पर जबतक काबू पाया जाता तबतक कुछ पौधे आग की चपेट में आकर जल गए। वन विभाग की टीम के अनुसार जंगल में मधुमक्खियों के शहद निकालने अथवा चरवाहों के द्वारा बीड़ी जलाने के लिए माचिस की तीली को जलता हुआ जंगल में फेंक दिए जाने के कारण जंगल में आग लग गई थी। जिस वजह से रात में ही मौके पर पहुंंचकर आग पर काबू पा लिया गया है।

आग लगने के संबंध में वन क्षेत्राधिकारी ने बताया कि बंजारी जंगल में आग लगने की सूचना ग्रामीणों से मिली थी। जिस पर जंगल में पंहुचकर काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया है। संबंधित बीट के वाचर को निर्देश दिया गया है कि जंगल में मधुमक्खियों के शहद निकालने वाले तथा चरवाहों पर विशेष ध्यान रखे। दरअसल इन दिनों खेतों में सरसों का फूल आने की वजह से मधुम‍क्खियों के छत्‍तों से शहद निकालने का भी काम खूब हो रहा है। जंगल में छत्‍तों से श्रमिक मधुमक्खियों को भगाने के लिए लोग धुएं का प्रयोग करते हैं। ऐसे में इस सीजन में जंगलों में आग लगने की काफी घटनाएं होती हैं। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.