वाराणसी के चितईपुर थाने में दर्ज होने लगी एफआइआर, 15 अगस्त तक पूरी तरह से कार्य हो जाएगा शुरू

कमिश्नरेट के नए थाने चितईपुर थाने में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। 15 अगस्त तक थाना पूरी तरह से कार्य करने लगेगा। थाने को सीसीटीएनएस से जोड़ दिया गया है। युवती ने पड़ोसी के खिलाफ दुष्कर्म के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया है।

Saurabh ChakravartyThu, 29 Jul 2021 10:28 AM (IST)
कमिश्नरेट के नए थाने चितईपुर थाने में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

वाराणसी, जागरण संवाददाता। कमिश्नरेट के नए थाने चितईपुर थाने में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। आगामी 15 अगस्त तक थाना पूरी तरह से कार्य करने लगेगा। थाने को सीसीटीएनएस से जोड़ दिया गया है। चितईपुर थानांतर्गत नेवादा क्षेत्र की युवती ने पड़ोसी के खिलाफ दुष्कर्म के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया है। युवती का आरोप है कि 16 जुलाई की रात छत पर सो रही थी। इसी बीच पड़ोस के रहने वाला दिनेश नट उसके पास पहुंचा और छेडख़ानी शुरू कर दिया। पीडि़ता ने विरोध किया तो वह मारपीट करने लगा। इस दौरान शोरगुल सुनकर घर वाले पहुंचे तो आरोपित भाग निकला। दो महीने पहले भी आरोपित ने इस तरह की हरकत की थी। मामले की जानकारी पड़ोस की रहने वाली सामाजिक कार्यकत्री को हुई तो उन्होंने अधिकारियों को ट्वीट कर शिकायत की। बुधवार शाम इस मामले में दुष्कर्म के प्रयास व मारपीट सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। नवनिॢमत चितईपुर थाने पर यह पहला मुकदमा दर्ज हुआ है।

संपत्ति विवाद में बीच सड़क मारपीट, पांच बंदी

सिगरा थानांतर्गत विद्यापीठ मार्ग पर बुधवार को संपत्ति विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई। व्यस्त सड़क पर हुई इस घटना से क्षेत्रीय नागरिक और राहगीर सहम उठे। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों के पांच लोगों को गिरफ्तार कर शांति भंग की आशंका में उनका चालान कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार विद्यापीठ मार्ग निवासी नसीम अली ने पैतृक संपत्ति में अपने हिस्से की जमीन अनवर अली को पांच महीने पहले बेच दी थी। नसीम के बड़े भाई गफ्फार अली के परिवार का आरोप है कि बिना आपसी बटवारे के ही जमीन का सौदा कर दिया गया। इसे लेकर आए दिन विवाद होता रहा। एक महीने पहले भी इसी मामले को लेकर सिगरा थाने में दोनों पक्षों के बीच समझौता हुआ था। फिर भी बात नहीं बनी। बुधवार को दोबारा अनवर अली और उसके भाई खरीदी गई जमीन पर कब्जा लेने पहुंचे थे। जहां गफ्फार अली के पुत्रो ने पुरजोर विरोध कर दिया। गलीगलौज के बाद दोनों पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.