इजराइली तकनीक सेमी मिनी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस से मीरजापुर के किसानों को मिलेंगे रोगमुक्त पौधे, खुशहाल होंगे किसान

इजराइल की उन्नत तकनीक से विंध्य क्षेत्र के किसानों को अब रोगमुक्त पौधे मिलेंगे जिससे किसानों को पौधा तैयार करने की झंझट से मुक्ति मिलेगी। रोग मुक्त पौधों की सहायता से किसानों की उपज बढ़ेगी और सरकार की मंशानुरुप आय भी दोगुनी हो सकेगी।

Saurabh ChakravartyThu, 29 Jul 2021 09:23 PM (IST)
रोग मुक्त पौधों की सहायता से किसानों की उपज बढ़ेगी और सरकार की मंशानुरुप आय भी दोगुनी हो सकेगी।

मीरजापुर, अमित तिवारी। इजराइल की उन्नत तकनीक से विंध्य क्षेत्र के किसानों को अब रोगमुक्त पौधे मिलेंगे, जिससे किसानों को पौधा तैयार करने की झंझट से मुक्ति मिलेगी। रोग मुक्त पौधों की सहायता से किसानों की उपज बढ़ेगी और सरकार की मंशानुरुप आय भी दोगुनी हो सकेगी। किसान खुशहाल हो सकेंगे। विंध्य क्षेत्र के किसानों के लिए पटेहरा कला में बनने वाला सेमी मिनी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस वरदान साबित होगा। श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना रूर्बन मिशन के तहत योजना पर एक करोड़ चार लाख खर्च होंगे। मीरजापुर के पटेहरा कला में स्थापित होने वाला सेमी मिनी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस पूर्वांचल में मऊ के बाद दूसरा होगा।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत रोग मुक्त सब्जी पौध उत्पादन में इजरायल की तकनीक सेमी मिनी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस का निर्माण करवाया जा रहा है। इस कार्य में एक करोड़ चार लाख रुपये खर्च होंगे। परियोजना के तहत प्रति वर्ष लगभग 10 लाख पौधों का उत्पादन करके किसानों को मुहैया कराने का लक्ष्य है। अत्याधुनिक मशीनों की सहायता से किसानों को रोगमुक्त सब्जियों का पौधा मुहैया कराया जा सकेगा। नवीन तकनीकों से सब्जियों के पौधों का उत्पादन होगा, इससे पौधों में समान वृद्धि होगी। स्वस्थ पौधे उत्पादन से मृत्युदर में कमी आएगी। रोपण के समय किसानों को पौधे आसानी से मिल सकेंगे। खेत में फसल की अवधि भी कम होगी। किसान अपने बीज मिनी सेंटर आफ एक्सीलेंस में तैयार कर सकते हैं। अथवा पहले से प्रजातिवार पौधों को तैयार करवा सकते हैं।

बीज नहीं होगा नष्ट

किसानों को अकसर यह समस्या आती है कि मिर्च की पौध तैयार करते समय बारिश के कारण नष्ट हो जाती है। इसके कारण किसानों का बहुत नुकसान होता है क्योंकि बीज बहुत महंगा होता है। सेंटर फॉर एक्सीलेंस में तैयार करने पर इस तरह की समस्या नहीं होगी। आफ सीजन की नर्सरी तैयार कर किसान अच्छा लाभ कमा सकेंगे।

उच्च गुणवत्तायुक्त पौधे रोपाई के लिए मिल सकेंगे

बागवानी में तकनीक विकास में किसानों की भागीदारी को प्रोत्साहित करने में काफी कारगर साबित होगा। बागवानी में उद्यमिता के लिए किसानों, बेरोजगार युवाओं को प्रेरित किया जाएगा। ससमय उच्च गुणवत्तायुक्त पौधे रोपाई के लिए मिल सकेंगे।

- मेवाराम, जिला उद्यान अधिकारी।

सरकार की महत्वाकांक्षी योजना

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन योजना के तहत किसानों के लिए सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। किसानों को रोग मुक्त पौधे मिलने से उपज बढ़ेगी और उनकी आय में भी इजाफा होगा। सेमी मिनी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस में लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी खुलेंगे।

- श्रीलक्ष्मी वीएस, मुख्य विकास अधिकारी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.