वाराणसी के प्रत्येक ग्राम पंचायत में दो ऑक्सीमीटर व ब्लाक स्तर पर खरीदी जाएगी फाॅगिंग मशीन

गांवों में कोविड की जांच, मेडिसीन किट वितरण के साथ ही सुरक्षा के सभी उपाय किए जा रहे हैं।

मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुल्गी ने कहा कि गांवों में कोविड संक्रमण को रोकने को लेकर प्रशासनिक मशीनरी जी जान से जुटी हुई है। गांवों में कोविड की जांच मेडिसीन किट वितरण के साथ ही सुरक्षा के सभी उपाय किए जा रहे हैं।

Saurabh ChakravartyThu, 13 May 2021 07:20 AM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुल्गी ने कहा कि गांवों में कोविड संक्रमण को रोकने को लेकर प्रशासनिक मशीनरी जी जान से जुटी हुई है। गांवों में कोविड की जांच, मेडिसीन किट वितरण के साथ ही सुरक्षा के सभी उपाय किए जा रहे हैं। उन्होंने पंचायत से जुड़े अधिकारियों को निर्देश दिया कि ब्लाक स्तर पर दो फांगिंग मशीन क्रय कर ली जाए। बड़ी पंचायत भी धनराशि है तो क्रय कर सकती हैं। एक फाॅगिंग मशीन की कीमत लगभग 90 हजार बतायी जा रही है। हालांकि क्षेत्र पंचायत निधि के अंतर्गत सभी ब्लाकों में लगभग 30-35 लाख से अधिक की धनराशि पहले से मौजूद होने की बात कही जा रही है। इस तरह जिले के आठों ब्लाकों के क्षेत्र पंचायत निधि में ढाई करोड़ से अधिक की राशि मौजूद है। इसके अलावा प्रत्येक पंचायत में तीन-तीन पल्स आक्सीमीटर व इंफ्रारेट थर्मामीटर क्रय कर आशा तथा एएनएम को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। हालांकि ग्राम निधि से पिछली बार एक पल्स आक्सीमीटर क्रय किए गए थे। जिला पंचायत राज विभाग का कहना है कि सभी पंचातयों में एक पल्स आक्सीमीटर व पंचायतों में तीस फागिंग मशीन व एक -एक स्प्रे मशीन मौजूद है। इसमें से कई चीजों की खरीद पिछली बार ग्राम निधि की धनराशि से की गई थी।

मुख्य विकास अधिकारी ने सर्किट हाउस में विभागीय अफसरों के साथ बैठक की। अधिकारियों ने बताया कि गांव में जांच के दौरान 176 काेविड मरीज मिले। सभी को दवा किट देने के साथ ही होम क्वरांटाइन कराया गया। इसके साथ ही अन्य को भी दवा किट का वितरण किया गया।

गांवों में अब तक 82 हजार बांटे गए मेडीसिन

किट, 167 पंचायतों में हुआ सैनिटाइजेशन

कोविड - 19

जागरण संवाददाता, वाराणसी : कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम को लेकर गांवों में तेजी से जांच, दवा वितरण के साथ ही सैनिटाइजेशन आदि का कार्य हो रहा है। जिले के आठों ब्लाकों के 167 पंचायतों में सैनिटाइजेशन फागिंग, हाइपोक्लोराइड का छिड़काव किया गया। इसमें ब्लाक आराजीलाइन के 31 गांव, बड़ागांव के 23, चिरईगांव ब्लाक के 21, चोलापुर ब्लाक के 12, हरहुआ के 20, काशी विद्यापीठ के 15, पिंडरा के 24, सेवापुरी के 21 गांव शामिल है। पंचायतों में तैनात कर्मियों के अलावा राजस्व विभाग की ओर से भी कुल 9933 के साथ 82 हजार मेडीसिन किट का वितरण किया गया है।

किट वितरण की स्थिति

आराजीलाइन -- 9006

बड़ागांव -- -- -- -- -5463

चिरईगांव -- -- -- 12310

चोलापुर -- -- -- -10537

हरहुआ -- -- -- -- 10340

काशी विद्यापीठ-8518

पिंडरा -- -- -7541

सेवापुरी -- -- 8879

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.